कॉल सेंटर के संचालक से रिश्वत लेने के मामले में आरोपी थाना प्रभारी ने अदालत में किया आत्म समर्पण

9 / 100
Font Size

राज्य सतर्कता ब्यूरो को सौंपा पूछताछ के लिए
हवलदार अमित कुमार को 5 लाख रुपए रिश्वत के साथ किया जा चुका है पहले ही गिरफ्तार
गुडग़ांव, 11 जनवरी :
रिश्वत मामले में वांछित तत्कालीन खेडक़ीदौला पुलिस थाना प्रभारी विशाल ने सोमवार को बढ़ते दबाव को देखते हुए जिला अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्मसमर्पण करने के बाद राज्य सतर्कता ब्यूरो फरीदाबाद को निरीक्षक को पूछताछ के लिए सौंप दिया गया बताया जाता है। सतर्कता ब्यूरो पूछताछ के लिए अदालत से पुलिस निरीक्षक का रिमांड भी लेगी, ताकि मामले का खुलासा हो सके। इस मामले में 5 लाख रुपए रिश्वत लेते हुए राज्य सतर्कता ब्यूरो हवलदार अमित कुमार को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी
है।

पूछताछ में अमित ने बताया था कि यह रिश्वत उसने तत्कालीन खेडक़ीदौला थाना प्रभारी निरीक्षक विशाल के कहने पर ली थी। गौरतलब है कि उत्तम नगर दिल्ली के नवीन भुटानी ने राज्य सतर्कता ब्यूरो को शिकायत दी थी कि वह कॉल सेंटर चलाते हैं। उनका अपने साझेदार से रुपयों को लेकर विवाद चल रहा था। इस विवाद में साझेदार ने उन्हें गुडग़ांव स्थित सैक्टर 29 बुलवाया था।


पुलिसकर्मियों की मदद से भुटानी को खेडक़ीदौला पुलिस थाना ले जाया गया था। जहां उसे 2 दिन तक अवैध रुप से हिरासत में रखने के बाद उससे एक करोड़ रुपए की मांग की गई थी। एक करोड़ रुपए न देने पर उसे झूठे मामले में फंसाने की धमकी भी दी गई थी। बताया जाता है कि अंत में 57 लाख रुपए में सौदा तय हो गया था, जिसमें से 5 लाख रुपए लेते हुए हवलदार अमित को राज्य सतर्कता ब्यूरो गिरफ्तार कर चुकी है। बताया जाता है कि इस मामले की प्रदेश सरकार को भी पूरी जानकारी दी जा चुकी है।

गुडग़ांव प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने इस मामले की पूरी जांच कराने व दोषियों को सजा देने का आश्वासन भी दिया था। माना जा रहा है कि इस मामले में कई बड़े अधिकारी भी शामिल हुए पाए जा सकते हैं और इस सबका पता आत्मसमर्पण करने वाले तत्कालीन थाना प्रभारी से पूछताछ के बाद चल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: