अब महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों को सक्षम बनाया जाएगा

Font Size

गुरुग्राम, 04 सितंबर। सरकारी स्कूलों को सक्षम बनाने के बाद अब महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों को सक्षम बनाया जाएगा। इसके लिए सीएम सैल द्वारा मोड्यूल तैयार किया गया है।
इस संबंध में जानकारी आज मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी (सीएमजीजीए) के प्रौजेक्ट डायरेक्टर डा. राकेश गुप्ता द्वारा आयोजित वीडियों काॅन्फें्रसिंग बैठक में दी गई। डा. गुप्ता ने बताया कि विशेष रूप से तैयार किए गए इस मोड्यूल का उद्देश्य सभी 149 सरकारी काॅलेजों को सन् 2021 तक नैक एक्रिडेटिड करना है। वर्तमान में हरियाणा प्रदेश में 149 काॅलेजों में से 32 काॅलेज नैक एक्रिडेटिड हैं। बताया गया कि गुरूग्राम जिला में स्थित 7 सरकारी काॅलेजों में से 3 काॅलेज नेक एक्रिडेटिड हैं। डा. गुप्ता ने उपायुक्त अमित खत्री से कहा कि वे काॅलेजो के प्राचार्यो के साथ इस बारे में समीक्षा करें और बैस्ट पै्रक्टिसिज को बढावा दिया जाएगा। उपायुक्त अपनी समीक्षा में नैक एक्रिडिशन, बिजली व स्वच्छता जैसे स्थानीय विषयों का समाधान, जिला में बैस्ट पै्रक्टिस को शेयर करने के अलावा, काॅलेज के लिए पैरामीटर अनुसार एक्शन प्लान तैयार करवाने पर फोकस करें।
उन्होंने बताया कि प्रदेश के उच्चत्तर शिक्षा विभाग द्वारा नैक एक्रिडिशन की दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। इसके लिए एक स्ट्रैटेजी बनाई गई है जिसमें कुछ अतिरिक्त कदम उठाने की जरूरत है। डा. गुप्ता ने कहा कि इन अतिरिक्त कदमों में प्रयास के माध्यम से सभी काॅलेजों का इन्टर्नल अस्समेंट, डाक्युमेंट स्पोर्ट के लिए ऐजेंसी इम्पैनल करना, काॅलेजों का वर्गीकरण, विभाग से नैक एक्रिडिशन के लिए काॅलेजों को वितीय सहायता, जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय विषयों को हल करने मंे सहयोग तथा सभी काॅलेजों की सख्त समीक्षा एवं मोनिटरिंग शामिल हैं। नैक एक्रिडिशन के लिए जिला प्रशासन और उच्चत्तर शिक्षा विभाग को साथ मिलकर काम करने की जरूरत है।
डा. गुप्ता ने बताया कि हरियाणा में वर्तमान में 149 सरकारी काॅलेजों में से नैक एक्रिडिशन के लिए 97 काॅलेज पात्रता रखते हैं लेकिन इनमें से केवल 32 ही एक्रिडिटिड हैं। उन्होंने कहा कि अब सरकार का लक्ष्य है कि 2019-20 में नैक एक्रिडिटिड काॅलेजों की संख्या 60 तक ले जाई जाए तथा 2020-21 में सभी 149 सरकारी काॅलेज नैक एक्रिडिटिड हो जाएं। यही नहीं, सरकार चाहती है कि प्रदेश के कम से कम 10 काॅलेज की गिनती 2020-21 तक नेशनल इन्स्टिट्यूशनल रैंकिंग फे्रमवर्क (एनआईआरएफ) में टाॅप 100 काॅलेजों में हो। इसी प्रकार वर्तमान में हरियाणा के 10 सरकारी विश्वविद्यालयों में से 7 विश्वविद्यालय नैक एक्रिडिटिड हैं और चालू वित वर्ष में इनकी संख्या 9 तक पहुंचाने का लक्ष्य है। सन् 2020-21 तक सभी 10 विश्वविद्यालय नैक एक्रिडिटिड करने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालयों में भी टाॅप 100 एनआईआरएफ रैंकिंग में वर्तमान में हरियाणा के दो विश्वविद्यालय हैं, चालू वित वर्ष के अंत तक तीन को इस श्रेणी मंे लाना है तथा वर्ष 2020-21 तक 5 विश्वविद्यालय इस श्रेणी में लाने का लक्ष्य है। उच्चत्तर शिक्षा विभाग हरियाणा के महानिदेशक ए श्रीनिवास ने इस मौके पर कहा कि भारत सरकार का कहना है कि आने वाले कुछ वर्षो में सभी काॅलेज नैक एक्रिडिशन प्राप्त कर लें और जो नहीं कर पाएंगे उन काॅलेजों को बंद किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: