2019 के लोस चुनाव में मोदी के खिलाफ क्यों नहीं लड़ेंगे केजरीवाल ?

Font Size

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती नहीं देंगे। दरअसल, 2014 के लोकसभा चुनाव में वाराणसी सीट से नरेंद्र मोदी के खिलाफ ताल ठोंकने वाले अरविंद केजरीवाल 2019 में आम चुनाव ही नहीं लड़ेंगे। बताया जाता है कि आम आदमी पार्टी पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से किसी अन्य मजबूत प्रत्याशी की तलाश में है। आप के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने कहा है कि अरविंद केजरीवाल दिल्ली पर ध्यान देना केन्द्रित करना चाहते हैं इसलिए वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे।

राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने दावा किया है कि अरविंद केजरीवाल ने 2014 में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के तत्कालीन दावेदार नरेंद्र मोदी को वाराणसी सीट पर कड़ी चुनौती दी थी। 2014 लोकसभा चुनाव में वह मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़े और दूसरे स्थान पर रहे थे। संजय सिंह के मुताबिक, आम आदमी पार्टी दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, गोवा और चंडीगढ़ की सभी लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी, वहीं उत्तर प्रदेश की कुछ सीटों पर चुनाव लड़ेगी। संजय सिंह का कहना है कि दिल्ली में उनकी पार्टी की सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य, किसान, बिजली, पानी की प्राथमिकताओं पर काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि अगर हम राष्ट्रीय राजनीति में जाएंगे तो सभी के लिए शिक्षा, कमजोर तबकों को निःशुल्क शिक्षा, बेरोजगारी खत्म करने और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू कराने के मुद्दे लेकर जनता के बीच जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने वाराणसी लोकसभा सीट से विजयी हुए थे। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल को 3,71,784 मतों से हराया था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *