हरियाणा में बारहवीं व दसवीं की परीक्षा के लिए 1738 परीक्षा केंद्र , 182 केंद्र संवेदनशील घोषित

Font Size

-हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की परीक्षा 7 मार्च से
-बारहवीं की परीक्षा 7 से तो दसवीं की परीक्षा 8 मार्च से होगी शुरू
-तीन अप्रैल तक चलेंगी परीक्षाएं
-प्रदेश भर के 7 लाख 65 हजार 5 सौ 49 परीक्षार्थी देंगे परीक्षा, दोपहर साढ़े बारह बजे शुरु होगी परीक्षा
-प्रदेश भर में बनाए गए 1738 परीक्षा केन्द्र
हर परीक्षा केन्द्र पर पर्यवेक्षकों की नियुक्ति
लगातार तीन घंटे परीक्षा केन्द्र पर ही ड्यूटी देंगे पर्यवेक्षक-प्रदेश भर में कुल 324 उडऩदस्ते रखेंगे निगरानी-कुल 182 परीक्षा केन्द्र संवेदनशील व अति संवेदनशील घोषित-इन परीक्षा केन्द्रो पर रहेगी पैनी नजर-पचास से अधिक परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगा परीक्षा का आयोजन
-ऑनलाइन लगाई गई परीक्षा अमले की ड्यूटियां
-परीक्षा केन्द्रों के बाहर धारा 144 लागूदोपहर साढ़े बारह बजे से साढ़े तीन बजे तक एक साथ होगा दोनों ही कक्षाओं की परीक्षाओं का संचालन

भिवानी। प्रदेश भर में सात मार्च से शुरू होने जा रही हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सालाना परीक्षाओं की तमाम तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। परीक्षाओं के नकल रहित संचालन के लिए इस बार एक बार फिर से बोर्ड ने पुख्ता प्रबंधों का दावा किया है। बोर्ड अध्यक्ष डॉ.जगबीर सिंह ने कहा कि हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की वार्षिक परीक्षाएं सात मार्च से शुरू हो रही हैं। सात मार्च को बारहवीं व आठ मार्च ये दसवीं की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। दोनों ही कक्षाओं की परीक्षाएं एक ही साथ एक ही सत्र में दोपहर साढ़े बारह बजे से साढ़े तीन बजे तक आयोजित की जाएंगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश भर मे ंकुल 765549 परीक्षार्थी कुल 1738 परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा देंगे। खास बात ये है कि पचास केन्द्रों पर परीक्षा सीसीटीवी कैमरों की निगरानी मे ंआयोजित की जाएगी। वहीं सूबे में 182 परीक्षा केन्द्र संवेदनशील व अति संवेदनशील घोषित किए गए हैं। इन केन्द्रों में अतिरिक्त व्यवस्थाएं की गई हैं। बोर्ड मुख्यालय पर कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है जहां से पूरे प्रदेश की मानीटरिंग की जाएगी। बोर्ड अध्यक्ष डॉ.जगबीर सिंह ने बताया कि परीक्षाओं के लिए तैयारियाँ पूरी की गई हैं। ड्यूटियां भी ऑनलाइन तरीके से लगाई गई हैं।

वहीं उन्होंने विद्यार्थियों से अपील की कि वे परीक्षाओं की गरिमा को बनाए रखें व तनाव को छोडक़र अच्छे तरीके से परीक्षा दें। बोर्ड अध्यक्ष डॉ.जगबीर सिंह ने कहा कि परीक्षाओं के सुचारू संचालन के लिए शिक्षा विभाग के महानिदेशक डॉ.राकेश गुप्ता ने बोर्ड अधिकारियों व सभी जिलाधीशों को विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए निर्देश जारी किए हैं। परीक्षाओ को लेकर बोर्ड पूरी तरह मुस्तैद है।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ.जगबीर सिंह ने कहा कि दसवीं एवं बारहवीं कक्षा की परीक्षा में इस बार 10 हजार 139 पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए हैं, जबकि 902 केंद्र उपाधीक्षक तैनात किए गए हैं। बारहवीं कक्षा की परीक्षा 7 से और दसवीं कक्षा की 8 मार्च से शुरू होंगी। परीक्षा का समय दोपहर साढ़े 12 बजे से साढ़े तीन बजे तक का निर्धारित किया गया है। परीक्षाएं केवल एक ही सत्र में होंगी। बोर्ड अध्यक्ष डॉ.जगबीर सिंह ने कहा कि इस बार बोर्ड प्रशासन ने नया फैसला किया है कि आबजर्वर को परीक्षा अवधि के दौरान पूरे तीन घंटे संबंधित परीक्षा केंद्र में ही डयूटी देनी होगी।

अब से पहले आबजर्वर केवल प्रश्न पत्र वितरित करने का कार्य करते थे। बोर्ड चेयरमैन डा. जगबीर सिंह ने कहा कि इस बार बोर्ड प्रशासन ने प्रदेश के 50 संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाए हैं, जबकि नए परीक्षा केंद्र केवल उन्हीं स्कूल भवनों को बनाया गया है, जहां पर सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था हो गई। इसके साथ ही सभी परीक्षा डयूटी कंप्यूटराइ’ड लगाई हैं। किसी भी जिला शिक्षा अधिकारी को डयूटी बदलने का अधिकार नहीं दिया गया है। केवल बोर्ड प्रशासन को जानकारी में देकर ही डयूटी काटी जा सकती हैं।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ.जगबीर सिंह ने कहा कि इस बार पहली बार पहचान पत्र के साथ रंगीन एडमिट कार्ड भी परीक्षाओं को साथ लेकर आना होगा। यह व्यवस्था पूर्व में केवल एचटेट में ही होती थी। उन्होंने कहा किदसवीं एवं बारहवीं कक्षा की परीक्षा में नकल को रोकने के लिए बोर्ड प्रशासन ने 324 फ्लाइंग बनाई हैं। इनमें बोर्ड प्रशासन के अलावा प्रदेश के सभी डीसी, एसपी, एसडीएम, डीईओ, डीइइओ के उड़नदस्ते भी शामिल हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *