सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर किसने क्या कहा ?

Font Size

नई दिल्ली। राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। हमारे देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम 130 करोड़ भारतीयों को शांति और संयम का परिचय देना है। भारत के शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की अंतर्निहित भावना का परिचय देना है।

देश के उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने भी सुप्रीम कोर्ट के निर्णय पर प्रतिक्रिया जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि आज उच्चतम न्यायालय की पांच न्यायाधीशों की पीठ द्वारा #अयोध्या मामले पर सर्वसम्मति से दिए फैसले के बाद, आवश्यक है कि हम पिछले विवादों को भूल कर भविष्य के सहिष्णु, #सौहार्दपूर्ण, संपन्न और शांत भारत के निर्माण के लिए संकल्पबद्ध हों।

उन्होंने कहा है कि इस निर्णय से सिर्फ #भारत की विजय हुई है। सौहार्द से साथ में रहने की हमारी भावना की जीत हुई है। किसी भी प्रकार का भेदभाव हमारी साझा ऊर्जा और क्षमताओं का क्षय करता है। हमारी इस महान भूमि में सभी को समाहित करने की क्षमता है, #सभी के लिए सम्मान है। उन्होंने लोगों का आह्वान किया है कि आइए हम सब मिलकर #शांति और #संपन्नता की ओर बढ़ें और अपनी #साझा सांस्कृतिक धरोहर को और समृद्ध करें।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि दशकों से चले आ रहे श्री राम जन्मभूमि के इस कानूनी विवाद को आज इस निर्णय से अंतिम रूप मिला है। मैं भारत की न्याय प्रणाली व सभी न्यायमूर्तियों का अभिनन्दन करता हूँ।

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि श्री राम जन्मभूमि पर माननीय सर्वोच्च न्यायालय का सर्वसम्मति से निर्णय भारतीय विधि व्यवस्था की निष्पक्षता का सजीव प्राकट्य है। समस्त नागरिक, निर्णय को सहजता और सद्भाव के साथ स्वीकार करें।

यह भारतीय चिरंतन मूल्य,सह-जीवन, सह-अस्तित्व, सहयोग और सहकार की भावना का परीक्षा काल है। सम्पूर्ण विश्व की दृष्टि भारत की तरफ है। आइये,प्रभु श्री राम के धैर्य और मर्यादा का अनुसरण करते हुए शांति,सद्भाव और समरसता को दृढ़ता प्रदान कर अपने आचरण से विश्व को प्रभु श्री राम का संदेश दें।

कांग्रेस पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मुद्दे पर अपना फैसला सुना दिया है. कोर्ट के इस फैसले का सम्मान करते हुए हम सब को आपसी सद्भाव बनाए रखना है. ये वक्त हम सभी भारतीयों के बीच बन्धुत्व,विश्वास और प्रेम का है।

राजस्थान की पूर्व सीएम व भजपा नेता ने कहा कि अयोध्या पर उच्चतम न्यायालय का निर्णय पूरे देश के लिए शिरोधार्य। सत्य शाश्वत होता है। यह फैसला भी सत्य की ही जीत है। आप सभी से अपील है कि विविधता में एकता का परिचय देते हुए देश में शांति बनाए रखें।

यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि श्रीराम जन्म भूमि पर मा. सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का मैं स्वागत करता हूं इस फैसले का सभी वर्गों, दलों ने स्वागत किया है जिससे न्यायिक प्रणाली में सामान्य जन के विश्वास को और मजबूती मिलती है।

ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के कमाल फारूकी ने कहा,”इसके बदले हमें 100 एकड़ जमीन भी दे दो तो कोई फायदा नहीं है. हमारी 67 एकड़ जमीन पहले से ही ले ली है तो हमको दान में क्‍या दे रहे हैं वो? हमारी 67 एकड़ जमीन लेने के बाद 5 एकड़ दे रहे हैं. ये कहां का इंसाफ है?

लोकसभा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- मैं पर्सनल लॉ बोर्ड की बातों से सहमत हूं. उन्होंने कहा है कि हम फैसले से सहमत नहीं हैं, मेरा भी यही मानना है। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- हिंदुस्तान का मुसलमान इतना गया गुजरा नहीं है कि वो 5 एकड़ जमीन नहीं खरीद सकता. हमें खैरात में जमीन नहीं चाहिए. हम अपनी लीगल राइट के लिए लड़ रहे थे. हमें किसी से भीख की जरूरत नहीं है.

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- मैं मस्जिद की जमीन का सौदा नहीं कर सकता. मेरी राय में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन नहीं लेनी चाहिए.

केंद्रीय मंत्री रामबिलास पासवान ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले का हम सभी खुले दिल से स्वागत और सम्मान करते हैं। सदियों पुराने इस विवाद का इससे बेहतर समाधान नहीं हो सकता। अब हम सब आपसी प्रेम, भाईचारे, सौहार्द और सह-अस्तित्व की अपनी परंपरा के साथ आगे बढ़ें।

पूर्व केंद्रीय मंत्री व भजपा नेता चौधरी बीरेंद्र ने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा अयोध्या प्रकरण में दिया गया निर्णय एतिहासिक है। समाज के सभी पक्षों से मैं भाईचारे और सौहार्द को और मज़बूत करने की अपील करता हूँ। भारत “वसुधैव क़ुटुम्बकम” को चरितार्थ करने वाली भूमि है।

केंद्रीय राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार राव इंद्रजीत सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा है कि माननीय सर्वोच्च न्यायालय के 5 जजों की वृहद पीठ ने अयोध्या विवाद का प्रमाणिकता के साथ, सौहार्दपूर्ण रूप से समाधान दिया है। यह निर्णय किसी के पक्ष या विपक्ष मे नही है। आज देश की हजारों साल पुरानी भाईचारे की भावना के अनुरूप हम सभी भारतीयों को शांति, सद्भाव और एकता का परिचय देना है।

खिलाड़ी ईगेश्वर दत्त ने कहा है कि सर्वोच्च न्यायलय ने #RamMandir के पक्ष में लिया फैसला। आज का दिन इतिहास के पन्नो पर अंकित हो गया है। श्री राम जन्मभूमि पे 500 सालों से जो घाव एक नासूर बन चुका था उसको जड़ से उखाड़ फेकने के लिए सर्वोच्च न्यायालय का धन्यवाद! खास कर के इस सरकार के कौशल को मेरा साधुवाद. जय श्री राम।

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट ने आज एक ऐतिहासिक फ़ैसला दिया है जो भारत की न्यायपालिका की गरिमा को बढ़ाने वाला है। आज भारत की जीत हुई है। हम इस फ़ैसले का स्वागत करते हैं।

उन्होंने कहा कि भगवान राम का जीवन मर्यादित आचरण का सर्वोच्च उदाहरण है। इस लिए हमें आज शांति, सद्भावना और विश्वास को और मजबूत करना चाहिए। भारत की शास्वत सभ्यता और विरासत के साथ देश शांति और समृद्धि की ओर बढ़े, यही कामना है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ चुका है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस भगवान श्री राम के मंदिर के निर्माण की पक्षधर है। इस फैसले से भारतीय जनता पार्टी और अन्य लोगों के सत्ता के भोग के लिए देश की आस्था के साथ राजनीति करने के द्वार भी हमेशा के लिए बंद हो गए हैं।

गुजरात के सीएम विजय रूपानी ने कहा है कि श्री राम जन्मभूमि पर सर्वसम्मति से आए माननीय सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का हम स्वागत करते हैं, सम्मान करते हैं। मैं इसके लिए सर्वोच्च न्यायालय के सभी न्यायमूर्ति के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ। यह निर्णय भारत की एकता और अखंडता को और बल प्रदान करेगा।

उन्होंने कहा है कि श्री राम जन्मभूमि कानूनी विवाद पर न्याय पाने के लिए अविरत प्रयासरत संस्थाओं, संत-समाज और देश के करोड़ों लोगों जिन्होंने इतने वर्षों तक प्रयास किया है, मैं उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करता हूँ।

यूपी की राज्यपाल अनंदिवेन पटेल ने कहा कि आ सर्वोच्च न्यायलय ने #अयोध्या में #RamJanmaBhoomi पर दिए गए सर्वहितकारी फैसले का स्वागत और सम्मान करते हुए सभी देश एवं प्रदेशवासियों को शांति और एकता से सौहार्दपूर्ण वातावरण बनाये रखने की अपील करती हूँ. राष्ट्र की एकता ही राष्ट्रकी शक्ति है.आओ मिलकर सशक्त राष्ट्र बनायें.

यूपी के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा है कि श्री राम जन्मभूमि पर सर्वसम्मति से आये सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत। इस आंदोलन के बलिदानियों को नमन। जो लोग इस प्रक्रिया का किसी भी तरह हिस्सा रहे उनका अभिनंदन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: