85 प्रतिशत के लक्ष्य को हासिल करने के लिए स्ट्रेटजी तैयार करें : अतिरिक्त उपायुक्त

Font Size

राजकीय विद्यालयों के प्रधानाचार्य व अध्यापकों की बैठक में बोले प्रशांत पवार  

3 मार्च से शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षा में समय कम, लक्ष्य निर्धारित करके बढ़े आगे

जिला के पिछले 3 वर्षों में बोर्ड परिणामों की भी समीक्षा की

गुरुग्राम 10 फरवरी । गुरुग्राम के अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पवार ने कहा कि 3 मार्च से शुरू होने वाली बोर्ड की परीक्षाओं के लिए प्रधानाचार्य व अध्यापक 85% का लक्ष्य निर्धारित करें और इसके लिए विशेष स्ट्रेटेजी बनाकर काम करें ताकि विद्यार्थी अच्छे अंकों से उत्तीर्ण हो। श्री पवार आज राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय चकरपुर में जिला के राजकीय विद्यालयों के प्रधानाचार्य व अध्यापकों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने जिला के पिछले 3 वर्षों में बोर्ड परिणामों की भी समीक्षा की और कहा कि इस बार बोर्ड की परीक्षाओं में अध्यापक 85% के लक्ष्य के साथ आगे बढ़े ताकि विद्यार्थियों के अच्छे अंक आए । उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी , खंड शिक्षा अधिकारी व सभी स्कूलों के प्रधानाचार्यो को निर्देश दिए कि वे बोर्ड परीक्षाओं तक सभी विद्यार्थियों की एक्स्ट्रा क्लास लगाएं और उनके रूटीन बेस पर क्लास टेस्ट लें।

अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पवार ने कहा कि विद्यार्थियों को अधिक से अधिक पिछले वर्ष के क्वेश्चन पेपर रिवाइज करवाए व इन बीस दिनों के भीतर हर विद्यार्थी पर कड़ी मेहनत करें । उन्होंने कहा कि अध्यापक कल से ही अपने विद्यालयों में एक कार्यप्रणाली बनाए ताकि विद्यार्थियों का रुझान पढ़ाई की ओर बढ़े। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि आने वाले 20 दिनों तक सभी 2 घंटे एक्स्ट्रा बच्चो की पढ़ाई पर ध्यान दे क्योंकि आपके 2 घंटे का प्रयास किसी का भविष्य बदल सकता है । उन्होंने कहा कि हमें स्वामी विवेकानंद के दिखाए मार्ग पर चलना चाहिए और ‘उठो जागो और तब तक मत रुको जब तक आपका लक्ष्य प्राप्त ना हो जाए’ का अनुसरण करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह खुशी की बात है कि पिछले 3 वर्ष में जिला गुरुग्राम ने लगातार अपने बोर्ड परिणामों में अच्छा प्रदर्शन किया है । उन्होंने कहा कि जहां वर्ष 2016-17 में बोर्ड परिणामों का स्कोर सिर्फ 39 प्रतिशत था , वहीं 2017-18 में यह 47 प्रतिशत के पार हुआ व पिछले वर्ष यह 62 प्रतिशत रहा वहीं इस वर्ष का लक्ष्य 85 प्रतिशत के पार जाना है।

बैठक में उपस्थित जिला शिक्षा अधिकारी प्रेमलता ने अतिरिक्त उपायुक्त को बताया कि जिला के सभी स्कूलों के परिणामों को और बेहतर करने के लिए विशेष क्लासेज लगाई जा रही हैं ताकि हर विद्यार्थी पर विशेष रुप से ध्यान दिया जा रहा है । उन्होंने बताया कि सभी स्कूलों में रोजाना बच्चों के टेस्ट लिए जा रहे हैं व शनिवार को भी उनकी एक्स्ट्रा क्लास ली जा रही है ताकि वे परीक्षाओं के दौरान बेहतर से बेहतर परिणाम ला सके।

सक्षम योजना पर बोलते हुए उन्होंने बताया कि जिला के दो ब्लॉक सक्षम हो चुके है और दो सक्षम होने के बहुत करीब है । उन्होंने विश्वास दिलाया कि गुरुग्राम बोर्ड परीक्षाओं में 85 प्रतिशत के लक्ष्य को अवश्य प्राप्त करेगा व 10वी व 12वी परीक्षा में एक नया रिकॉर्ड दर्ज करेगा ।

इस दौरान एससीईआरटी की निदेशक किरण मई ने कहा कि गुरुग्राम जिला सक्षम होने की दिशा में हर संभव प्रयास कर रहा है व जिला इस बोर्ड परीक्षा के दौरान भी अपने लक्ष्य को निश्चित तौर पर हासिल करेगा । उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को सक्षम बनाने के साथ साथ हमें खुद भी एक साथ मिलकर पूरे जिले को सक्षम बनाने की दिशा में प्रयास करने होंगे । उन्होंने कहा कि पहले 60 प्रतिशत अंकों का बहुत महत्व होता था परंतु अब वही महत्व 95 प्रतिशत अंकों का है , वह दिन दूर नहीं जब गुरुग्राम जिला का हर बच्चा 90 प्रतिशत अंक हासिल करेगा और प्रदेश में नाम रोशन करेगा

इस मौके पर गुरुग्राम के अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पवार के साथ ,एससीईआरटी की निदेशक किरणमई, जिला शिक्षा अधिकारी प्रेमलता , डीपीसी रितु चोधरी ,मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी चाहत संघवी , फरुकनगर के खंड शिक्षा अधिकारी आनंद सिंह, सोहन के खंड शिक्षा अधिकारी अनिल मेहताज, पटौदी के खंड शिक्षा अधिकारी धर्मपाल, स्कूल प्रधानाचार्य अंजना , प्रधानाचार्य प्रथ्वी राज सहित शिक्षा विभाग से जुड़े कई अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: