केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने पुराने गुड़गांव के मामले में अधिकारियों को हड़काया, मेट्रो, यूनिवर्सिटी और मेडिकल कालेज को लेकर किया जवाब तलब

Font Size

-केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने अधिकारियों के साथ की विकास कार्यों की समीक्षा

  • कहा , विकास कार्यों को गति देकर कोविड के दो वर्षों की कमी को पूरा करें- राव इन्द्रजीत सिंह
  • -हीरो होंडा चौक से उमंग भारद्वाज चौक तक ऐलिवेटिड हाईवे बनवाने के किए जाएंगे प्रयास- राव

  • -पुराने शहर में मेट्रो कनेक्टिविटी , सड़क सुरक्षा , युनिवर्सिटी व मैडिकल कॉलेज आदि बनाने संबंधी विषयो पर अधिकारियो से मांगी रिपोर्ट

  • गुरुग्राम, 10 जून । गुरुग्राम के सांसद एवं केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने आज लघु सचिवालय के सभागार में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर गुरूग्राम में चल रहे विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को विकास कार्यों की गति बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि कोविडकाल के दौरान 2 वर्षों में जो गति धीमी हो गई थी उसकी भरपाई आने वाले 2 सालों में करने का प्रयास करें।
    केन्द्रीय मंत्री ने आज की बैठक में गुरूग्राम में मुख्य रूप से सड़क सुरक्षा उपायों, मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर कार्यों की प्रगति के अलावा जिला में जल संरक्षण के उपाय करते हुए भूमिगत जल स्तर में सुधार लाने संबंधी विषयों पर विस्तार से चर्चा की। तीन घंटे से भी अधिक समय तक चली इस बैठक में उन्होंने अधिकारियों से लंबे समय से लटकी परियोजनाओं को लेकर जवाब तलब भी किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जहां उनके दखल देने की आवश्यकता हो , उसके बारे में उन्हें बताएं लेकिन विकास के काम रूकने नही चाहिए।
    केंद्रीय मंत्री ने सर्वप्रथम सड़क सुरक्षा की बैठक ली जिसमें उन्होंने जिलावासियों का सफर सुविधाजनक बनाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सिविल सोसाइटी के आग्रह पर वे पहली बार सड़क सुरक्षा समिति की बैठक ले रहे हैं। राव ने कहा कि सड़क निर्माण व सुधारीकरण से जुड़ी सभी एजेंसियांे के अधिकारीगण आपसी तालमेल से काम करें और ऐसा नही होना चाहिए कि एक एजेंसी को दूसरी एजेंसी से जुड़े कामों का पता ही ना हो। उन्होंने मुख्य रूप से एमडीआई चौक , शंकर चौक , हीरो होंडा चौक , नरसिंहपुर कट , इफको चौक ,बिलासपुर चौक, टोल प्लाजा पर यातायात सुचारू करने आदि विषयों पर चर्चा की और संबंधित अधिकारियों से उन स्थानों पर यातायात सुगम बनाने के उपायों के बारे में पूछा।

  • -हीरो होंडा चौक से उमंग भारद्वाज चौक तक ऐलिवेटिड हाईवे बनवाने के लिए मिलेंगे गडकरी से

  • समीक्षा के दौरान अधिकारियों ने बताया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा एनएच-48 पर हीरो होंडा चौक से लेकर उमंग भारद्वाज चौक तक की सड़क का निर्माण किया जा रहा है। यह भी बताया गया कि इस मार्ग पर ट्रेफिक जाम की समस्या का स्थाई समाधान हीरो होंडा चौक से लेकर उमंग भारद्वाज चौक तक ऐलिवेटिड हाईवे बनाकर किया जा सकता है। इस पर केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने कहा कि यह ऐलिवेटिड हाईवे बनाने के लिए वे केन्द्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी से मिलकर आग्रह करेंगे और उन्हें विश्वास है कि श्री गडकरी उनके आग्रह को मान लेंगे। उन्होंने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच के अनुरूप आमजनता को राहत पहुंचाना है। अधिकारियों ने यह भी बताया कि आईआईटी दिल्ली के विशेषज्ञों , ट्रैक्स नामक संस्था , ट्रेफिक पुलिस तथा राहगिरी फाउंडेशन द्वारा एनएचएआई को साथ लेकर हीरो होंडा चौक पर यातायात सुगम बनाने के लिए डिजाइन तैयार किया जा रहा है। नरसिंहपुर के पास हाईवे को क्रॉस करने में आ रही दिक्कतों पर चर्चा के दौरान केन्द्रीय मंत्री ने गुरूग्राम की एसडीएम अंकिता चौधरी और एनएचएआई के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे एक बार फिर से संयुक्त रूप से निरीक्षण करके वहां पर पद यात्रियों का आवागमन सुगम बनाने के उपायों के बारे में रिपोर्ट दें। उसके बाद वहां पर फुटओवर ब्रिज बनवाने या ट्रेफिक लाइट लगवाने के बारे में अंतिम निर्णय लिया जाएगा।
  • पुलिस आयुक्त ने रखी ट्रेफिक संचालन की रिपोर्ट

  • बैठक में उपस्थित पुलिस आयुक्त कला रामंचद्रन ने गुरूग्राम जिला में सड़क सुरक्षा की स्थिति के बारे में केन्द्रीय मंत्री को अवगत करवाया और बताया कि पिछले एक वर्ष में सड़क दुर्घटनाओं में जिला में 150 व्यक्तियों को अपनी जान गंवानी पड़ी है जोकि हत्या के मामलों से कहीं अधिक है। उन्होंने बताया कि गुरूग्राम शहर से होकर गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर जो वाहन जाते हैं, उनकी स्पीड लिमिट रेशनलाइज करने की जरूरत है। इसके लिए आईआईटी मद्रास के विशेषज्ञों की सहायता ली जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि गलत दिशा में वाहन चलाने वालों के प्रतिदिन लगभग 200 चालान हो रहे हैं। पुलिस आयुक्त ने शहर में कुछ स्थानों पर ट्रेफिक लाइटे लगाने की आवश्यकता पर बल दिया और कहा कि यातायात आवागमन सुगम बनाने के लिए राजीव चौंक व एमडीआई चौक की तरह कुछ स्थानों पर ट्रायल शुरू किए गए हैं। ट्रैक्स एनजीओ के सहयोग से सरहौल में भी जल्द ही इसी प्रकार का ट्रायल शुरू किया जाएगा। बैठक में डीसीपी ट्रैफिक रविंद्र तोमर ने जिला के ब्लॉक स्पॉट्स पर सड़क दुर्घटनाओं को रोकने तथा यातायात सुचारू करने को लेकर पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन दी। इसके अलावा मॉडल रोड बनाने तथा टोल प्लाजा पर ट्रैफिक सुचारू करने संबंधी विषय पर भी अधिकारियों ने रिपोर्ट प्रस्तुत की।

  • केन्द्रीय मंत्री ने मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर लंबे समय से अटकी परियोजनाओं पर अधिकारियों से किया जवाब तलब

  • केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने सड़क सुरक्षा समिति की बैठक के बाद अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री की घोषणाओं पर विकास कार्यों की प्रगति के बारे में रिपोर्ट ली। उन्होंने पुराने गुरूग्राम शहर को मैट्रो की सुविधा से जोड़ने, मैडिकल कॉलेज का निर्माण, कल्चरल सेंटर, ऑटोमार्किट , मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण, मीट मार्किट शिफट करने , मानेसर में राजकीय महाविद्यालय का भवन बनाने आदि विषयों के बारे में पूछा। उन्हें बताया गया कि रेजांगला चौक पालम विहार क्षेत्र से दिल्ली-द्वारका के सेक्टर-21 तक मेट्रो लाइन बिछाने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा हुआ है। इसी प्रकार, गुरूग्राम में मैडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य प्रगति पर है जो 28 महीने अर्थात् अगस्त-2024 तक पूरा करने का लक्ष्य है। इस परियोजना पर लगभग 541 करोड़ रूप्ये की राशि खर्च होगी। गुरूग्राम विश्वविद्यालय का निर्माण कार्य भी जोरो पर चल रहा है। वहां पर बाउंड्री वाल के अलावा तीन बिल्डिंगो का लगभग 20 प्रतिशत निर्माण पूरा हो चुका है। नगर निगम द्वारा भवन सांस्कृतिक केन्द्र बनाने के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है और लगभग 200.96 करोड़ रूप्ये की यह परियोजना 2 वर्ष में पूरी होगी। नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि गांव बसई में सीएडडी वेस्ट प्लांट 5 एकड़ में शुरू कर दिया गया है। ताउ देवी लाल स्टेडियम में बनाए जा रहे इंडोर स्टेडियम का कार्य अधर में लटकने के बारे में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत की । राव ने इस मामले में इस मामले का समाधान निर्देश दिए।

  • जल संचयन और जलाशयों को पुर्नजीवित करने को दे प्राथमिकता- राव

  • समीक्षा के दौरान केन्द्रीय मंत्री राव इन्द्रजीत सिंह ने केन्द्र सरकार के मिशन अमृत सरोवर का उल्लेख करते हुए कहा कि गुरूग्राम में नियुक्त संबंधित अधिकारी जल संरक्षण को प्राथमिकता देते हुए भूजल को रिचार्ज करने के उपायों पर ध्यान दें। उन्होंने कहा कि दमदमा झील और सुल्तानपुर झील को बचाए रखने के निर्देश भी दिए। जीएमडीए के अधिकारियों ने बताया कि गोल्फ कोर्स एक्सटेंशन रोड़ से भौंडसी होते हुए दमदमा झील तक शोधित पानी ले जाने के लिए पाइपलाइन बिछाने का प्रस्ताव है। इस पर लगभग 23 करोड़ रूप्ये की लागत आने का अनुमान है जिसमें से लगभग 6 करोड़ रूप्ये की राशि जीएमडीए खर्च करेगा। उन्होंने ये भी बताया कि बरसात में जलभराव रोकने के लिए शिवनादर स्कूल , गोल्फकोर्स तथा घाटा गांव के पास 3 क्रीक बनाकर पानी रोकने के प्रबंध किए गए हैं और वहां से बरसाती पानी की एक भी बंूद नीचे नही आएगी। राव ने कहा कि गुरूग्राम की बढ़ती जनसंख्या को देखते हुए जितना पानी बचा सकें बचाएं, रेन वाटर हारवेस्टिंग के उपाय करें और ज्यादा से ज्यादा पानी जमीन में डालें। यह भी बताया गया कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण से नगर निगम को 367 रेन वाटर हारवेस्टिंग स्ट्रक्चर हस्तांतरित हुए हैं। इसके अलावा , जीएमडीए द्वारा ऐसी संस्थाओं जिनका रूफटॉप एरिया ज्यादा है , उन्हें अपने परिसर में रेन वाटर हारवेस्टिंग सिस्टम लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है ताकि उनकी छत का बरसाती पानी जमीन में डाला जा सके।

  • इस अवसर पर गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, उपायुक्त निशांत कुमार यादव, अतिरिक्त उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा, गुरूग्राम की एसडीएम अंकिता चौधरी, डीसीपी ट्रेफिक रविन्द्र तोमर, बादशाहपुर के एसडीएम सतीश यादव, क्षेत्रीय यातायात प्राधिकरण के सचिव रविन्द्र यादव, जिला परिषद् की मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनु श्योकंद , जीएमडीए के एडिश्नल सीईओ सुभाष यादव सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: