“हुनर हाट” को भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला, 2021 रजत पदक से सम्मानित किया गया

Font Size

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा – लाखों लोगों ने प्रगति मैदान में “हुनर हाट” का दौरा किया, जहां करोड़ों रुपये के स्वदेशी उत्पादों की बिक्री हुई, जिससे देश भर के कारीगरों और शिल्पकारों को प्रोत्साहन मिला

कारीगरों और शिल्पकारों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खरीदारों से करोड़ों रुपये के ऑर्डर मिले हैं

“हुनर हाट” को “वोकल फॉर लोकल” और व्यापार मेले में अपनी मजबूत उपस्थिति के लिए प्रतिष्ठित भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला, 2021 रजत पदक से सम्मानित किया गया

 

नई दिल्ली :  केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि एक तरफ जहां लाखों लोगों ने नई दिल्ली के प्रगति मैदान में “हुनर हाट” का दौरा किया, वहीं दूसरी तरफ “हुनर हाट” में करोड़ों रुपये के स्वदेशी उत्पादों की बिक्री हुई। इससे देश भर के कारीगरों और शिल्पकारों को प्रोत्साहन प्राप्त हुआ है।

नई दिल्ली के प्रगति मैदान में आज “हुनर हाट” के समापन पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए, श्री नकवी ने कहा कि जहां लोगों ने “हुनर हाट” में करोड़ों रुपये के स्वदेशी उत्तम हस्तनिर्मित उत्पाद खरीदे, वहीं कारीगरों और शिल्पकारों को भी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खरीदारों से करोड़ों रुपये के ऑर्डर मिले हैं।

14 से 27 नवंबर 2021 तक प्रगति मैदान, नई दिल्ली में भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-आईआईटीएफ में आयोजित 33वें “हुनर हाट” में 30 से अधिक राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के 550 से अधिक कारीगरों और शिल्पकारों ने भाग लिया।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित “हुनर हाट” ने “वोकल फॉर लोकल” और व्यापार मेले में अपनी उपस्थिति की प्रतिबद्धता को मजबूत करने के लिए प्रतिष्ठित आईआईटीएफ, 2021 रजत पदक प्राप्त किया।

श्री नकवी ने कहा कि जहां एक तरफ दर्शकों ने देश के कोने-कोने से देशी पारंपरिक उत्पादों की बड़े पैमाने पर खरीदारी की, वहीं दूसरी तरफ देश के जाने-माने कलाकारों ने अपनी विविध सांस्कृतिक और संगीतमय प्रस्तुति से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

उन्होंने कहा कि आगंतुकों ने “हुनर हाट” में “सर्कस” का भी आनंद लिया, जहां भारतीय सर्कस कलाकारों ने शानदार विविध पारंपरिक मनोरंजन का प्रदर्शन किया है। “हुनर हाट” के शानदार सेल्फी पॉइंट्स पर आगंतुकों ने उत्साहपूर्वक सेल्फी भी ली।

श्री नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के “वोकल फॉर लोकल” और “स्वदेशी से स्वावलंबन” के “मंत्र” ने हथकरघा-हस्तशिल्प की भारत की पारंपरिक और पैतृक विरासत को प्रोत्साहन और बढ़ावा दिया है।

300 स्टालों के साथ, इस वर्ष आईआईटीएफ में केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की यह सबसे बड़ी भागीदारी थी। केनरा बैंक ने “हुनर हाट” में एक स्टॉल लगाया था जिससे कारीगरों और शिल्पकारों को रोजगार और स्वरोजगार के लिए आसान ऋण उपलब्ध कराया जा सके।

अन्नू कपूर, विनोद राठौर, सुदेश भोसले, रूप कुमार राठौर और सोनाली राठौर, सुरेश वाडेकर और पद्मा वाडेकर, अमित कुमार, मोहित खन्ना, प्रेम भाटिया, उस्मान मीर, रेखा राज, विवेक मिश्रा, अंकिता पाठक, प्रिया मल्लिक, भूपेंद्र सिंह भूप्पी, मिर्जा सिस्टर्स, पॉश जेम्स और अन्य प्रसिद्ध कलाकारों ने हर शाम “हुनर हाट” में यादगार और शानदार प्रदर्शन किया।

श्री नकवी ने कहा कि “हुनर हाट” वर्चुअल और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म http://hunarhaat.org और जीईएम पोर्टल, बेहतर मार्केटिंग संपर्क, नए डिजाइन, बेहतर पैकेजिंग, प्रशिक्षण और क्रेडिट संपर्क ने कारीगरों और शिल्पकारों के आर्थिक सशक्तिकरण के लिए अपार अवसर खोले हैं। पिछले लगभग 6 वर्षों में “हुनर हाट” के माध्यम से 7 लाख से अधिक कारीगरों, शिल्पकारों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार और रोजगार के अवसर प्रदान किए गए हैं।

अगला “हुनर हाट” सूरत (11 से 20 दिसंबर), जेएलएन स्टेडियम, नई दिल्ली (22 दिसंबर 2021 से 2 जनवरी 2022) में आयोजित किया जाएगा। “हुनर हाट” का आयोजन मैसूर, गुवाहाटी, पुणे, अहमदाबाद, भोपाल, पटना, पुडुचेरी, मुंबई, जम्मू, चेन्नई, चंडीगढ़, आगरा, प्रयागराज, गोवा, जयपुर, बेंगलुरु, कोटा, सिक्किम, श्रीनगर, लेह, शिलांग, रांची, अगरतला और अन्य जगहों पर भी आने वाले दिनों में किया जाएगा।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: