फरीदाबाद के डीसीपी विक्रमजीत कपूर आत्महत्या मामले की जांच एस आई टी करेगी

Font Size

फरीदाबाद। हरियाणा के फरीदाबाद जिले के डीसीपी विक्रमजीत सिंह कपूर आत्महत्या मामले की जांच अब जिला पुलिस से छीन ली गई है। इस मामले की जांच के लिए अब विशेष जांच प्रकोष्ठ (एसआईटी) का गठन कर दिया गया है। एसआईटी टीम का प्रुमख सहायक पुलिस आयुक्त को बनाया गया है। फरीदाबाद जिला पुलिस के प्रवक्ता सूबे सिंह ने आईएएनएस से बातचीत में एसआईटी गठन की पुष्टि की है। गठित टीम का नेतृत्व फरीदाबाद क्राइम ब्रांच के सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) अनिल यादव करेंगे। इस टीम में फरीदाबाद क्राइम ब्रांच के इंचार्ज इंस्पेक्टर विमल के साथ सब इंस्पेक्टर रविंद्र और सतीश को बतौर सहयोगी शामिल किया गया है।

सूत्र बताते हैं कि जांच-प्रकिया में यह बड़ा परिवर्तन पुलिस कमिश्नर संजय कुमार के आदेश पर किया गया है। गुरुवार शाम करीब सात बजे बेहद गुपचुप तरीके से एसआईटी के गठन का खुलासा किया गया। एसआईटी के गठन के पीछे प्रमुख वजह मामले में डीसीपी स्तर के आईपीएस जैसे उच्चाधिकारी द्वारा आत्महत्या किया जाना प्रमुख माना जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि इस मामले में एसएचओ स्तर के एक इंस्पेक्टर (भूपानी थाना के प्रभारी) अब्दुल शाहीद को घटना वाले दिन से ही फरीदाबाद पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। अब्दुल शाहिद का नाम डीसीपी द्वारा छोड़े गए सुसाइड नोट में उल्लिखित है।

डीसीपी कपूर ने सुसाइड नोट में साफ-साफ लिखा था कि उन्हें इंस्पेक्टर अब्दुल शाहिद और एक अन्य शख्स द्वारा ब्लैकमेल किया जा रहा था। हालांकि सुसाइड नोट में डीसीपी कपूर ने अन्य शख्स के नाम का और ब्लैकमेलिंग की वजह का उल्लेख नहीं किया था।

जिला पुलिस ने हाईप्रोफाइल होने के चलते ही मामले की आगे की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है। फरीदाबाद पुलिस के सूत्र बताते हैं कि इस मामले की जांच इंस्पेक्टर अब्दुल शाहीद की गिरफ्तारी से कहीं आगे जाने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: