अब रामलला दर्शन कर मुम्बई लौट जाएंगे उद्धव ठाकरे , जनसंवाद की नहीं मिली अनुमति

Font Size

अयोध्या। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अब 24 नवंबर को अयोध्या में संतों से आशीर्वाद के बाद अगले दिन रामलला का दर्शन कर लौट जाएंगे। उनको फैजाबाद के गुलाबबाड़ी में जन संवाद कार्यक्रम की अनुमति नहीं मिली है। प्रशासन ने पहले ही स्थल को संवेदनशील बताया था। अयोध्या आए शिवसेना सांसद संजय राउत ने बुधवार को कहा कि उद्धव ठाकरे 24 को अपराह्न लक्ष्मण किला में ही संत-धर्माचार्यों का सम्मान करेंगे।

इसके बाद सरयू आरती और अगले दिन रामलला का दर्शन कर पत्रकारों से वार्ता करेंगे, फिर फैजाबाद हवाई पट्टी से खास विमान से मुंबई के लिए उड़ान भरेंगे। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने बुधवार को लक्ष्मण किला में विधि-विधान पूर्वक भूमि पूजन के बाद स्पष्ट किया कि शिवसेना कोई सभा नहीं करने जा रही है। हमने जनसभा की अनुमति न मांगी है, न मांगेंगे। हमारा जनसभा का कार्यक्रम नहीं है, हमारा आशीर्वाद व रामलला के दर्शन का कार्यक्रम है।

कहा कि 26 वर्षों तक इंतजार किया कि केंद्र में पूर्ण बहुमत वाली रामलला की सरकार आएगी तो मंदिर का निर्माण होगा। अब केंद्र में रामलला की सरकार बन गई है। इसके बावजूद राम का मंदिर नहीं बना। यही याद दिलाने के लिए उद्धव ठाकरे अयोध्या आ रहे हैं। शिवसेना के राष्ट्रीय प्रवक्ता सांसद संजय राउत ने कहा कि जिस भूमि पर हम खड़े हैं उस पर सम्मान होगा। महंत नृत्यगोपाल दास की अध्यक्षता में सभी साधु-संतों का उद्धव ठाकरे को आशीर्वाद मिलेगा।

एक सवाल के जवाब में कहा कि अयोध्या की कानून व्यवस्था अच्छी रहनी चाहिए। हमारी मुख्यमंत्री से मुलाकात हुई। हमारा जो 24 व 25 को कार्यक्रम है, उसकी पूरी जानकारी हमने दे दी है। जनसभा के सवाल पर कहा कि अयोध्या के पक्षकार भी उद्धव जी से मिलना चाहते हैं। हम मिलेंगे लेकिन ऐसा कोई काम नहीं करेंगे जिससे अयोध्या का सिस्टम बिगड़ जाए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *