सेक्टर 9 कालेज में आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट में डीजीसी, यूटीडी और एनबीजीएसएम रहे क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय

Font Size

गुरुग्राम। राजकीय महाविद्यालय सेक्टर 9 में चल रहे अंतर्महाविद्यालय क्रिकेट टूर्नामेंट का समापन मंगलवार को हुए फाइनल मैच के साथ हुआ। स्कोर ज्ञात हो विगत 18 नवंबर से चल रहे इस टूर्नामेंट में विश्वविद्यालय के विभिन्न संस्थानों का प्रतिनिधित्व कर रही 9 टीमों ने प्रतिभाग किया और सर्वोच्च 4 टीमों के बीच सेमीफाइनल का मुकाबला सोमवार को खेला गया।

सोमवार को हुए सेमीफाइनल मुकाबलों में सेक्टर 9 महाविद्यालय को हराकर यूटीडी तथा एनबीजीएसएम सोहना कॉलेज को हराकर डीएसडी फाइनल में पहुंचे। मंगलवार को द्रोणाचार्य राजकीय महाविद्यालय और विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग के बीच फाइनल की भिड़ंत में पहले बल्लेबाजी करते हुए प्राचार्य राजकीय महाविद्यालय की टीम ने 146 रन बनाए जिसका पीछा करते हुए विश्वविद्यालय शिक्षण विभाग की टीम 72 रनों पर ही ढेर हो गई।

इस मैच की शुरुआत विश्वविद्यालय से आए खेल प्रभारी डॉ तरुण ढुल तथा सेक्टर 9 महाविद्यालय के प्राचार्य श्री रणधीर सिंह जी ने टॉस कराकर की। विजयी टीम की प्रशिक्षक श्रीमती सुनील डबास ने जीत का श्रेय खिलाड़ियों की मेहनत को दिया और साथ ही प्रतिद्वंदी टीमों के खिलाड़ियों की भी सराहना की।

सेक्टर 9 कालेज में आयोजित क्रिकेट टूर्नामेंट में डीजीसी, यूटीडी और एनबीजीएसएम रहे क्रमशः प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय 2

विजयी टीम के कप्तान केशव सैनी ने सभी की एकजुटता को ही जीत का कारण बताया। इससे पहले तृतीय स्थान के लिए चले मैच में निरंकारी बाबा गुरचरण सिंह मेमोरियल कॉलेज सोहना की टीम ने राजकीय महाविद्यालय सेक्टर 9 को 34 रनों से हराकर कांस्य पदक हासिल किया।

समापन समारोह में डॉ तरुण ढुल ने टूर्नामेंट के सफल आयोजन के लिए खेल सचिव डॉक्टर सतीश यादव एवं समूचे महाविद्यालय की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। प्राचार्य जी ने भी कहा कि महाविद्यालय परिवार के सहयोग से आयोजन की सफलता सुनिश्चित हो सकी है।

मेजबानी का अवसर प्रदान करने हेतु विश्वविद्यालय प्रशासन का आभार प्रकट करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजनों से विद्यार्थियों की खेलों में रुचि और अधिक प्रबल होगी। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राध्यापकों में श्री अजय कुमार, श्री संजय कत्याल, डॉ सुरेंद्र काद्यान, एपीआईओ रोहित शर्मा, डॉ प्रदीप सिंह, डॉ राजेश कुमार आदि उपस्थित रहे

Leave a Reply

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: