शहरी क्षेत्र हेतु स्वस्थ देवघर, सुरक्षित देवघर अभियान का होगा आयोजन : उपायुक्त

6 / 100
Font Size

सुरक्षित गांव, हमर गांव अभियान की तरह चलाया जाएगा यह अभियान 

शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के साथ कोविड नियमों का अनुपालन है अति आवश्यक

 जिले को स्वस्थ, सुरक्षित और लोगों को जागरूक करने में सभी की जिम्मेवारी व जवाबदेही

 बेटा-बेटी में असमानता व दहेज प्रथा मुक्त समाज बनाने में आप सभी महिलाओं का सहयोग आपेक्षि

देवघर : जिले में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन व टोला-टोला में टीकाकरण अभियान को लेकर उपायुक्त सह जिला दण्डाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री की अध्यक्षता में वेबिनार का आयोजन किया गया। इस दौरान उपायुक्त ने विभिन्न प्रखण्डों की एसएचजी महिलाओं एवं नीड्स फाउंडेशन के सदस्यों एवं मीडिया पार्टनर की भूमिका में दैनिक जागरण देवघर की टीम शामिल हुई। इस दौरान उपायुक्त श्री मंजूनाथ भजंत्री के पहल पश्चात सुरक्षित गांव हमर गांव अभियान के सफल संचालन को लेकर टोला-टोला में टीकाकरण कार्य को लेकर विस्तृत चर्चा करते हुए उपस्थित विभिन्न महिला समूह के सदस्यों एवं संबंधित अधिकारियों द्वारा अपने-अपने सुझाव व जागरूकता को लेकर अपने विचार उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत किए।

इसके अलावे परिचर्चा के दौरान नीड्स के कार्यकारी अध्यक्ष मुरारी मोहन चौधरी की ओर से सुरक्षित गांव, हमर गाव अभियान के सफल संचालन को लेकर उपायुक्त, महोदय को बधाई दी गई। साथ ही उन्होंने कहा कि उपायुक्त, देवघर के पहल के पश्चात सुरक्षित गांव हमर गांव अभियान की तरह नीड्स परिवार की ओर से भी देवघर जिले में नीड्स जागरूकता वाहन के माध्यम से वैक्सिनेशन के प्रति जागरूकता की मुहिम की शुरुआत की गई है। जिसका मुख्य उदेश्य शत प्रतिशत जनमानस को कोविड टिका से लाभान्वित करना है। आगे उन्होने आगे कहा कि अभी भी बहुत से लोग टिका लगवाने में डर रहे है परन्तु उपायुक्त महोदय के द्वारा चलाय गया सुरक्षित गांव, हमर गाव अभियान काफी सराहनीय है, इस पहल के पश्चात अन्तिम क्षोर तक के व्यक्ति जागरुक हो रहे हैं और आगे बढ़ कर वैक्सीनेशन करवा रहा है। नीड्स परिवार ने उपायुक्त के प्रति आभार जताते हुए कहा कि यहां पर वैक्सीन का वेस्टेज नहीं के बराबर हुआ है। इसके लिए उपायुक्त धन्यवाद के पात्र हैं।

इसके अलावे परिचर्चा के दौरान दैनिक जागरण का प्रतिनिधित्व कर रहे आर सी सिन्हा ने सुरक्षित गांव हमर गांव के साथ अभियान यस फॉर वैक्सीन की चर्चा करते हुए उपायुक्त के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि जब तक सभी लोग टीका नहीं ले लेते तब तक हम सुरक्षित नहीं हो सकते। लेकिन इस बात का ख्याल रखें कि जब तक देवघर के सभी लोग टीका नहीं ले लेते और कोरोना का केस शून्य नहीं हो जाता तब तक पूरी सावधानी बरत कर अपने दायित्वों को निभाएं।

■ जागरूकता, सतर्कता, सावधानी पर दे विशेष रूप से ध्यान- उपायुक्त….

वेबिनार के दौरान उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री ने सभी को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में जिस तत्परतापूर्वक आप सभी जिला प्रशासन का सहयोग किया है वो काबिले तारीफ और सराहनीय है। आज सुरक्षित गांव, हमर गांव के तहत टोला-टोला में टीकाकरण अभियान का कॉन्सेप्ट आप सभी की भागीदारी से सुनिश्चित हुआ है। जिला प्रशासन का लगातार प्रयास है की आप सभी के सुझावों को लेते हुए स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को दिन प्रतिदिन बेहतर करने का प्रयास किया जा रहा है। आगे उपायुक्त ने दीदियों से बात चीत करते हुए कन्या भ्रूण हत्या, दहेज प्रथा, बेटा-बेटी में असमानता से जुड़े विषयों पर चर्चा करते हुए कहा कि जन जागरण के बिना इन कुरीतियों पर रोक संभव नहीं है। ऐसे में हम सभी की ये जवाबदेही व जिम्मेवारी बनती है कि इन समस्याओं के प्रति अपने दायित्वों को निवर्हन करें।

इसके अलावे उपायुक्त ने विभिन्न प्रखण्डों की दीदियों से अपील करते हुए कहा कि कोविड रोकथाम का सबसे कारगर उपाय टीका है, ऐसे में शत प्रतिशत टीकाकरण ही हम सभी का उद्देश्य हो। साथ हीं कोविड संक्रमण को लेकर उपायुक्त द्वारा जानकारी देते हुए कहा कि महामारी को रोकने में टीकाकरण सबसे प्रभावशाली तरीका है। इस संदर्भ में जिले के 45 से अधिक उम्र के लोगों का शत प्रतिशत टीकाकरण को लेकर जिला प्रशासन प्रयासरत है। सुरक्षित गांव, हमर गाव अभियान के तहत लक्ष्य को पूरा करने के लिए पंचायत से लेकर प्रखंड स्तर के टीम का गठन किया गया। अभियान में पंचायत स्तर पर सभी पदाधिकारियों, कर्मचारियों तथा सहिया, स्वयं सहायता समूह के सदस्य को जोड़ा गया है, ताकी शत प्रतिशत जनमानस को कोविड टिका से लाभान्वित किया जा सके। आगे उन्होने कहा की कोरोना वैक्सीन से जुड़ी कई प्रकार की भ्रांतियां इंटरनेट मीडिया के माध्यम से आ रही हैं, जो भ्रामक और अपुष्ट हैं। इसको लेकर उन्होने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है, कोविड-19 वैक्सीन से जुड़ी किसी भी तरह की भ्रांति या अपुष्ट जानकारी पर ग्रामीण ध्यान नहीं दें। विशेष अभियान के तहत टीकाकरण केंद्रों में 45 वर्ष या उससे अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। योग्य व्यक्ति नजदीकी टीकाकरण स्थल पर जाकर टीका लगवा सकते हैं। उन्होंने सरकार व जिला प्रशासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पूर्ण अनुपालन करने के लिए उपस्थित लोगों को प्रोत्साहित भी किया।

■ #DeogharMart की पहल लोगों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा-उपायुक्त….

वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के दौरान उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गयी कि देवघर जिला से जुड़े सामग्रियों के साथ लघु एवं कुटीर उद्योग यथा-पेड़ा उद्योग, लोहारगिरी उद्योग, मिट्टी के बर्तन निर्माण, सिलाई-कढ़ाई, बंबू उद्योग, लाह चुड़ी व लहठी उद्योग, जेएसलपीएस की दीदियों द्वारा निर्मित समान के अलावा स्थानीय लोगों द्वारा निर्मित सामानों को सूचीबद्ध किया जा रहा है। साथ ही विक्रय हेतु सामानों को बेहतर करते हुए उनके गुणवत्ता में सुधार एवं उनके बाजारीकरण की व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए इन उद्योगों को राज्य, देश के साथ-साथ विश्व स्तर पर ख्याति दिलाने का प्रयास किया जाएगा। ऐसे में आवश्यक है कि आप सभी एसएचजी की दीदी भी अपने द्वारा बनाये सामानों की जानकारी से जिला प्रशासन को अवगत करायें, ताकि संबंधित विभाग के अधिकारी जमीनी स्तर पर कार्य करते हुए स्थानीय लोगों द्वारा बनाये जा रहे सामग्रियों को चिन्ह्ति करते हुए देवघर मार्ट से जोड़ सके।

 

■ कोविड नियमों का अनुपालन अति महत्वपूर्णः-उपायुक्त….

बैठक सह परिचर्चा के दौरान उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री द्वारा जानकारी दी गई है कि स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने के उद्देश्य से व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है, ताकि 194 पंचायत में वैक्सीनशन, कोविड टेस्टिंग, स्वास्थ्य व्यवस्था की निगरानी को लेकर (सुरक्षित गांव, हमर गांव) ग्रुप बनाते हुए पंचायत स्तर के जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों व कर्मियों को जोड़ा गया है, ताकि पंचायत स्तर की आवश्यकताओं को देखते हुए उसे त्वरित पूरा किया जा सके। ऐसे में आप सभी से मेरा आग्रह होगा कि लोगों को जागरूक करने में आप सभी की भूमिका सराहनीय है। वही दूसरी ओर हम सभी जानते हैं की वर्तमान में देश के 10 संवेदनशील जिलों में देवघर जिला शामिल है। जहाँ कभी भी कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में अपने-अपने स्तर से सभी को सतर्क, सजग और सावधान रहने की आवश्यकता है, ताकि संक्रमण फैलने का खतरा न रहें।

इस दौरान बैठक में उपरोक्त के अलावे जिला सूचना विज्ञान पदाधिकारी ए बी रॉय, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी रोहित कुमार विद्यार्थी एवं संबंधित विभाग के अधिकारी एवं विभिन्न प्रखंडो से 1000 से अधिक की संख्या में एसएचजी की दीदी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page