भगोड़ों को रोकने के लिए पीएम मोदी ने जी-20 की बैठक में पेश की प्लानिंग

Font Size

नई दिल्ली। विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी भारत का अरबों रुपए डकारकर विदेशों में जाकर बस गए हैं। भारत ने भगोड़े आर्थिक अपराधियों से निपटने के लिये शुक्रवार को जी20 देशों के समक्ष नौ-सूत्रीय एजेंडा पेश किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय व्यापार, अंतरराष्ट्रीय वित्त और कर प्रणाली पर जी20 शिखर सम्मेलन के दूसरे सत्र में यह एजेंडा पेश किया।

एजेंडे में कहा गया कि आर्थिक अपराधों को रोकने के लिए कानूनी प्रक्रिया में सहयोग, अपराधियों की जल्द वापसी और प्रत्यर्पण की प्रक्रिया को विकसित करने तथा इसे सुव्यवस्थित किए जाने की जरूरत है। भारत ने जी20 देशों से ऐसी प्रणाली विकसित करने में भी सहयोग मांगा, जिससे भगोड़े आर्थिक अपराधियों को किसी अन्य देश में सुरक्षित पनाह ना मिल पाए।

भारत, चीन और रूस के नेताओं ने संयुक्त राष्ट्र और विश्व व्यापार संगठन सहित अन्य बहुपक्षीय संस्थानों में सुधार की मांग की है। तीनों देशों के नेताओं के बीच 12 साल के अंतराल के बाद शनिवार को यहां हुई त्रिपक्षीय बैठक में बहुपक्षीय व्यापार प्रणाली, वैश्विक तरक्की और समृद्धि के लिए मुक्त वैश्विक अर्थव्यवस्था की तारीफ की गई।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *