मोदी और पुतिन शुक्रवार को उज़बेकिस्तान में मिलेंगे

Font Size

 -भारतीय बाजार के रूसी उर्वरकों से “भर जाने” के मुद्दों पर बातचीत होगी

नई दिल्ली : भारत  और रूस के बीच रणनीतिक स्थिरता, एशिया पैसिफिक क्षेत्र के हालात, और बड़े बहुपक्षीय फॉर्मेटों जैसे संयुक्त राष्ट्र , जी20 और एससीओ (SCO) में सहयोग को लेकर चर्चा होनी है.

रूसी संसद ने बताया है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  शुक्रवार को उज़बेकिस्तान में मिलने वाले हैं. इस दौरान आपसी व्यापार और भारतीय बाजार के रूसी उर्वरकों से “भर जाने” के मुद्दों पर बातचीत होगी. यह बैठक शंघाई सहयोग संगठन की बैठक से हट कर होगी. अंतर्राष्ट्रीय मिडिया की खबरों के अनुसार मीडिया को मीटिंग से जुड़ी सामग्री दी गई है जिसमें कहा गया है कि , ” इस बैठक के दौरान भारतीय बाजार के रूसी उर्वरकों से “भर जाने” और द्विपक्षीय खाद्य सामग्री की सप्लाई को लेकर चर्चा की योजना है.”

दोनों नेताओं के बीच रणनीतिक स्थिरता, एशिया पैसिफिक क्षेत्र के हालात, संयुक्त राष्ट्र और जी20 के फ्रेमवर्क में द्विपक्षीय सहयोग को लेकर भी बातचीत होने की संभावना है.  रूसी राष्ट्रपति के सहायक यूरी यूशाकोव के हवाले से बताया गया है कि अंतरराष्ट्रीय एजेंडा को लेकर भी प्रधानमंत्री मोदी के साथ बातचीत होनी है. भारत और रूस रणनीतिक स्थिरता, एशिया पैसिफिक क्षेत्र के हालात, और बड़े बहुपक्षीय फॉर्मेटों जैसे संयुक्त राष्ट्र, जी20 और एससीओ में सहयोग को लेकर भी चर्चा होनी है.”

Leave a Reply

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: