पिता की जीन्स पहन कर स्कूल में रौब झाड़ते थे सनी देओल

Font Size

नई दिल्ली। बॉलीवुड के एक्‍शन किंग सनी देओल का आज 62वां जन्मदिन है। साल 1983 में फिल्म ‘बेताब’ से अपना फिल्मी सफर शुरू करने वाले सनी देओल बॉलीवुड के सुपरस्टार में से एक हैं। 90 के दशक में उनकी फिल्मों ने सिनेमाघरों में धमाल मचा के रखा था। फिल्म ‘घायल’ के लिए सनी को बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड मिला था। साल 2001 में आई फिल्म ‘गदर-एक प्रेम कथा’ उनके करियर की सबसे बड़ी हिट फिल्म साबित हुई थी।

सनी देओल से जुड़ी कुछ दिलचस्‍प बातें :

19 अक्टूबर 1956 को धर्मेन्‍द्र और प्रकाश कौर के घर जन्मे सनी देओल का वास्तविक नाम अजय सिंह देओल है। घर में उन्हें सनी कह कर पुकारा जाता है और फिल्मों में इसी नाम से आने की उन्होंने ठानी।

फिल्मों में लांच करने के पहले धर्मेन्द्र ने सनी को बर्मिंघम में अभिनय सीखने के लिए भेजा था। पढ़ाई के दौरान सनी अपने पिता धर्मेन्द्र की जींस पहन कर जाते थे और दोस्तों पर रौब जमाते थे कि यह जींस मेरे पापा ने ‘शोले’ में पहनी थी।

सनी शराब और सिगरेट से दूर रहते हैं। वे फिल्मी पार्टियों से भी दूर रहते हैं। उनका मानना है कि इन पार्टियों में सारे लोग बनावटी रहते हैं और झूठ बोलते हैं।

सनी देओल सिल्वेस्टर स्टेलॉन को बेहद पसंद करते हैं और रैम्बो सीरिज की फिल्में उन्हें बहुत पसंद है। सिल्वेस्टर स्टेलॉन से प्रेरणा लेकर ही उन्होंने अपनी बॉडी बनाई। उनका मजबूत शरीर देख उन्हें ज्यादातर एक्शन रोल निभाने को मिले और उन्हें भारत का अर्नाल्ड कहा गया।

फिल्‍म ‘डर’ में काम करना सनी के लिए खराब अनुभव रहा था। सनी को लगा कि सेट पर उनकी उपेक्षा की जा रही है। एक बार गुस्से में उन्‍होंने जींस की जेब में हाथ डालकर अपनी पैंट को नीचे तक फाड़ दी।

डांस और सनी के बीच 36 का आंकड़ा रहा है। सनी कहते हैं कि जिस दिन उन्हें शूटिंग पर डांस करना होता है उनके हाथ-पैर फूल जाते हैं। उनका बस चले तो वे किसी भी फिल्म में डांस नहीं करें। परदे पर हिंसा का तांडव मचाने वाले सनी निजी जिंदगी में शांति प्रिय हैं।

2003 के बाद सनी के करियर में ढलान आ गया। अपने, यमला पगला दीवाना और घायल वंस अगेन से उन्होंने बीच-बीच में चमक दिखाई, लेकिन वे लगातार पिछड़ते गए। अब वो जल्‍द ही अपने बेटों करण और राजवीर को बॉलीवुड में लांच करने वाले हैं।

सनी देओल को दो बार राष्ट्रीय पुरस्कार (घायल-स्पेशल ज्युरी अवॉर्ड/1991 और दामिनी- बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर/1994) मिले। घायल और दामिनी के लिए उन्हें बेस्ट एक्टर और बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर के फिल्मफेअर अवॉर्ड भी मिले।

फिल्मों के अलावा सनी एक सफल बिजनेसमैन भी हैं। ‘सनी साउंड स्टूडियो’ कंपनी में एविएट समूह के साथ उनकी पाटर्नरशिप है। इस कंपनी का भारत में डॉल्बी डिजिटल साउंड लाने में बड़ा योगदान माना जाता है। साथ ही, सनी अपने भाई बॉबी और पिता धर्मेंद्र के साथ रेस्टोरेंट चेन भी चलाते हैं।

कभी अमृता सिंह, रवीना टंडन और डिंपल कपाड़िया के साथ रोमांस के चर्चों में रहने वाले सनी ने अपने परिवार और पर्सनल लाइफ को हमेशा मीडिया से अलग रखने की कोशिश की। उनकी पत्नी पूजा देओल दूसरी सेलिब्रिटीज की तरह कभी भी मीडिया के सामने नहीं आईं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *