जनवरी माह के तीसरे सप्ताह में आधार कार्ड के लिए 10 दिवसीय कैम्प का आयोजन

Font Size

चंडीगढ़। हरियाणा की मुख्य सचिव केशनी आनन्द अरोड़ा ने सभी जिला उपायुक्तों को वर्ष 2020 के जनवरी माह के तीसरे सप्ताह में आधार बनवाने और आधार के अपडेशन के लिए 10 दिवसीय कैम्प आयोजित करने के निर्देश दिए हैं।
यह निर्देश आज यहां हरियाणा की मुख्य सचिव श्रीमती केशनी आनन्द अरोड़ा की अध्यक्षता में यूआईडीएआई, विभिन्न विभागों के अधिकारियों और सभी जिला उपायुक्तों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में दिए गए।
मुख्य सचिव ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 10 दिवसीय कैम्प के दौरान अधिक से अधिक नागरिकों का आधार बनाना और अपडेशन करने का कार्य किया जाए और इस अभियान के दौरान आधार कार्ड बनवाने हेतू अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाए तथा प्रत्येक जिले में 2 मोबाइल वैन चलाई जाएं। उन्होंने कहा कि आगामी सुरजकुण्ड मेले के दौरान युआईडीएआई द्वारा स्टॉल लगाकर आधार संबंधी जानकारी आमजन तक पहुंचाई जाएं। उन्होंने कहा कि जिन खंडों में आधार बनाने के लिए एनरोलमेंट किट आवश्यकतानुसार उपलब्ध नहीं है या काम नहीं कर रही हैं, इसकी सूचना आईटी विभाग को भेजें ताकि इन्हें किटों को उपलब्ध करवाया जा सके।
श्रीमती अरोड़ा ने कहा कि जनवरी माह में लगने वाले कैम्प के अलावा प्रत्येक माह में 4-4 दिन के कैम्प लगाए जाएं। निजी स्कूलों में भी यह कैंपेन चलाया जाए। इसके लिए स्कूलों और कॉलेजों में शाम के समय में सीएससी एवं पोस्टल विभाग को आधार बनाने की अनुमति दी जाए ताकि 5 साल और 15 साल के बच्चों के बायोमैट्रिक अपडेशन का कार्य आसानी से किया जा सके। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि 5 साल तक के बच्चों का आधार अस्पतालों में बनाना सुनिश्चित किया जाए।
बैठक में बताया गया कि 30 नवंबर, 2019 तक हरियाणा में कुल 2 करोड़ 88 लाख 24 हजार 146 आधार कार्ड बनाए जा चुके हैं, जिसमें 5 साल आयु वर्ग के 20 लाख 84 हजार 656, 5 से 18 वर्ष आयु वर्ग के 66 लाख 6 हजार 783 और 18 साल और उससे अधिक आयु वर्ग के 2 करोड़ 1 लाख 32 हजार 707 नागरिकों के आधार कार्ड बनाना शामिल हैं। बैठक में बताया गया कि हरियाणा 5 वर्ष तक के बच्चों के आधार बनाने के मामले में भारत में पहले स्थान पर है। इसके अलावा, राज्य के सभी नागरिकों का आधार बनाने में देश में दूसरे और 5 से 18 वर्ष आयु वर्ग के आधार बनाने के मामले में तीसरे स्थान पर है।
बैठक में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री धनपत सिंह, खाद्य, आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी. के. दास, स्कूल शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री महावीर सिंह, इलेक्ट्रॉनिक और सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के प्रधान सचिव श्री अंकुर गुप्ता, श्रम विभाग के प्रधान सचिव श्री विनीत गर्ग, सामाजिक, न्याय एवं अधिकारिता विभाग की प्रधान सचिव श्रीमती नीरजा शेखर सहित अन्य वरिष्ठï अधिकारी उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: