हरियाणा में अब नगर परिषदों व नगरपालिकाओं के अध्यक्षों के चुनाव भी सीधे करवाये जाएंगे

Font Size

चंडीगढ़ । हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पंचायती राज संस्थानों व स्थानीय निकायों को जनप्रतिनिधि के रूप में और अधिक सशक्त करने के दृष्टिगत हरियाणा में पहली बार नगर निगमों के मेयर पद के सीधे करवाए गए चुनावों की तर्ज पर अब नगर परिषदों व नगरपालिकाओं के अध्यक्षों के चुनाव भी सीधे करवाने का प्रस्ताव तैयार किया है। इसके अलावा, जिला परिषदों व नगर निगम के सदस्यों के लिए विधानसभा की तर्ज पर हर तीन महीने बाद तीन दिन का सत्र बुलाने को भी मुख्यमंत्री ने सैद्घांतिक स्वीकृति प्रदान की है।

यह जानकारी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री श्री कृष्ण कुमार बेदी ने कल हुई मंत्रिमंडल की अनौपचारिक बैठक में जिन मुद्दों पर हुई चर्चा की जानकारी देने के लिए आज यहां बुलाए गए एक पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए दी।

बैठक में जिन महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई उनमें लोक सभा चुनाव में पार्टी को दिए गए प्रचंड बहुमत के लिए लोगों का आभार व्यक्त करने के लिए मुख्यमंत्री संभवत: 18 अगस्त से कालका से ‘जन आर्शीवाद यात्रा’ आरंभ करेंगे जो 8 सितम्बर तक चलेगी और यह इस दिन ‘विजय संकल्प रैली’ के रूप में समाप्त होगी। एक दिन में मुख्यमंत्री छ: विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेंगे। इसके अलावा, मुख्यमंत्री 14 जुलाई से हर जिले में राहगिरी कार्यक्रम की भी शुरूआत करेंगे और हर जिले में यह सुबह एक घंटे की अवधि का होगा। मुख्यमंत्री हिसार से वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से राहगिरी कार्यक्रम से जुड़ेंगे और अब तक जितने भी राहगिरी कार्यक्रम चलाए गए हैं उनमें बेहतर प्रदर्शन करने वाले व भागीदारी करने वाले गैर-सरकारी संगठनों, समाज के प्रबुध लोगों को सम्मानित भी किया जाएगा।

एसवाईएल मुद्दे पर सर्वोच्च न्यायालय द्वारा कल दिए गए दिशा-निर्देशों के बारे पूछे जाने पर श्री बेदी ने कहा कि अब तक न्यायालय के आदेशों की प्रति प्राप्त नहीं हुई है। पंजाब व हरियाणा के मुख्यमंत्री व अधिकारी या केन्द्र सरकार के अधिकारी संयुक्त रूप से मिलकर बैठक कर न्यायायलय के आदेशों पर चर्चा करेंगे कि किस एजेंसी से एसवाईएल का कार्य करवाना है। यह मुद्दा हमारे लिए महत्वपूर्ण है और पानी पर हमारा हक है।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग में पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति घोटाले के बारे पूछे जाने पर श्री बेदी ने कहा कि कुछ मामले वर्ष 2012-13 के भी हैं। मुख्यमंत्री ने स्वयं इस मामले पर संज्ञान लिया है और हरियाणा राज्य सतर्कता ब्यूरो को इसकी जांच सौंपी जा चुकी है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही तथ्यों का पता चल पाएगा। वैसे इस प्रकार के वित्त मामलों से जुड़े मुद्दे मंत्री स्तर पर नहीं आते। निदेशालय स्तर पर ही देखे जाते हैं।

सपना चौधरी के पार्टी में शामिल होने पर जननायक जनता पार्टी के नेता दिग्विजय चौटाला द्वारा की गई टिप्पणी पर पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में श्री बेदी ने कहा कि स्वर्गीय चौधरी देवीलाल कहा करते थे कि लोक राज लोक लाज से चलता है। परन्तु उस परिवार की नैतिकता आज किस स्तर तक पहुंच गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: