भ्रष्टाचार में लिप्त पाए गए तीन अराजपत्रित अधिकारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने की सिफारिश

Font Size
चंडीगढ़ । हरियाणा राज्य चौकसी ब्यूरो ने जून, 2018 के दौरान एक जांच मुख्यमंत्री के आदेशानुसार, 9 जांचें सरकार व चौकसी विभाग के आदेशानुसार तथा दो जांचें चौकसी ब्यूरो के आदेशानुसार दर्ज की हैं तथा आठ जांचें पूर्ण कर ली हैं। इस अवधि के दौरान पूर्ण की गई आठ जांचों में से दो जांचों में आरोप सारपूर्ण रहे, जिनमें से तीन अराजपत्रित अधिकारियों के विरूद्ध विभागीय कार्यवाही करने का सुझाव दिया गया है।
इस बारे में जानकारी देते हुए ब्यूरो के प्रवक्ता ने बताया कि जिन अधिकारियों व कर्मचारियों को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़़ा गया है, उनमें आबकारी एवं कराधान विभाग के आबकारी निरीक्षक अशोक को 20,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है। इसी प्रकार, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के सिरसा मार्केट कमेटी के मण्डी पर्यवेक्षक सुभाष चन्द्र और सुरक्षा कर्मी प्रवीन कुमार को 10,000 रुपये, सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग के रेवाड़ी कार्यालय के सहायक जगदीश को 10,000 रुपये, फरीदाबाद, सैक्टर 3 पुलिस चौकी के सहायक उपनिरीक्षक नरसिंह को 5,000 रुपये, कैथल पुलिस लाइन के उपनिरीक्षक कृष्ण दत्त को 14,000 रुपये, फरीदाबाद एनआईटी के सहायक उपनिरीक्षक बली मोहम्मद को 3,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा है।
इसी प्रकार, राजस्व विभाग हिसार के हल्का स्याड़वा पटवारी दारा सिंह को 5,000 रुपये, रेवाड़ी के तहसील दहीना के फोटोस्टेट दुकानदार मनोजकुमार, पटवारी मनजीत सिंह और सहायक उक्त पटवारी दिनेश कुमार को 10,000 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *