सोशल मीडिया ग्रीवेंस ट्रैकर में फरीदाबाद जिला प्रदेश में चौथे स्थान पर पहुंचा

Font Size

सुधार के लिए सीएमजीजीए प्रोजेक्ट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ राकेश गुप्ता ने की सरहाना

सितंबर में 10 वें स्थान पर था जबकि नवम्बर में चौथे स्थान पर पहुंचा

269 शिकायतें प्राप्त हुई और 249 के निस्तारण की प्रक्रिया शुरू

फरीदाबाद, 26 दिसम्बर। सोशल मीडिया के माध्यम से मिलने वाली शिकायतों के निपटारे में फरीदाबाद जिला मे सुधार हुआ है। सोशल मीडिया ग्रीवेंस ट्रैकर योजना में फरीदाबाद जिला प्रदेश में दसवें स्थान से चौथे स्थान पर आ गया है। इस उपलब्धि के लिए सीएमजीजीए प्रोजेक्ट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ राकेश गुप्ता ने जिला प्रशासन को बधाई दी।

डॉ गुप्ता वीरवार को प्रदेश के सभी जिलों में सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं के क्रियान्वयन की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित इस बैठक में डॉ गुप्ता ने बताया कि राज्य मुख्यालय पर प्राप्त आंकड़ों के अनुसार सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, टि्वटर आदि के माध्यम से जिला फरीदाबाद में 269 शिकायतें प्राप्त हुई थी जिनमें से 264 शिकायतों को एक्नॉलेज किया गया और उनमें से 249 को प्रोसेस भी कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी (सीएमजीजीए) प्रोजेक्ट के अंतर्गत इन शिकायतों की निवारण प्रक्रिया पर नजर रखी जाती है और इसके मूल्यांकन के लिए निर्धारित किए गए पैरामीटर के अनुसार फरीदाबाद जिला का स्कोर 92 रहा है। इस स्कोर के साथ फरीदाबाद जिला प्रदेश में चौथे स्थान पर आ गया है जबकि पिछली बैठक के समय यह जिला 10वें स्थान पर था। डॉ गुप्ता ने आज सितंबर से लेकर नवंबर माह के अंत तक की प्रगति की समीक्षा की है।

प्रदेश की सड़कों को यात्रियों के लिए सुरक्षित बनाने के लिए क्रियान्वित की जा रही योजना की समीक्षा के दौरान डॉ गुप्ता को बताया गया कि फरीदाबाद जिला में सितंबर माह से लेकर नवंबर माह के अंत तक 3 महीनों में 24 जीरो टॉलरेंस दिवस आयोजित किए गए। इन दिवसों में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के लिए जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई गई और उनके चालान किए गए। बताया गया कि इन 3 महीनों में फरीदाबाद जिला में सितंबर माह में कुल 1511, अक्टूबर माह में 1438 तथा नवंबर माह में 6292 चालान किए गए हैं। राज्य स्तर पर उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर डॉ गुप्ता ने सङक सुरक्षा में बेहतर कार्यों के लिए जिला प्रशासन और पुलिस की प्रशंसा की । उन्हें बताया गया कि राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर 19 पर एनएचएआई द्वारा मीडियन पर ग्रिल लगाई गई है और पद यात्रियों की सुरक्षा के लिए फुटओवर ब्रिज पर एस्केलेटर भी लगाएगा है, जो पहले नहीं थे । डॉ गुप्ता ने इसे बेस्ट प्रैक्टिसेज में शामिल करते हुए इस प्रकार के उपाय करने के लिए अन्य जिलों को भी निर्देश दिए हैं ।

ग्रामीण क्षेत्र में स्वच्छता का बेहतर कार्य होने पर जिला फरीदाबाद की प्रशंसा करते हुए डॉक्टर गुप्ता ने जनवरी 2020 में होने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण के लिए शहरी स्थानीय निकाय संस्थाओं और नगर निगमों को अभी से तैयारी करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने बताया कि शहरी क्षेत्र में होने वाले स्वच्छ सर्वेक्षण में मुख्य रूप से चार विषयों पर ध्यान देने की जरूरत है। इनमें सर्विस लेवल प्रोग्रेस, ओडीएफ सर्टिफिकेशन, सिटीजन फीडबैक तथा डायरेक्ट ऑब्जरवेशन के लिए प्रत्येक के लिए 1500 अंक निर्धारित है। उन्होंने कहा कि सभी शहरी स्थानीय निकाय संस्थाएं गार्बेज फ्री सिटी रैंकिंग, सर्विस लेवल और ओडीएफ सर्टिफिकेशन पर फोकस करें। बैठक में बताया गया कि 2019 के स्वच्छ सर्वेक्षण में फरीदाबाद नगर निगम को 227 वां रैंक प्राप्त हुआ था।

महिला सुरक्षा की बात करते हुए डॉक्टर गुप्ता ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अंतर्गत खोले गए वन स्टॉप सेंटर के संचालन की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि उपायुक्त यह सुनिश्चित करें कि प्रत्येक वन स्टॉप सेंटर में एक आईटी ऑपरेटर, दो मल्टीपरपज वर्कर तथा तीन सिक्योरिटी गार्ड हो जो डीसी रेट पर हायर किए जाएं। अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि फरीदाबाद जिला में खोले गए वन स्टॉप सेंटर में एक आईटी ऑपरेटर तथा एक सिक्योरिटी गार्ड है। डॉ गुप्ता ने कहा कि महिलाओं को वन स्टॉप सेंटर के बारे में पता होना चाहिए ताकि पीड़ित महिलाओं को इसका लाभ मिल सकें।

डॉ गुप्ता ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जिलों में पीसी-पीएनडीटी व एमटीपी एक्ट, पॉक्सो एक्ट, सीएम विंडो, हरियाणा विजन जीरो, महिला सुरक्षा, स्वच्छ सर्वेक्षण, प्रॉपर्टी टैक्स, अंत्योदय सरल व उच्चतर शिक्षा,सक्षम योजना आदि की समीक्षा की।
अतिरिक्ते उपायुक्त धर्मेन्द्र सिंह ने डॉ. गुप्ता को जानकारी देते बताया कि उपमंडल स्तर पर सम्बंधित एसडीएम के माध्यम से रेगुलर रिव्यु किया जा रहा है ।

डॉ. राकेश गुप्ता ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल स्कूलों से सक्षम कार्यक्रम के तहत आए सुधार की तर्ज पर राजकीय महाविद्यालयों में भी क्वालिटी एजुकेशन के लिए गम्भीर है। ऐसे में सभी महाविद्यालय एक्शन प्लान बनाकर काम करें। सक्षम हरियाणा के लिए हरियाणा को नीति आयोग से सराहना मिली है। अतिरिक्त उपायुक्त ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के उपरांत अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अंत्योदय सरल केंद्र के माध्यम से दी जाने वाली सेवाओं की नियमित निगरानी रखें। उन्होंने कहा कि सभी विभाग सरल डैश बोर्ड के स्कोर में निरन्तर सुधार की ओर काम करें।

विडियो कान्फ्रेंस में एसीपी डॉ अर्पित जैन, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चंद, एसडीएम बङखल पंकज सेतिया,जिला शिक्षा अधिकारी सतिन्दर कौर वर्मा, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी शशि अहलावत, मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी अतुल सहगल सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: