कठुआ में बोले नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के मुकाबले भाजपा को तीन गुना ज्यादा मिलेगी

Font Size

श्रीनगर । जम्मू कश्मीर के कठुआ में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबा साहब भीमराव अंबेडकर को नमन किया और कहा कि आज देश के संविधान निर्माता डॉक्टर अंबेडकर की जन्म जयंती है। इस अवसर में मैं बाबा साहब को कोटि-कोटि नमन करता हूं और उन्हें अपनी श्रद्धांजलि देता हूं। इसी के साथ मोदी ने सभी को बैसाखी की भी बधाइयाँ दी। रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने शहीदों को याद किया और कहा कि जम्मू कश्मीर में शहीद हुए हर भाजपा कार्यकर्ता, हर देशभक्त नागरिक और उनके परिवारों को मैं नमन करता हूं।

मोदी ने आगे कहा कि राजनीति अपनी जगह होती है, चुनाव अपनी जगह हैं, नेता भी आते जाते रहते हैं, लेकिन हमारा ये देश हमेशा रहेगा। ये देश है तभी राष्ट्र रक्षा का भाव है, राष्ट्रवाद है। लेकिन देश में कुछ लोग मोदी के विरोध में इतने डूब गए हैं कि उनको राष्ट्रवाद गाली नज़र आने लगा है। महामिलावटी और उनके रागदरबारी आए दिन सवाल पूछते हैं कि मोदी राष्ट्र रक्षा की बात क्यों करता है।

उन्होंने कहा कि जम्मू और बारामुला में भारी मतदान कर आपने आतंकियों के आकाओं, पाक परस्तों और निराशा में डूबे महामिलावटियों को कड़ा जवाब दिया है। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी ने सेना के पराक्रम को हमेशा कमतर करके आँका। मलाई खाने के इलावा कांग्रेस के लिए सेना का कोई महत्व नहीं। जलियांवाला बाग घटनाक्रम का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि कल उपराष्ट्रपति महोदय सरकार के अधिकृत कार्यक्रम में जलियांवाला बाग शहीदों को श्रद्धांजलि देने वहां गए थे। लेकिन उनके इस कार्यक्रम में कांग्रेस के मुख्यमंत्री गायब थे। उन्होंने इस कार्यक्रम का बहिष्कार इसीलिए किया क्योंकि वो कांग्रेस परिवार की भक्ति में जुटे हुए ।।

विपक्षियों को निशाने में लेते हुए मोदी ने कहा कि बीते कुछ दिनों में आपने भी देखा कि किस तरह कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी की महामिलावट पूरी तरह से एक्सपोज़ हो गई है। बरसों से जो इनके मन में था, जो वो चाहते थे, चोरी छिपे जिसके लिए काम कर रहे थे, वो अब खुलेआम सामने आ गया है। हालांकि इस रैली में प्रधानमंत्री ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी का भी जिक्र किया और कहा कि यही वो धरती है, यही वो जगह है जहां पर श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने तिरंगा फहराया था। देश विरोधी हर ताकत को उन्होंने ललकारा था कि एक देश में दो विधान, दो प्रधान, औऱ दो निशान नहीं चलेंगे। उन्होंने आगे कहा कि श्यामा प्रसाद जी का वो उद्घोष, भारतीय जनता पार्टी के लिए वचनपत्र है, पत्थर की वो लकीर है जिसे कोई मिटा नहीं सकता। ये भाजपा का हमेशा से कमिटमेंट रहा है और देश का ये चौकीदार भी इसी भावना पर अटल है और अटल रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: