युवा उद्यमी हेनरी सिंगुरा ने मशरूम की खेती को एक सफल व्यावसायिक उद्यम के रूप में विकसित किया

Font Size

नई दिल्ली :  मिजोरम के हेनरी सिंगुरा ने मशरूम की खेती को एक सफल व्यावसायिक उद्यम के रूप में विकसित किया है और अपने क्षेत्र के युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान किए हैं। हेनरी हमेशा से ही अपने आस – पास के लोगों के लिए कुछ करने की इच्छा रखते थे इसलिए उन्होंने वर्ष 2019 में फूड माइक्रो लैब की स्थापना की। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय की प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) योजना ने उनके उद्यम को सफल बनाने में प्रमुख भूमिका निभाई है। हेनरी ने बताया है कि मिजोरम में मशरूम की खेती आमदनी का एक मुख्य स्रोत है। एक स्टार्टअप होने की वजह से धन का प्रबंधन करना हमारे सामने आने वाली प्रमुख समस्याओं में से एक थी। पीएमईजीपी योजना के तहत हमें ऋण और 35 फीसदी सब्सिडी मिली। इससे हमारे स्टार्टअप को काफी सहायता मिली है।

हेनरी आज एक सफल उद्यमी के रूप में कार्य कर रहे हैं और अन्य लोगों को भी मशरूम की खेती करने का प्रशिक्षण दे रहे हैं। हेनरी की शुरुआती चुनौती थी अपने स्टार्टअप के लिए धन की व्यवस्था करना और इसके लिए उन्हें #पीएमईजीपी योजना के तहत #मिनिस्ट्रीऑफ़एमएसएमई का सहयोग मिला।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: