वाइस एडमिरल तरुण सोबती, वीएसएम ने प्रोजेक्ट सीबर्ड के महानिदेशक के रूप में कार्यभार संभाला

81 / 100
Font Size

तरुण सोबती

तरुण सोबती

नई दिल्ली :   वाइस एडमिरल तरुण सोबती, वीएसएम ने 24 दिसंबर 2021 को वाइस एडमिरल पुनीत के बहल, एवीएसएम, वीएसएम से प्रोजेक्ट सीबर्ड/ एकीकृत मुख्यालय, रक्षा मंत्रालय (नौसेना) के महानिदेशक के रूप में पदभार ग्रहण किया।

वाइस एडमिरल तरुण सोबती अपनी मौजूदा नियुक्ति से पहले पूर्वी बेड़े की कमान संभाल रहे थे और उन्हें 01 जुलाई 1988 को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया था। वह राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला के 72वें कोर्स के पूर्व छात्र हैं, और यहां पास आउट होने पर उन्हें राष्ट्रपति स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया था। उन्हें सी कैडेट ट्रेनिंग के दौरान ‘बायनोक्युलर्स’, मिडशिपमेन ट्रेनिंग के दौरान ‘स्वॉर्ड ऑफ ऑनर’ और सब लेफ्टिनेंट कोर्स के दौरान पहले स्थान पर रहने के लिए एडमिरल आरडी कटारी ट्रॉफी से सम्मानित किया गया था। फ्लैग ऑफिसर एक नेविगेशन और डायरेक्शन विशेषज्ञ हैं, जहां उन्होंने कोर्स में प्रथम स्थान प्राप्त किया और उन्हें सर्वश्रेष्ठ ऑल-राउंड ट्रेनी चुना गया।

उन्होंने 2002-2003 के दौरान फ्रांस से कमांड एंड स्टाफ कोर्स और 2009-2010 में नेवल हायर कमांड कोर्स किया है, जहां उन्होंने बेस्ट ऑपरेशनल पेपर के लिए सीएनएस गोल्ड मेडल से सम्मानित किया गया है।

उनकी जलीय भूमिकाओं में वो आईएनएस कृपाण के नेविगेटिंग ऑफिसर, आईएनएस मैसूर के कमिशनिंग नेविगेटिंग ऑफिसर, आईएनएस विराट के डायरेक्शन ऑफिसर, आईएनएस दिल्ली के कार्यकारी अधिकारी रहे हैं। फ्लैग ऑफिसर ने आईएनएस निशंक, आईएनएस कोरा की कमान संभाली है और आईएनएस कोलकाता के कमीशनिंग कमांडिंग ऑफिसर थे।

उनके अन्य महत्वपूर्ण स्टाफ अपॉइंटमेंट्स में इंस्ट्रक्टर, प्रोजेक्ट -15 प्रशिक्षण टीम, जॉइंट डायरेक्टर स्टाफ रिक्वायरमेंट्स और नौसेना मुख्यालय में कार्मिक विभाग के जॉइंट डायरेक्टर तथा लोकल वर्कअप टीम (ईस्ट) में कैप्टन वर्क अप, भारतीय दूतावास में नेवल अटैशे, मॉस्को डिप्टी कमांडेंट और भारतीय नौसेना अकादमी, एझिमाला में मुख्य प्रशिक्षक जैसी भूमिकाएं शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: