हरियाणा में कबूतरबाजी मामले में 377 अपराधी गिरफ्तार

Font Size

चंडीगढ़, 27 नवंबर- गैरकानूनी तरीके से विदेश भेजने  और कबूतरबाजी को रोकने के लिए हरियाणा सरकार द्वारा गठित की गई विशेष अनुसंधान टीम ने अब तक 435 अभियोगों में 377 अपराधियों को गिरफ्तार किया है और उनके कब्जे से  1 करोड़ 12 लाख 88 हजार 600 रूपये की बरामदगी की गई है।


इस संबंध में जानकारी देते हुए एसआईटी प्रमुख भारती अरोड़ा ने बताया कि गृहमंत्री अनिल विज की अनुशंसा पर टीम का गठन किया गया था। इस टीम ने अवैध एजेंटों के विरुद्ध हरियाणा के अलग-2 जिलों में इमीग्रेशन एक्ट के तहत कबूतरबाजी के अभियोग अंकित किए हैं। इनमें काफी अपराधी ऐसे भी हैं जिनके विरूद्ध 2 से अधिक अभियोग अंकित हैं। ऐसे 15 अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोली जा चुकी है।


 श्रीमती अरोड़ा ने बताया कि इन अपराधियों में पेहवा के बिट्टु के विरूद्ध कबूतरबाजी के 4 अभियोग अंकित है तथा हाल ही मोहाली में रह रहे पूंडरी निवासी सतपाल के विरुद्ध ऐसे 9 अभियोग अंकित किये गए हैं। इनके अलावा कैथल के महाबीर के विरुद्ध कबूतरबाजी के 2 अभियोग, कैथल के राजकुमार के विरुद्ध के 4 अभियोग, अम्बाला शहर के सुरेन्द्र सिंह के विरुद्ध के 14 अभियोग,  मक्खन सिंह के विरुद्ध 6 अभियोग तथा अमनजोत सिंह के विरुद्ध 3 अभियोग अंकित हैं।


 एसआईटी प्रमुख ने बताया कि पानीपत के ओमप्रकाश के विरुद्ध 24 अभियोग, बलवान के विरूद्ध 7 अभियोग, सोहन लाल के विरुद्ध 3 अभियोग, प्रदीप के विरुद्ध 3 अभियोग अंकित हैं। इसी प्रकार करनाल निवासी राजेश के विरुद्ध 2 अभियोग, असंध निवासी हरदीप सिंह के विरुद्ध 3 अभियोग, करनाल के कृष्ण के विरुद्ध 4 अभियोग तथा जगदीश के विरुद्ध कबूतरबाजी के 5 अभियोग अंकित हैं। इन 15 अपराधियों के खिलाफ हिस्ट्रीशीट खोली गई है ताकि पुलिस द्वारा इन अपराधियों पर निगरानी रखी जा सके और ये अपराधी भविष्य में किसी भी व्यक्ति को बहका-फुसलाकर कर विदेश भेजने के नाम पर अपने जाल में न फंसा सकें।

श्रीमती अरोड़ा  ने बताया कि इनके अलावा 124 अभियोगों में 38 अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोलने की प्रक्रिया चल रही है, जो शीघ्र पूरी हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: