सीआरपीएफ की साईकिल रैली गुरुग्राम से महात्मा गांधी की समाधि राजघाट के लिए रवाना

12 / 100
Font Size

गुरुग्राम, 2 अक्टूबर। देश के चारों कोनों से केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की साईकिल रैलियों को आज शनिवार को गांधी जयंती के अवसर पर प्रातः 6.20 बजे गुरुग्राम जिला के सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर से महात्मा गांधी की समाधि राजघाट के लिए रवाना किया गया। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित इन साइकिल रैलियों को ग्रुप सेंटर के महानिदेशक कुलदीप सिंह ने ध्वज दिखाकर रवाना किया। महानिदेशक स्वयं भी साइकिल रैली में भाग ले रहे हैं।

इस मौके पर कुलदीप सिंह ने बताया कि हम आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश कर चुके हैं।इस उपलक्ष्य में इस वर्ष को आजादी के अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। आजादी के अमृत महोत्सव के तहत देशभर में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल इसमें अग्रणी भूमिका निभा रहा है। बल के द्वारा आयोजित विभिन्न कार्यक्रम जैसेकि फिट इंडिया मूवमेंट , साइकिल रैली आदि बल के जवानों और परिवारों में बहुत लोकप्रिय हो रहे हैं तथा सभी अधिकारी, जवान एवं उनके परिवार इसमें बढ़-चढ़कर भाग ले रहे हैं।

ग्रुप सेंटर कादरपुर से रवाना होते समय कुलदीप सिंह ने साइकिल यात्रा में शामिल अधिकारियों एवं जवानों के मनोबल की सराहना की तथा देशवासियों को जागरूक करने के उनके योगदान की प्रशंसा की। ग्रुप केंद्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक श्री सुनील ने महानिदेशक महोदय का स्वागत किया।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ने आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत देश के विभिन्न भागों से साइकिल रैलियां चलाई तथा देश की आजादी से जुड़े 15 चुनिंदा स्थानों पर साल भर तक, हर रविवार को बैंड बजा कर, यह महोत्सव मनाने का निर्णय लिया है । देश के चारों कोनों से साइकिल रैलियां चलाई गई, जो कि आज 2 अक्टूबर को राजघाट पर बापू को श्रद्धांजलि देते हुए लाल किला पर जाकर संपन्न हुई। वहां पर श्री अमित शाह, गृह मंत्री भारत सरकार द्वारा इन रैलियों का स्वागत किया । इन रैलियों में सभी केंद्रीय पुलिस बलों के 700 से अधिक जवानों ने भाग लिया।

साइकिल रैलियों की विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की पहली साइकिल रैली ग्रुप केंद्र जम्मू से दिनांक 23 सितंबर 2021 को प्रारंभ हुई तथा लगभग 522 किलोमीटर की दूरी तय करके दिनांक 30 सितंबर 2021 को ग्रुप केंद्र गुरुग्राम पहुंची। दूसरी रैली साबरमती आश्रम पोरबंदर से दिनांक 15 सितंबर 2021 को चलकर लगभग 1273 किलोमीटर की दूरी तय कर दिनांक 30 सितंबर 2021 को गुरुग्राम पहुंची।

तीसरी साइकिल रैली जोरहाट आसाम से दिनांक 31 अगस्त 2021 को चलकर लगभग 2264 किलोमीटर दूरी तय कर दिनांक 30 सितंबर 2021 को ग्रुप केंद्र गुरुग्राम पहुंची। चौथी रैली कन्याकुमारी से 22 अगस्त 2021 को चलकर लगभग 3125 किलोमीटर दूरी तय कर ग्रुप केंद्र गुरुग्राम पहुंची। सभी रैलियों ने रास्ते में पड़ने वाले स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े स्मारकों जैसे कि जलियांवाला बाग, खुदीराम बोस स्मारक, झांसी का किला आदि स्थानों पर जाकर आजादी के वीरों को स्मरण किया।

इन रैलियों का उद्देश्य देश की सांस्कृतिक विरासत का प्रसार, अनेकता में एकता , स्वतंत्रता संग्राम की महत्ता एवं राष्ट्रीय एकता की भावना का प्रचार प्रसार कर लोगों को जागरूक बनाना है। सभी रैलियों का अंतिम पड़ाव केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल गुरुग्राम कैंप में जोरदार स्वागत किया गया।

इन चारों रैलियों के अलावा भी दिल्ली एनसीआर से आई 11 रैलियों को भी रवाना किया गया। इन सभी रैलियों में कुल 200 साइकिल सवारों ने भाग लिया। कुलदीप सिंह ने स्वयं भी इस साइकिल रैली में भाग लेकर सभी की हौसला अफजाई की। गुरुग्राम से चलकर ये साइकिल रैलिया दिल्ली में लाल किले पर संपन्न हुई।

इस अवसर पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल एकेडमी के अपर महानिदेशक प्रदीप कुमार सिंह, पुलिस महा निरीक्षक उत्तरी क्षेत्र  राजेश कुमार तथा रजनीश अहलावत कमांडेंट समूह केंद्र गुरुग्राम आदि अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page