हरियाणा में विधानसभा चुनाव की मॉनिटरिंग के लिए पहली बार बनाया गया हाइटेक स्टेट कंट्रोल रूम

Font Size

सी-विजिल और सोशल मीडिया पर रखी जा रही है पैनी नजर

सी-विजिल के माध्यम से आमजन करें आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत
चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अनुराग अग्रवाल ने आमजन से अनुरोध किया है कि वे सीविजल मोबाइल एप के माध्यम से आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन होने की शिकायत दर्ज करवाएं और चुनावों को निष्पक्ष, स्वच्छ और पारदर्शी तरीके से सम्पन्न करवाने में अपना महत्वपूर्ण सहयोग दें।
अनुराग अग्रवाल ने आज यहां स्टेट कंट्रोल रूम का अवलोकन किया और सी-विजिल व सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आने वाली शिकायतों का जायजा लिया। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डी. के. बेहरा, नोडल अधिकारी, सोशल मीडिया राजनारायाण कौशिक, संयुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. इन्द्र जीत भी उपस्थित थे।
श्री अनुराग अग्रवाल ने कहा कि राज्य में पहली बार चुनावी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए हाइटेक स्टेट कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसमें सोशल मीडिया, सी-विजिल और प्रदेशभर में चालू नाकों पर पैनी नजर रखी जा रही है ताकि विधानसभा आम चुनाव-2019 के दौरान आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की जानकारी तुरंत मिल सके और आवश्यक कार्रवाही अमल में लाई जा सके।
उन्होंने बताया कि इस कंट्रोल रूम में सी-विजिल पर आने वाली शिकायतों की मॉनिटरिंग की जा रही है और आयोग के निर्देशानुसार 100 मिनटों में शिकायतों का निराकरण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आज तक सी-विजल पर 870 शिकायतें प्राप्त हुई हैं, जिनमें से 862 का निवारण हो चुका है। उन्होंने बताया कि आज तक कैथल से सबसे ज्यादा शिकायतें सी-विजिल पर प्राप्त हुई हैं जो कुल शिकायतों का 25 प्रतिशत है।
श्री अग्रवाल ने बताया कि कंट्रोम रूम के माध्यम से पूरे प्रदेश में फलाइंग स्कवाइड, सटेटिक सर्विलेंस टीमों की लाइव जानकारी रहती है और सी-विजिल एप पर जिस स्थान से शिकायत प्राप्त होती है तो निकट टीमें तुरंत वहां पहुंच जाती हैं। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि नागरिक गूगल प्ले स्टोर से इस एप्लिकेशन को एंड्राइड फोन तथा एप स्टोर से आई फोन पर डाउनलोड कर सकते हैं। आमजन फोटो खींच सकते हैं या दो मिनट की वीडियो भी रिकॉर्ड करके इस एप पर अपलोड कर सकते हैं। वह फोटो और वीडियो जीपीएस लोकेशन के साथ एप पर अपलोड हो जाएगी। शिकायत दर्ज करने के बाद 20 मिनट के भीतर ही संबंधित टीम लोकेशन पर पहुंच जाएगी और 100 मिनटों में शिकायत का समाधान किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि 21 अक्तूबर, 2019 मतदान वाले दिन लगभग 2 हजार बूथों की वेब कास्टिंग की जाएगी और उसकी मॉनिटरिंग भी इसी कंट्रोल रूम में की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: