बजरंग पुनिया के साथ दीपा मलिक को भी ‘खेल रत्न’, जडेजा समेत 19 को अर्जुन अवॉर्ड

Font Size

नई दिल्ली। पैरालंपिक में रजत पदक विजेता दीपा मलिक को एशियाई और राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन पहलवान बजरंग पूनिया के साथ शनिवार को देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिये नामित किया गया। रियो पैरालंपिक के गोला फेंक में एफ53 वर्ग में रजत पदक जीतने वाली 48 वर्षीय दीपा का नाम 12 सदस्यीय समिति ने दो दिवसीय बैठक के दूसरे दिन खेल रत्न पुरस्कार के लिये जोड़ा।

न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) मुकुंदकम शर्मा की अगुवाई वाली समिति ने विश्व में 65 किग्रा में नंबर एक पूनिया को शुक्रवार को ही खेल रत्न के लिये चुन लिया था। छह बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता एमसी मेरीकोम ने हितों के टकराव से बचने के लिये बैठक में हिस्सा नहीं लिया। उनके निजी कोच छोटेलाल यादव द्रोणाचार्य पुरस्कार की दौड़ में शामिल थे।

समिति ने 19 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार के लिये भी चुना है जिसमें क्रिकेटर रविंद्र जडेजा और पूनम यादव, ट्रैक एवं फील्ड के एथलीट तेजिंदर पाल सिंह तूर, मोहम्मद अनस और स्वप्ना बर्मन, फुटबालर गुरप्रीत सिंह संधू, हाकी खिलाड़ी चिंगलेनसना सिंह कांगुजाम और निशानेबाज अंजुम मुदगिल शामिल हैं।

पैनल ने तीनों नामों को द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिये नामित किया है जिनमें पूर्व बैंडमिंटन स्टार विमल कुमार भी शामिल है। इसके अलावा तीन नाम द्रोणाचार्य पुरस्कार (जीवन पर्यन्त) के लिये भेजे गये हैं। समिति ने द्रोणाचार्य अवार्ड के लिए भी नाम नामांकित किए हैं और इसमें 1972 में कांस्य पदक जीतने वाली हॉकी टीम का हिस्सा रहे मैनुएल फेड्रेरिक्स, अरुप बासाक (टेबल टेनिस), नितिन किरटाने (टेनिस), मनोज कुमार (कुश्ती), चांग्ते लालरेमसांगा (तीरंदाजी) के नाम शामिल हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: