पाल क्षत्रीय सेवा समिति ने किया पाल छात्रावास शास्त्री नगर में होली मिलन समारोह का आयोजन

Font Size

-समारोह में 90% से अधिक अंक पाने वाले कक्षा 9 एवं 12 के छात्र-छात्राओं को किया पुरस्कृत

-75 वर्ष से अधिक आयु की बुजुर्ग महिलाओं एवं पुरुषों को शाल भेंट कर सम्मानित किया

-विशिष्ट अतिथि शैलेंद्र विक्रम ने युवाओं से जीवन के हर क्षेत्र में भागीदारी का किया आह्वान

-अपर आयुक्त धीरज सिंह बघेल ने समाज के विकास में सहयोग का आश्वासन दिया

-मुख्य अतिथि राजाराम पाल ने शिक्षा को समाज के उत्थान की वास्तविक सीढ़ी बताया

बरेली : पाल क्षत्रीय सेवा समिति के तत्वावधान में रविवार को पाल छात्रावास शास्त्री नगर में होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जगन्नाथ शास्त्री ने की. समारोह केथा मुख्य अतिथि गाजियाबाद से पहुंचे राजाराम पाल सेवानिवृत्त उपायुक्त खाद एवं रसद थे . विशिष्ट अतिथि के रूप में धीरज सिंह बघेल अपर आयुक्त आयकर विभाग, शैलेंद्र विक्रम सिंह पाल, जिला अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग मोर्चा बरेली उपस्थित थे। होली मिलन समारोह का प्रारंभ मुख्य अतिथि द्वारा मां सरस्वती तथा मातेश्वरी अहिल्याबाई होल्कर की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।

इस ख़ास समारोह में 90% से अधिक अंक पाने वाले समाज के कक्षा 9 एवं 12 के छात्र-छात्राओं चि० शिवेंद्र पाल, वरुण पाल, श्रेयांश पाल, विवेक पाल, मयंक कुमार बघेल व कु० आराधना पाल, श्रद्धा बघेल, सोनल पाल, गरिमा पाल को पुरस्कृत किया गया. साथ ही 75 वर्ष से अधिक आयु की बुजुर्ग महिलाओं एवं पुरुषों को शाल भेंट कर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शैलेंद्र विक्रम ने कहा कि समाज का उत्थान संस्कृति, संस्कार, शिक्षा एवं राजनीति के बिना संभव नहीं है। हम सब समस्त क्षेत्रों में अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर समाज को एवं राष्ट्र को विकास के पथ पर ले जाएं। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि अपने बड़े बुजुर्गों के अनुभव के आधार पर अपना भविष्य उज्जवल सुनिश्चित करें।

इसी क्रम में अपर आयुक्त धीरज सिंह बघेल ने कहा कि शिक्षा के आधार पर ही युवा अपने भविष्य की सुदृढ़ नींव रख सकता है। उन्होंने समाज को यह कहते हुए आश्वस्त किया कि ” इस पुनीत कार्य के लिए मैं समाज से को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि मेरी तन-मन-धन जिस भी तरह की आवश्यकता होगी, मैं सदैव सहयोगी की भूमिका में रहूंगा।”

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राजाराम पाल ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर ने समाज की उन्नति का मुख्य सूत्र शिक्षा को बताया। शिक्षा ही समाज के उत्थान के लिए उपयोगी साबित होती है। उन्होंने बल देते हुए कहा कि समाज के सभी लोगों की नैतिक जिम्मेदारी है कि एक दूसरे का साथ देकर युवाओं को और बच्चों को सही नीति और नियत से परिचित कराएं।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जगन्नाथ पाल ने कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी प्रबुद्धजन, युवाओं, मातृशक्ति एवं बच्चों को का आभार व्यक्त किया. उन्होंने मुख्य अतिथि व सभी विशिष्ठ अतिथियों का भी समाज के लोगों का प्रोत्साहन करने के लिए आभार जताया.

इस ख़ास कार्यक्रम का संचालन शिवनाथ पाल ने किया। समारोह में बरेली, शाहजहांपुर, बदायूं, पीलीभीत से रमेश सिंह बघेल मंत्री, दारा सिंह पाल उप मंत्री, राम सिंह पाल कोषाध्यक्ष, बीजी पाल संगठन मंत्री, ऑडिटर राकेश पाल , जेपीएस पाल , राकेश पाल , मोहित विक्रम पाल, सत्यदेव सिंह पाल, नारायण सिंह पाल, ललित मोहन पाल, अनिल पाल, विश्वपाल व सैकड़ों पाल बंधुओं ने इस कार्यक्रम में सहभागिता निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: