गुरुग्राम को नवरात्र के पहले दिन मिले 2 नए पीएसए ऑक्सीजन प्लांट

9 / 100
Font Size

– सेक्टर 10 के नागरिक अस्पताल में स्थापित पीएसए ऑक्सीजन प्लांट का पीएम नरेंद्र मोदी ने किया शुभारंभ

-पीएम केयर फंड से स्थापित ऑक्सीजन प्लांट 1000 एलपीएम क्षमता का है  

गुरुग्राम,07 अक्टूबर। गुरुग्राम जिला को ऑक्सिजन उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए 2650 लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले दो पीएसए ऑक्सीजन संयत्रो की आज विधिवत रूप से शुरुआत की गयी। ये दोनों संयंत्र अलग अलग स्थानों पर स्थापित किये गए हैं। नागरिक अस्पताल में पीएम केयर्स फंड से स्थापित 1000 लीटर क्षमता वाले पीएसए संयंत्र का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से जिलावासियों को समर्पित किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मुख्य कार्यक्रम उत्तराखंड के ऋषिकेष स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में आयोजित था। वहां से उन्होंने देश के विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में पीएम केयर्स फंड से स्थापित प्रेशर स्विंग एडजॉर्प्शन (पीएसए) ऑक्सीजन संयंत्रों का उद्घाटन वर्चुअल माध्यम से किया। इनमें गुरुग्राम जिला के सेक्टर 10 स्थित नागरिक अस्पताल में स्थापित पीएसए संयंत्र भी शामिल था। इसके साथ ही आज गुरुग्राम नगर निगम की मेयर श्रीमती मधु आजाद द्वारा सेक्टर 38 स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में स्थापित पीएसए संयंत्र का भी शुभारंभ किया गया। 1650 लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले इस पीएसए संयंत्र की स्थापना पावरग्रिड कारपोरेशन ऑफ इंडिया द्वारा सीएसआर फण्ड के तहत की गई है।

जिला उपायुक्त डॉ यश गर्ग ने उपरोक्त दोनों संयत्रों की जानकारी देते हुए बताया कि इन दोनों संयत्रों के शुरू होने से गुरुग्राम जिला अब ऑक्सीजन उत्पादन में आत्मनिर्भर होने की ओर अग्रसर है। उन्होंने बताया कि नागरिक अस्पताल सेक्टर 10 में स्थापित एक हजार लीटर प्रति मिनट की क्षमता वाले संयंत्र के शुरू होने से 100 बेड पर 24 घंटे निर्बाध गति से ऑक्सीजन की सप्लाई हो सकेगी।

वहीं ताऊ देवीलाल स्टेडियम के ऑक्सीजन प्लांट में आपात स्थिति में सिलेंडर भरने की भी सुविधा उपलब्ध है। इसके साथ ही स्टेडियम में स्थापित अस्थाई हेल्थ सेंटर में मौजूद सभी बेडों पर भी निरंतर ऑक्सीजन सप्लाई की जा सकेगी। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन प्लांटों की स्थापना से कोरोना से मुकाबले और अन्य गंभीर रोगों के उपचार में मदद मिलेगी।

डॉ गर्ग ने कहा कि गुरुग्राम जिला में ऑक्सीजन संयंत्रों का ऐसा नेटवर्क तैयार किया जा रहा है कि भविष्य में यदि मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत पड़े तो हमारे पास पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध हो। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन संयंत्रों के अलावा काफी संख्या में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का भी प्रबंध किया गया है।

इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ वीरेंद्र यादव ने बताया कि जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने युद्धस्तर पर कार्य करते हुए जिला के सरकारी स्वास्थ्य चिकित्सा संस्थानों में 100 एलपीएम से लेकर 250 से 500 एलपीएम क्षमता के 11 से अधिक पीएसए ऑक्सीजन संयत्रों की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि वीरवार को शुरू किए गए संयत्रों को मिलाकर गुरुग्राम जिला के सरकारी स्वास्थ्य चिकित्सा संस्थानों में लगाए गए ऑक्सीजन संयंत्रों की क्षमता लगभग 6000 एलपीएम हो गई है।

डॉक्टर यादव ने बताया कि सरकारी संस्थानों के अलावा जिला के प्राइवेट अस्पतालों में भी 13 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा चुके हैं। इनकी औसत क्षमता 500 एलपीएम है।उपरोक्त के अलावा जिला के पांच प्राइवेट अस्पतालों में 7 ऑक्सीजन प्लांट लगाने का कार्य प्रगति पर है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने जिला के बड़े प्राइवेट अस्पतालों को अपने परिसर में दिसंबर तक ऑक्सीजन प्लांट लगाने का समय निर्धारित किया हुआ है। सभी ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने के बाद जिला में मेडिकल ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी।

वर्चुअल माध्यम से आयोजित इस कार्यक्रम में एडीसी विश्राम कुमार मीणा, सिविल सर्जन डॉ वीरेंदर यादव, सीएसआर ट्रस्ट हरियाणा के वाईस चैयरमेन बोधराज सीकरी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page