चिरायु हरियाणा : सवा करोड़ हरियाणवियों को मुफ्त इलाज का मिला उपहार

Font Size

बीमार होने पर इलाज के खर्च की टेंशन खत्म, मुख्यमंत्री ने की ऐतिहासिक योजना की शुरुआत


शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य, स्वाभिमान और स्वावलंबन के सिद्धांत पर काम कर रही सरकार- मुख्यमंत्री


हरियाणा में अंत्योदय परिवारों तक आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का विस्तार


मुख्यमंत्री ने मानेसर में आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड किए वितरित


हरियाणा में अब 29 लाख परिवार आयुष्मान भारत के दायरे में, मुफ्त होगा 5 लाख रूपए तक का इलाज


गुरूग्राम, 21 नवंबर। प्रदेश में हर व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ सुनिश्चित करने की दिशा में एक और ऐतिहासिक कदम बढ़ाते हुए हरियाणा सरकार ने ऐसे जरूरतमंद परिवारों को भी आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभ देने की शुरुआत की है, जिनकी वार्षिक आय 1.80 लाख रुपये तक है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोमवार को मानेसर में लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड वितरित कर इस कार्यक्रम की शुरुआत की। इस योजना से राज्य के करीब 29 लाख परिवारों की बीमारी की स्थिति में इलाज पर आने वाले खर्च की चिंता खत्म होगी। योजना से सीधे तौर पर सवा करोड़ हरियाणवी लाभान्वित होंगे। यानि हरियाणा की 50 प्रतिशत जनता को इसका लाभ मिलेगा।उन्होंने कहा कि इस योजना को ‘चिरायु हरियाणा’ के नाम से जाना जाएगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कांता देवी और हरपाल सहित दर्जनभर लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड वितरित किए। इस योजना में शामिल किए जाने वाले इन परिवारों का 5 लाख रुपये तक का ईलाज पर खर्च राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि अब दिव्यांग का इलाज भी योजना में समाहित किया गया है। इस अवसर पर सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग की ओर से तैयार फिल्म भी प्रदर्शित की गई।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अपने संबोधन में कहा कि आज का दिन गरीब और जरूरतमंद परिवारों के अच्छे स्वास्थ्य के प्रति राज्य सरकार की प्रतिबद्धता का एक नया संदेश लेकर आया है। आज से अन्त्योदय परिवारों को भी ‘आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ के दायरे में लाया जा रहा है। इससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘स्वस्थ भारत- सशक्त भारत’ के विजन को एक नयी दिशा और गति मिलेगी। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पहले दिन से ही गरीब की मूलभूत सुविधाओं की कल्पना की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि लाभार्थियों का डाटा राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के साथ साझा किया गया है ताकि उसे ‘आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ पोर्टल तथा पी.पी.पी. आईडी के साथ एकीकृत किया जा सके। पात्र लाभार्थियों की पहचान करने, उन्हें पंजीकृत करने और मिशन मोड में उनके कार्ड बनाने के लिए सभी जिलों के साथ एकीकृत डेटा साझा किया जा रहा है।

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार के मानदंडों के अनुसार इस योजना के लाभार्थी परिवारों का चयन आर्थिक, सामाजिक व जातीय जनगणना-2011 के आधार पर किया गया है। इसके अनुसार हरियाणा में 15 लाख 51,798 परिवार इस योजना में चिह्नित हुए थे लेकिन इनमे से सिर्फ 9 लाख का डाटा वेरिफाई हो पाया था और इन्ही 9 लाख परिवारों को योजना का लाभ मिल रहा था लेकिन अब राज्य सरकार के खर्च पर योजना का दायरा बढ़ाया गया है। पीपीपी के डाटा के आधार पर इस योजना से प्रदेश में अब 28 लाख 89,036 परिवार कवर हो रहे हैं। यानि पहले जहाँ करीब 9 लाख परिवारों को योजना का लाभ मिल रहा था, वहीँ अब करीब 20 लाख और परिवार इसमें जोड़े गए हैं।


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने राज्य के हिसाब से केंद्र की 1 लाख 20 हज़ार रूपए वार्षिक आय की सीमा को 1 लाख 80 हज़ार रूपए तक किया है। इन परिवारों के गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे हैं। श्री मनोहर लाल ने कहा कि मिशन मोड में अंत्योदय परिवारों के सभी लाभार्थियों को कवर करने के लिए लाभार्थी की पहचान और कार्ड बनाने के लिए जिला और ब्लॉक स्तर पर शिविर भी आयोजित किए जाएंगे। उम्मीद है कि 31 दिसम्बर तक सभी को ये कार्ड मिल जाएंगे। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रदेश में कुल 715 अस्पताल सूचीबद्ध हैं, जिनमें 539 निजी अस्पताल और 176 सरकारी अस्पताल शामिल हैं। इस लिहाज़ से देखा जाए तो हरियाणा के 22 जिलों में हर जिले में लगभग 32 अस्पतालों में इस योजना से जरूरतमंद लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मिल रहा है। 1500 किस्म की बीमारियों का इलाज इस योजना के जरिए संभव हो सकेगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि अब तक आयुष्मान भारत योजना के तहत 580.77 करोड़ रुपये से अधिक के क्लेम दिए गए हैं। वर्ष 2021 के दौरान शीघ्र क्लेम भुगतान के लिए हरियाणा को राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ( एन. एच. ए.) से प्रशंसा – पत्र भी मिला है। आयुष्मान कार्डों को आधार से जोड़ने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य है। प्रदेश में अस्पताल में भर्ती होने के समय 100 प्रतिशत बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण (नवजात शिशुओं और आपात स्थितियों को छोड़कर) किया जाता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के अलावा भी प्रदेश में आमजन को किफायती, सुलभ और आधुनिक चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करना सुनिश्चित किया है। आज प्रदेश में 228 प्रकार के ऑप्रेशन, 70 प्रकार के टेस्ट और 21 प्रकार की दंत चिकित्सा मुफ्त उपलब्ध है। साथ ही 541 दवाइयां भी मुफ्त दी जाती हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी गरीबों के उत्थान और कल्याण के लिए कारगर कदम उठाये हैं। ‘अन्त्योदय’ अभियान में हम उन परिवारों को आर्थिक रूप से मजबूत करने में लगे हैं, जो किन्हीं कारणों से पिछड़े रह गए। सरकार ने मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के माध्यम से हर परिवार की आय कम से कम 1 लाख 80 हजार रुपये करने का बीड़ा उठाया है। प्रदेश में तीन चरणों में 550 से ऊपर अंत्योदय मेलों का आयोजन किया गया, जिनमें करीब ढाई लाख से अधिक परिवार शामिल हुए।


मुख्यमंत्री ने कहा कि योजनाओं की आखिरी गरीब तक पहुँच और अंतिम व्यक्ति का उदय ही सरकार का लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य, स्वाभिमान और स्वावलंबन के सिद्धांत पर काम कर रही है। हरियाणा बड़े राज्यों में देश में सबसे आगे, हरियाणा की जनता को सुविधाओं का लाभ मिले ये सुनिश्चित किया जा रहा है। इसी के चलते परिवार पहचान पत्र को लागू किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के अलावा पटौदी के विधायक श्री सत्यप्रकाश जरावता, सोहना के विधायक संजय सिहं, हरियाणा में आयुष्मान योजना के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजनारायण कौशिक, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव व सूचना,जनसंपर्क एवं भाषा विभाग महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य, मुख्यमंत्री के पब्लिक सेफटी एडवाइजर अनिल राव, गुरूग्राम के मण्डलायुक्त आर सी बिढान, पुलिस आयुक्त कला रामचंद्रन, उपायुक्त निशांत कुमार यादव, अतिरिक्त उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा, सिविल सर्जन डा. विरेंद्र यादव सहित राज्य सरकार कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे। हरियाणा के सभी लोकसभा व राज्यसभा सांसद तथा मंत्रिमंडल के सदस्य वर्चुअली इस कार्यक्रम से जुड़े। इस मौके पर पूरे प्रदेश में लगभग 29 जगहों पर कार्यक्रम आयोजित हुए।

Leave a Reply

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: