खेल मंत्रालय से एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता जोसेफ जेम्स को 2.5 लाख रु. की सहायता मिली

10 / 100
Font Size

नई दिल्ली : युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय (एमवाईएएस) ने खिलाड़ियों के लिए बनाए गए पंडित दीनदयाल उपाध्याय राष्ट्रीय कल्याण कोष के तहत अंतरराष्ट्रीय पावरलिफ्टिंग कोच जोसेफ जेम्स के लिए 2,50,000 रुपये की राशि को मंजूरी दी है। यह वित्तीय सहायता कोविड-19 के बीच भारतीय खेल प्राधिकरण (साई), भारतीय ओलंपिक संघ और मंत्रालय की संयुक्त सहयोग पहल के तहत पूर्व-अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों और कोच की मदद के लिए दी जाती है।

2006 के एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक के विजेता और 2008 में एशियाई पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले जोसेफ जेम्स को कुछ दिन पहले कोविड-19 संक्रमण होने के बाद 24 अप्रैल को सांस लेने में गंभीर समस्या हुई। उनके ऑक्सीजन का स्तर कम था और परिवार को उन्हें तत्काल हैदराबाद के विवेकानंद अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। वह सात-आठ दिनों के लिए आईसीयू में थे और पांच मई को उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी। उनकी हालत अब स्थिर हैं और वह घर में सब सदस्यों से अलग रह रहे हैं।

जोसेफ जेम्स की बेटी ऐलिसा जो ने समय पर वित्तीय मदद देने के लिए मंत्रालय, साई और भारतीय ओलंपिक संघ का आभार जताते हुए, कहा,  “तेलंगाना ओलंपिक संघ और भारतीय ओलंपिक संघ के सदस्यों में से एक, श्री महेश सागर ने हमें इस पहल के बारे में बताया। उन्होंने मुझे आवेदन भरने के लिए विवरण दिए और संबंधित अधिकारियों के साथ बातचीत की।

ऐलिसा ने कहा, “ऐसे समय में मंत्रालय से मिली यह वास्तव में बहुत बड़ी मदद है जब हमारे परिवारों और दोस्तों से मदद प्राप्त करना भी मुश्किल है। मैं आभारी हूं कि भारतीय खेल प्राधिकरण ने हमें तब याद किया जब हमें जरूरत थी।”

तेलंगाना ओलंपिक संघ के महासचिव के जे यादव ने भी साई, मंत्रालय और भारतीय ओलंपिक संघ को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा “पूरे तेलंगाना ओलंपिक संघ और तेलंगाना राज्य के खेल समुदाय की ओर से, मैं श्री जोसेफ के चिकित्सा खर्च पूरे करने की खातिर उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय, भारतीय खेल प्राधिकरण और भारतीय ओलंपिक संघ का बहुत आभारी हूं। इस कठिन समय में खिलाड़ियों की मदद करने के लिए धन्यवाद।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page