निर्धारित रेट से ज्यादा राशि वसूलने वाले निजी अस्पताल को बख्शा नहीं जाएगा : अनिल विज

9 / 100
Font Size

चण्डीगढ 13 मई- हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कोविड महामारी के दौरान निर्धारित रेट से ज्यादा राशि वसूल करने वाले किसी भी निजी अस्पताल को बख्शा नहीं जाएगा। इसके अलावा, अस्पताल में दवाई उपलब्ध होने के बावजूद बाहर से दवाई लाने के लिए पर्ची लिखने वाले सरकारी डाक्टरों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री विज आज ‘गांव-गांव स्क्रीनिंग एवं सामान्य स्वास्थ्य जांच’ के लिए आयोजित अधिकारियों की बैठक को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सम्बोधित कर रहे थे।


मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल एवं उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला की उपस्थिति में उन्होंने कहा कि उनकी जानकारी में कुछ मामले आएं हैं जहां पर निजी अस्पतालों द्वारा निर्धारित रेट से अधिक पैसे वसूल किए जा रहे हैं जो कि ठीक नहीं है। इस महामारी के दौर में जहां सरकारी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है, वहीं निजी अस्पतालों में अधिक पैसे लिए जाने की शिकायतेें अच्छी बात नहीं। निजी अस्पतालों को चाहिए कि वे कोविड मरीजों का मानवता के नाते कम से कम पैसों में इलाज करें और जनहित में सहयोग करें।


श्री विज ने कहा कि सरकारी अस्पतालों में सभी दवाइयां उपलब्ध हैं, लेकिन कुछ स्थानों पर चिकित्सक बाहर से दवाइयां मंगवा रहे हैं। ऐसे डाक्टरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने सेनीटाईजेशन करवाने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि धारा 144 का सख्ती से पालन करवाएं एवं सोशल डिस्टेंसिंग के लिए घेरे न लगाने वाले दूकानदारों को दूकानें न खोलने दें। साथ ही सब्जी मण्डियों में उमडऩे वाली भीड़ को नियंत्रित करने के लिए उन्होंने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी अस्पताल यह डाटा अपडेट करें कि उनके यहां कितने मरीज शहरी, ग्रामीण और अन्य प्रदेशों से हैं।


स्वास्थ्य मंत्री ने सिविल सर्जनों को निर्देश दिए कि वे जिलों में टेस्टिंग बढाएं और आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट जल्द से जल्द आए, इसके लिए जरूरी व्यवस्था करें। उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि होम आईसोलेशन में रह रहे मरीजों को दी जाने वाली किट मेें वह सब सामान हो जो सरकार ने निर्धारित किया है। उन्होंने डीजीपी को निर्देश दिए कि महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के दौरान गांवों में लगाए गए ठीकरी पहरे को पिछली बार की तरह कारगर बनाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page