टोकियो पैरालिंपिक प्रतिभागी के आगमन पर सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर में सम्मान समारोह

43 / 100
Font Size

– पैरालिंपिक में भाला फेंक प्रतियोगिता में चौथे स्थान पर रहे थे संदीप चौधरी

– उप महानिरीक्षक सुनील जून ने हवलदार संदीप चौधरी को किया सम्मानित

गुरुग्राम,05 सितंबर। टोक्यो में आयोजित पैरालिंपिक में भाला फेंक प्रतियोगिता में देश का प्रतिनिधित्व कर चौथे स्थान पर रहे संदीप चौधरी का केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (केरिपुब) के जिला गुरुग्राम के कादरपुर स्थित ग्रुप सेंटर में आगमन पर आज सम्मान कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

 

केरिपुब के गुरुग्राम ग्रुप सेंटर के उप महानिरीक्षक सुनील जून ने आज ग्रुप सेंटर के प्रांगण में संदीप कुमार व उनके परिवार को सम्मानित करने के उपरांत कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि संदीप चौधरी ने हाल ही में संपन्न टोक्यो पैरालिंपिक -2021 में भारत का भाला फेंक प्रतियोगिता में प्रतिनिधित्व किया है।

 

इस प्रतियोगिता में वे चौथे स्थान पर रहे। उन्होंने कहा कि संदीप देश के उन युवाओं के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत है जो शारीरिक निशक्तता के कारण जीवन मे सफलता के लक्ष्य का निर्धारण नही करते। उन्होंने संदीप चौधरी का उदाहरण देते हुए कहा संदीप को कूल्हे की गंभीर चोट के कारण सर्जरी का सामना करना पड़ा। सर्जरी के पश्चात कुछ जटिलता उत्पन्न होने के कारण वह चलने फिरने में असमर्थ हो गए थे, किंतु उन्होंने इस समस्या को अपनी कमजोरी नहीं माना तथा लगातार अपने लक्ष्य के प्रति अग्रसर रहे एवं अपने धैर्य, दृढ़ निश्चय और कड़ी मेहनत के कारण संदीप ने खेल जगत में विभिन्न उपलब्धियां हासिल कर देश का नाम रोशन किया है।

श्री जून ने इस अवसर पर ग्रुप सेंटर में हवलदार के पद पर कार्यरत संदीप चौधरी के पिता सुभाष चंद्र को बधाई देते हुए कहा कि संदीप की यह उपलब्धि आपके मार्गदर्शन व उस की दृढ़ इच्छाशक्ति के कारण संभव हो पाया है।

-संदीप चौधरी की खेल उपलब्धियां

श्री जून ने कार्यक्रम में संदीप चौधरी की खेल उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए बताया कि संदीप ने वर्ष 2015 में फज्जा इंटरनेशनल एथलेटिक्स चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक, 2016 में आयोजित रियो ओलंपिक में चौथा स्थान व विश्व पैरालंपिक एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में स्वर्ण पदक, 2017 में विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में रजत पदक, 2018 में विश्व पैरा एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में रजत पदक तथा विश्व में प्रथम रैंक अर्जित किया, 2018 में एशियन पैरा गेम्स जकार्ता में स्वर्ण पदक तथा पैरा एशियन गेम्स में विश्व रिकॉर्ड स्थापित करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने, 2019 में विश्व पैरा चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक तथा विश्व रोड रिकॉर्ड स्थापित करने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने। साथ ही इसी वर्ष हाडिसन ओपन पेरिस में स्वर्ण पदक व विश्व पैरा एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स में स्वर्ण पदक, वर्ष 2021 में 12वें फज्जा इंटरनेशनल चैंपियनशिप दुबई में स्वर्ण पदक हासिल कर देश का गौरव बढ़ाने का कार्य किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page