सैक्टर-10ए में हत्या कर शव फेंकने के मामले में एक आरोपी गिरफ्तार

84 / 100
Font Size

सैक्टर-10ए में हत्या

गुरुग्राम : पुलिस थाना सैक्टर-10ए, गुरुग्राम के एरिया में संदिग्ध हालात में मिले युवक के शव के मामले में हत्या करने वाले शातिर आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस ने काबू करने में सफलता हासिल की. पुलिस के अनुसार शराब पीकर आपस में गोली-गलौच होने पर आरोपी ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया था । हत्या  करने में प्रयोग की गई एक स्कूटी भी आरोपी के कब्जा से पुलिस टीम द्वारा बरामद की गई है । उक्त आरोपी के खिलाफ मुज्जफरनगर में पहले से ही गिरोहबन्दी व चोरी के दर्जनों अभियोग अंकित हैं. यह पहले भी कई वर्षों की जेल काट चुका है । आरोपी गुरुग्राम में अपना नाम बदलकर रह रहा था। सैक्टर-10ए में हत्या  सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या 

एस सी पी प्रीतपाल सिंह ने पत्रकारों को बताया कि 11 नवम्बर 2021 को थाना सैक्टर-10ए, गुरुग्राम में एक सूचना सैक्टर-37C, गुरूग्राम में खाली जगह झाडियों में एक शव पङे होने के सम्बन्ध में प्राप्त हुई। प्राप्त सुचना पर थाना सैक्टर-10ए, गुरुग्राम की पुलिस टीम तुरन्त घटनास्थल पर

सैक्टर-10ए में हत्या

पहुंच गई जहां पर एक व्यक्ति का शव पङा हुआ मिला जिसके सिर से खून निकला हुआ था। पुलिस टीम ने तुरन्त पुलिस की सीन ऑफ क्राईम, एफ.एस.एल. व फिन्गर प्रिन्ट की पुलिस टीमों को बुलाकर घटनास्थल का निरीक्षण करवाया गया। इसी दौरान सोमबीर पुत्र रणबीर निवासी गाँव खरहर थाना आसौदा जिला झज्जर, उम्र 38 वर्ष ने एक लिखित शिकायत के माध्यम से बतलाया कि इसने गाँव गाडोली मे Disha Enterprises के नाम से मैडिकल स्टोर का रखा है और यह आयुर्वेदिक दवाई का सप्लाई का काम भी करता है। सैक्टर-10ए में हत्या 

उन्होंने बताया कि शिकायत में कहा गया कि अशोक कुमार पुत्र हरबीर गांव सिमाना उर्फ रामराज मिसनपुर जिला मुजफ्फरनगर U.P उम्र करीब 45 वर्ष इसके पास करीब 3 महीने से दवाई सप्लाई का काम कर रहा था। दिनाँक 10.11.2021 को समय लगभग 6.00 PM पर अशोक इसके दुसरे वर्कर मुकुल की स्कुटी को लेकर चला गया था। फिर रात को लगभग 11.30 P.M पर आया और बोला कि कमरा बदल रहा हूँ सामान दुसरे कमरे में ले जाने के लिए गाडी की जरूरत है। इसने उसको गाडी देने से इन्कार कर दिया। वह स्कुटी लेकर वापिस चला गया। सैक्टर-10ए में हत्या  सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या  सैक्टर-10ए में हत्या  v सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या सैक्टर-10ए में हत्या 

एसीपी क्राइम ने बताया कि शिकायत के अनुसार इसके पास रात 01.12 पर इसके मोबाईल पर फोन आया और बतलाया कि अरुण कुमार सिंह पुत्र किशोरी सिंह गांव चापर जिला समस्तीपुर बिहार की पत्नी रिंकी बोल रही हूँ, आपके पास काम करने वाले अशोक का फोन इसके पास आया जिसने कहा कि उसने पत्थर मारकर इसके पति अरुण कुमार को जान से मार दिया क्योकिं अरुण कुमार गाली-गलोच करके झगडा कर रहा है। यह उस समय नींद में था फिर सुबह उसी नम्बर पर इसने बात की उसने बताया कि यह व उसका पति अरुण कुमार व अशोक ये सब इक्कठे एक ही कमरे में सरस्वती इन्कलेव, गुरूग्राम मे रहते थे और यह करीब 5/6 दिन पहले अपने गांव बिहार आ गई थी और आज सुबह अशोक कुमार ने इसको फोन पे बताया कि उसने इसके पति को पत्थर से चोंटे मारकर मार दिया और सैक्टर-37 झाडियों में फेंक दिया।

मामले की विशेष बातें :

▪️उपरोक्त शिकायत पर थाना सैक्टर-10ए, गुरुग्र्म में कानून की सम्बन्धित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया।

▪️उपरोक्त अभियोग में तत्परता से कार्यवाही करते हुए उप-निरीक्षक गुनपाल, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने अपने विश्वसनीय सुत्रों, पुलिस तकनीकी, पुलिस प्रणाली की सहायता से व अपनी समझबुझ से उपरोक्त अभियोग में हत्या करने की वारदात को अन्जाम देने वाले शातिर आरोपी को कल दिनांक 14.11.2021 को बिजनौर, उत्तर-प्रदेश से काबू करने में बङी सफलता हासिल की है। आरोपी की पहचान सन्दीप उर्फ पिन्टु पुत्र ओमबीर निवासी गाँव समाना उर्फ रामराज मीरनपुर जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर-प्रदेश हाल निवासी गाँव करहेड़ा थाना भोपा जिला मुजफ्फरनगर यू.पी., हाल किरायेदार सरस्वती इन्कलेव सैक्टर-10, गुरुग्राम के रुप में हुई।

▪️आरोपी को उपरोक्त अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।

▪️आरोपी से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उपरोक्त अभियोग में मृतक (अरुण कुमार सिंह पुत्र किशोरी सिंह) के साथ इसने शराब पीई, इसी दौरान मृतक ने इसको (आरोपी) को गन्दी गालियाँ दी तो इसने हैलमेट से उसके (मृतक) सिर में चोंटे मारी और उसका गला दबाया जिसके कारण वह बेहोश हो गया। उसके बाद यह वहां से स्कूटी लेकर भाग गया। कुछ समय बाद यह (आरोपी) उसको (मृतक) देखने गया कि वह मर गया या जिन्दा है। जब यह वहां पहूँचा तो वह इसको हिलता हुआ दिखाई दिया तो इसने उसके सिर में पत्थरों से चोटें मारी और जब तक वह मर नही गया वही रहा और उसके बाद स्कूटी पर सवार होकर वहां से भाग गया।

▪️आरोपी से पुलिस पूछताछ में यह भी ज्ञात हुआ कि इसके खिलाफ मुजफ्फरनगर, उत्तर-प्रदेश में गिरोहबन्दी (गुण्डा एक्ट) व चोरी के दर्जनों अभियोग अंकित है और ये वर्ष 2015 से 04 वर्षो तक जेल में भी बन्द रहा। अपना पुराना अपराधिक रिकार्ड छूपाने के लिए इसने (आरोपी सन्दीप) अपने ताऊ के लड़के अशोक मुजफ्फरनगर को DL व आधार कार्ड उसको बिना बताए ले आया था और उसके DL व आधार कार्ड की सहायता से यह अशोक बनकर गुरुग्राम में रह रहा था। यह गुरुग्राम में DISHA INTERPRISES नामक दवाईयों की दुकान पर अशोक के नाम से नौकरी कर रहा था।

▪️आरोपी द्वारा उपरोक्त अभियोग में हत्या की वारदात को अन्जाम देने में प्रयोग की गई 01 स्कूटी आरोपी के कब्जा से बरामद की गई है।

▪️आरोपी को आज अदालत के सम्मुख पेश करके पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया जाएगा। पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान आरोपी से उपरोक्त अभियोग के बारे में गहनता से पूछताछ करते हुए अभियोग के सम्बन्धित अन्य बरामदगी की जाएगी। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page