अब नेपाल पुलिस भी भारतीयों पर फायरिंग करने लगी , तनाव बढ़ा

Font Size

नई दिल्ली-पटना, 12जून । नक्शा विवाद के बाद अब भारतीयों पर गोलीबारी से नेपाल के साथ तनाव बढ़ गया है। बिहार के सीतामढ़ी सीमा पर नेपाल की आर्म्ड पुलिस फोर्स (एपीएफ) की गोलीबारी में एक भारतीय की मौत हो गई तो कुछ अन्य घायल हो गए। एक व्यक्ति को नेपाल एपीएफ ने हिरासत में ले लिया है। सशस्त्र सीमा बल मामले की जांच में जुटी है। 


इस घटना में वीकेश यादव (22) की पेट में गोली लगने से मौत हो गई, जबकि उदय ठाकुर (24) और उमेश राम (18) का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 45 वर्षीय लागन यादव को एपीएफ ने हिरासत में ले लिया। 
घटनास्थल सीतामढ़ी जिले के जानकीनगर और नेपाल में सरलाही के बीच में है। अब तक की मिली जानकारी के मुताबिक, यह घटना उस समय हुई जब लागन यादव की बहू नेपाल क्षेत्र में कुछ भारतीयों से बात कर रही थी। लागन यादव की बहू नेपाल की है। भारत नेपाल सीमा पर दोनों तरफ के लोगों में रिश्तेदारी है। दोनों तरफ के लोगों में रोटी-बेटी का संबंध है। हर दूसरे-तीसरे घर में किसी बेटे-बेटी की शादी सीमा के उस पार होती है। सीमा पर तारबंदी भी नहीं है इसलिए लोग एक दूसरे से मिलने आते जाते हैं।


एपीएफ के अधिकारियों ने शुक्रवार को इस मुलाकात पर आपत्ति जताई। इसको लेकर दोनों पक्षों में बहस होने लगी। शोर सुनकर भारतीय क्षेत्र से 75-80 लोग मौके पर जुट गए। एएफपी का कहना है कि उन्होंने पहले हवाई फायरिंग की और फिर हथियार छिन जाने के डर से उन्होंने भीड़ पर गोली चलाई। हालांकि, अभी जांच जारी और आधिकारिक रूप से घटना के कारणों की घोषणा नहीं हुई है।

स्थानीय प्रशासन, पुलिस और एसएसबी के अधिकारी मौके पर हैं। भारत नेपाल सीमा के इस इलाके में सुरक्षा की जिम्मेदारी एसएसबी की 51 बटालियन के तहत है और बॉर्डर पिलर नंबर 319 पर है। भारत-नेपाल के बीच 1,751 किलोमीटर लंबी सीमा पर एसएसबी की तैनाती है। 


सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के डीजी राजेश चंद्र ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा कि यह घटना पूरी तरह स्थानीय मुद्दा है, जो स्थानीय झड़प की वजह से उत्पन्न हुआ। पहले से कुछ नहीं चल रहा था, अचानक ही हुआ। एसएसबी 51 बटालियन के कमांडेंट ने एसपी सरलाही (नेपाल) से बात की है। एसपी सरलाही एसपी सीतामढ़ी के संपर्क में हैं। वह केस दर्ज करेंगे और जांच की जा रही है। एसएसबी डीजी ने कहा कि शुरुआती जांच में मिले तथ्यों के आधार पर गृह मंत्रालय को रिपोर्ट सौंप दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: