निजी एफ.एम. रेडियो को आकाशवाणी के समाचार बुलेटिन प्रसारित करने की अनुमति

Font Size

सहयोगी प्रयास भारत के नागरिकों को सूचित, शिक्षित और सशक्‍त बनायेगा : कर्नल राज्‍यवर्धन राठौड़

प्रसारण परीक्षण आधार पर शुरू में 31 मई, 2019 तक नि:शुल्‍क होगा

सुभाष चौधरी 

नई दिल्ली : केन्‍द्रीय सूचना और प्रसारण राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) तथा युवा मामले और खेल राज्‍य मंत्री कर्नल राज्‍यवर्धन राठौड़ ने आज निजी एफ.एम. प्रसारकों के साथ आकाशवाणी के समाचार साझा करने के कार्यक्रम का उद्घाटन किया। यह प्रसारण परीक्षण आधार पर शुरू में 31 मई, 2019 तक नि:शुल्‍क होगा।

http://pibphoto.nic.in/documents/rlink/2019/jan/i20191801.jpg

निजी एफ.एम. रेडियो प्रसारकों को आकाशवाणी के समाचार बुलेटिनों को समाचार कार्यक्रम में दी गई बुलेटिनों की सूची के अनुसार अंग्रेजी / हिन्‍दी में प्रसारित करने की अनुमति होगी।

समाचार बुलेटिन को प्रसारित करने के इच्‍छुक निजी एफ.एम. प्रसारक को आकाशवाणी के समाचार सेवा प्रभाग के साथ http://newsonair.com साइट पर पंजीकृत कराना होगा। आकाशवाणी के समाचार बुलेटिन मूल रूप में बिना किसी परिवर्तन के प्रसारित किये जायेंगे। न्‍यूज बुलेटिनों के दौरान प्रसारित होने वाले वाणिज्यिक विज्ञापन मूल रूप में ही समाचारों के साथ प्रसारित होंगे। निजी एफ.एम. प्रसारकों को बुलेटिन प्रसारण के लिए आकशवाणी को उचित क्रेडिट देनी होगी।

निजी एफ.एम. प्रसारक समाचारों को आकाशवाणी के न्‍यूज बुलेटिनों के साथ-साथ प्रसारित करेंगे। लाईव प्रसारण को 30 मिनट से अधिक स्‍थगित नहीं किया जा सकता। लाईव प्रसारण के स्‍थगन की स्थिति में पहले यह घोषणा करनी होगी कि लाईव प्रसारण स्‍थगित किया गया है। किसी एफ.एम. रेडियो चैनल द्वारा आकाशवाणी के समाचारों का प्रसारण नियम और शर्तें स्‍वीकार करने के बाद ही किया जा सकता है। नियम और शर्तें http://newsonair.com/Broadcaster-Reg-TnC.aspx. पर उपलब्‍ध हैं।

इस अवसर पर कर्नल राठौड़ ने इस पहल के लिए सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सभी अधिकारियों को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता लोगों की जागरूकता सुनिश्चित करनी है। इसलिए यह सेवा निशुल्‍क उपलब्‍ध करायी गई है। उन्‍होंने कहा कि जागरूक नागरिक सशक्त नागरिक होता है। कर्नल राठौड़ ने कहा कि यह भारत के सभी रेडियो स्‍टेशनों को एक साथ लोगों को सूचित, शिक्षित और सशक्‍त बनाने का सहयोगी प्रयास है।

http://pibphoto.nic.in/documents/rlink/2019/jan/i20191802.jpg

अपने टेलीविजन संदेश में प्रसार भारती के अध्‍यक्ष ए. सूर्य प्रकाश ने सहयोग और तालमेल के इस युग में इसे महत्‍वपूर्ण पहल बताया। भारत के रेडियो ऑपरेटरों के एसोसिएशन की अध्‍यक्ष सुश्री अनुराधा प्रसाद ने समाचार प्रस्‍तुत करने के निजी रेडियो प्रसारकों की पुरानी मांग स्‍वीकार करने के लिए सरकार को धन्‍यवाद दिया। आकाशवाणी के समाचार सेवा प्रभाग की महानिदेशक ईरा जोशी ने इस पहल को नया और ऐतिहासिक बताया।

इस अवसर पर सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सचिव अमित खरे, प्रसार भारती के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी शशि शेखर वेमपति, पीआईबी के प्रधान महानिदेशक  सितांशु कार, प्रसार भारती के सदस्‍य (वित्‍त)  राजीव सिंह, आकाशवाणी के महानिदेशक  एफ. शहरयार तथा अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्ति उपस्थित थे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *