रेलवे ने पिछले 10 महीनों में अब तक की सबसे अधिक माल ढुलाई का रिकॉर्ड बनाया

Font Size

नयी दिल्ली : कोविड चुनौतियों के बावजूदभारतीय रेलवे ने जून 2021 में आय और माल ढुलाई के रूप में उच्चगति को बरकरार रखा है।

मिशन मोड में जून 2021 मेंभारतीय रेलवे ने 112.65 मिलियन टन माल की ढुलाई की, जो जून 2019 (101.31 मिलियन टन) की तुलना में 11.19 प्रतिशत अधिक है।यह एक सामान्य वर्ष था।इसी अवधि के लिए यानिजून 2020 (93.59 मिलियन टन) की तुलना में यह ढुलाई 20.37 प्रतिशत अधिक रही है।

जून 2021 के दौरान ढुलाई की गई महत्वपूर्ण वस्तुओं में 50.03 मिलियन टन कोयला, 14.53 मिलियन टन लौह-अयस्क, 5.53 मिलियन टन कच्चा लोहा और तैयार स्टील, 5.53 मिलियन टन खाद्यान्न, 4.71 मिलियन टन उर्वरक, 3.66 मिलियन टन खनिज तेल शामिल है। 6.59 मिलियन टन सीमेंट (क्लिंकर को छोड़कर) और 4.28 मिलियन टन क्लिंकर शामिल है।

जून 2021 के महीने में, भारतीय रेलवे ने माल ढुलाई से 11,186.81 करोड़ रुपये की आय अर्जित की, जो जून 2020 की तुलना में 26.7 प्रतिशत अधिक (8,829.68 करोड़ रुपये) और जून 2019 की तुलना में 4.48 प्रतिशत अधिक (10,707.53 करोड़ रुपये) है।

गौरतलब है कि रेलवे माल ढुलाई को आकर्षक बनाने के लिए भारतीय रेलवे में कई तरह की रियायतें/छूट भी दी जा रही हैं।

यह उल्लेखनीय है कि मौजूदा नेटवर्क में मालगाड़ियों की गति बढ़ा दी गई है।

माल ढुलाई की गति में सुधार से सभी हितधारकों के लिए लागत की बचत होती है। पिछले 19 महीनों में माल ढुलाई की गति दोगुनी हो गई है।

भारतीय रेलवे द्वारा कोविड-19 का उपयोग चौतरफा दक्षता और प्रदर्शन में सुधार के अवसर के रूप में किया गया है।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: