गुरुग्राम् में भी 16 जनवरी को शुरू होगा कोरोना वैक्सीन लगाने का अभियान,।पीएम करेंगे आरंभ

Font Size

गुरुग्राम 11 जनवरी। गुरुग्राम् जिला में 16 जनवरी को कोरोना वैक्सीन लगाने का कार्य किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 जनवरी को वीडियों काॅन्फे्रंसिंग के माध्यम से कोरोना वैक्सीन लगाने के अभियान की शुरूआत करेंगें। गुरूग्राम में यह कार्यक्रम वजीराबाद के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में बनाए गए केंद्र में आयोजित किया जाएगा। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रूबरू होंगे।


वैक्सीनेशन कार्य को लेकर आज सिविल सर्जन डा. विरेंद्र यादव ने स्थानीय लोक निर्माण विश्रामगृह में निजी अस्पतालों तथा यूपीएचसी व सीएचसी केंद्र के प्रतिनिधियों के साथ बैठक की। उन्होंने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार पहले स्वास्थ्यकर्मियों को 16 जनवरी को 6 केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जाएगी। जिन केंद्रों पर यह क्यों लगाई जाएगी उनमें वजीराबाद राजकीय प्राथमिक विद्यालय, राजकीय प्राथमिक विद्यालय दौलताबाद , मेदांता द मेडिसिटी सेक्टर 39, अर्बन पीएचसी चोमा , एस जी टी मेडिकल कॉलेज गुरुग्राम तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भांग रोला शामिल है।

डा. यादव ने बैठक में उपस्थित सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को वैक्सीन लगाने संबंधी आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि इस बारे में किसी को कोई संशय हो तो वह समय रहते दूर कर लें क्योंकि वैक्सीनेशन कार्य में लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन के लिए अनुभवी मैनपाॅवर लगाई जा रही है ताकि यह कार्य सुचारू रूप से चले। इसके लिए सभी साईटों पर आईईसी सामग्री पहुंचाने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा, सभी केंद्रों पर साइनेज आदि भी ठीक से लगाए जाने आवश्यक हैं ताकि लोगों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन कार्य में लगे प्रत्येक व्यक्ति को अलग-अलग परिस्थितियों में लागू होने वाले डूज एंड डोंट्स अवश्य पता होने चाहिए।


डा. यादव ने कहा कि वैक्सीनेशन कार्य में डाटा एंट्री आॅपे्रटर की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है। इन्हें कोविन मोबाइल एैप पर डाटा अपडेशन को लेकर प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। आज भी लघुसचिवालय में डाटा एंट्री आॅप्रेटरों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया था। उन्होंने कहा कि अधिकारी संबंधित केंद्र में व्यवस्था को लेकर माइक्रो प्लान भी अपने स्तर पर बना ले और स्थिति के अनुरूप इसे लागू करें ताकि वैक्सीनेशन कार्य बाधित ना हो। उन्होंने स्पष्ट किया कि वैक्सीन 14 साल से कम आयु के बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को नहीं लगाई जाएगी। वैक्सीन 2 डोज में लगेगी। पहली डोज के बाद व्यक्ति को दूसरी डोज लगभग 28 दिन के अंतराल में लगाई जाएगी। वैक्सीन की डोज पूरी लगने के बाद व्यक्ति को प्रमाण पत्र दिया जाएगा कि उसने कोरोना वैक्सीन की दोनो डोज लगवा ली है।


सिविल सर्जन ने कोरोना वैक्सीन के स्टोरेज से लेकर इसे लगाने की प्रक्रिया विस्तार से समझाई। उन्हांेने कहा कि वैक्सीनेशन का कार्य हम सभी को एकजुटता के साथ पूरा करना है, इसलिए जरूरी है कि सभी इस कार्य को गंभीरता से लें और सभी तैयारियां समय रहते पूरा कर लें। उन्होंने बैठक में केंद्रों पर वैक्सीनेशन कार्य को लेकर की जाने वाली व्यवस्था संबंधी बारिकियों के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी।

इस मौके पर मैडिकल अधिकारी तथा निजी अस्पतालों से आए प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: