चुनावी ड्यूटी पर तैनात कर्मी भी अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे

Font Size

पोल स्टाफ डयूटी सुविधा सॉफ्टवेयर लांच

सॉफ्टवेयर htts://polldutystaffsuvidha.com पर उपलब्ध

चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने बताया कि लोकसभा-2019 के आम चुनाव के दौरान हरियाणा में 12 मई को होने वाले मतदान के दिन चुनावी ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी भी अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। इसके लिए पोल स्टाफ डयूटी सुविधा सॉफ्टवेयर बनाया गया है। यह सुविधा भारत में पहली बार प्रदान की गई है।

उन्होंने आज यहां इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इससे पहले पोल डयूटी पर तैनात सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारियों को अपना क्रमांक नम्बर जानने में बडी असुविधा होती थी। क्योंकि हर साल क्रमांक नम्बर बदल जाता है और कई कर्मचारियों को ऐपिक नम्बर भी याद नहीं होते या उनके ऐपिक गुम भी हो जाते है। परन्तु इस सॉफ्टवेयर के माध्यम से आसानी से ऐपिक नम्बर मार्क होगा और सॉफ्टवेयर स्वत: ही ईडीसी व पोस्टल बैलेट निकाल देगा, जिसके लिए उन्हें अपना डयूटी सर्टिफिकेट हस्ताक्षर हेतू अपलोड करना होगा। इसके बाद वह स्वत: ही जिला निर्वाचन अधिकारी के पास पहुंच जाएगा जो उनकी चुनावी डयूटी देखने के बाद संबधित रिटर्निंग अधिकारी को भेज देगा। उन्होंने बताया कि आरओ अंतिम ट्रैनिंग वाले दिन कर्मचारियों को अवश्य ही ईडीसी व पोस्टल बैलेट जारी करना सुनिश्चित करें।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि फेसिलिटेशन सैंटर पर राजनैतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों व उम्मीदवारों के साथ डिक्लेरेशन साईन के लिए राजपत्रित अधिकारी भी मौजूद रहेंगें। वही पर बैलेट बाक्स भी रखेंगे। अगर कर्मचारियों का वोट किसी अन्य जिले में है तो भी ट्रैनिंग सैंटर पर पोस्टल बैलेट जमा करवाए जा सकेंगें। उन्होंने बताया कि कर्मचारी प्रशिक्षण की अंतिम तिथि को कलेक्शन या डिस्ट्रीब्यूशन सैंटर पर अपने पोस्टल बैलेट को जमा करवा सकता है। फिर भी कोई कर्मचारी अपना पोस्टल बैलेट डालने से चूक जाता है तो वह स्पीड पोस्ट के माध्यम से अपने पोस्टल बैलेट भेंजें और उनके पोस्टल बैलेट 23 मई को सुबह 7.45 बजे से पहले संबधित रिटर्निंग ऑफिसर के पास अवश्य पहुंच जाने चाहिए।

उन्होंने अपील की है कि सभी पोल डयूटी पर तैनात सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारी अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए इस सॉफ्टवेयर का लाभ उठाएं। सॉफ्टवेयर htts://polldutystaffsuvidha.com पर उपलब्ध है। उन्होंने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे हर व्यक्ति की लिखित में डयूटी लगाएं ताकि वह इडीसी व पोस्टल बैलेट के लिए सॉफ्टवेयर के माध्यम से आवेदन कर सके। आवेदन करने वालों को आरओ व डीईओ जल्द से जल्द फार्म भी प्रस्तुत करें।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *