ई-संजीवनी पोर्टल पर राष्ट्रीय रक्षा ओपीडी शुरू

Font Size

नई दिल्ली। विशेषज्ञ चिकित्सकों की अपर्याप्त उपलब्धता को कम करने के लिए भूतपूर्व / वयोवृद्ध रक्षा चिकित्सक ई-संजीवनी मंच पर निःशुल्क ऑनलाइन परामर्श सेवाएं प्रदान करने के लिए आगे आए हैं। इससे देश के नागरिकों के लिये अनुभवी और पेशेवर रक्षा चिकित्सकों का अमूल्य अनुभव उपलब्ध होगा।

ई-संजीवनी ओपीडी भारत सरकार का प्रमुख टेलीमेडिसिन प्लेटफॉर्म है जो भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के तत्वावधान में सी-डैक, मोहाली द्वारा विकसित किया गया है। यह भारत के सभी नागरिकों के लिए निःशुल्क ऑनलाइन चिकित्सा परामर्श की सुविधा प्रदान करता है एवं साथ ही दवाओं के ऑनलाइन प्रिस्क्रिप्शन की व्यवस्था भी करता है।

रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार और सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा के महानिदेशक एवं सर्जन वाइस एडमिरल रजत दत्ता द्वारा चरणबद्ध तरीके से  07 मई  को ‘एक्स-डिफेंस ओपीडी’ का शुभारंभ किया गया। शुरू में यह सेवा उत्तर प्रदेश के लिए उपलब्ध थी। अधिक संख्या में भूतपूर्व रक्षा स्वयंसेवक डॉक्टर जुड़ने के बाद इसे 10 मई को राजस्थान और 11 मई को उत्तराखंड तक विस्तारित किया गया। अब तक 85 वयोवृद्ध रक्षा चिकित्सक पोर्टल पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं और उन्होंने 1000 से अधिक मरीजों को ऑनलाइन परामर्श प्रदान किया है।

3 राज्यों में इस सेवा के सफल संचालन के बाद पूर्व-रक्षा ओपीडी जिसका नाम अब रक्षा राष्ट्रीय ओपीडी में बदल दिया गया है को 14 मई 2021 को अखिल भारत में शुरू किया गया है और यह www.esanjeevaniopd.in पर उपलब्ध है।

भारत सरकार के इस मंच पर अनुभवी रक्षा चिकित्सा पेशेवरों की उपलब्धता ने घर पर ही ओपीडी सेवा लेने को अतिरिक्त प्रोत्साहन प्रदान किया है। उनके विशाल अनुभव और विशेषज्ञता का देश भर के रोगियों द्वारा अधिकतम उपयोग किया जा रहा है। यह पहल रोगियों के घरों के सुरक्षित वातावरण में आवश्यक चिकित्सा सलाह और परामर्श उपलब्ध कराने, अस्पतालों में अनावश्यक यात्राओं से बचने और कोविड से संक्रमित होने और सीमित स्वास्थ्य संसाधनों पर अधिक बोझ बढ़ने का खतरा कम करने की दिशा में लंबा रास्ता तय करेगी।

सभी नागरिक  esanjeevaniopd.in पर लॉग इन करके इस अनूठी सुविधा का उपयोग कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page