पुलिस दल पर फायरिंग करने एवं फेसबुक और ओएलएक्स के माध्यम से ठगी करने वाली मेवात गैंग के 7 बदमााश गिरफ्तार

11 / 100
Font Size

03 लाख 29 हजार 500 रूपये नगद बरामद

07 ट्रेक्टर, एक सैल्टोस कार, एक ब्रीजा कार, एक बॉलेरो गाडी एवं तीन मोटरसाईकिलें को किया जप्त

एक लैपटॉप एचपी कम्पनी, 07 एंड्रॉइड मोबाईल फोन, 43 बैंक पासबुक, 12 एटीएम कार्ड, 04 बैंक चैकबुक बरामद

जुरहरा (भरतपुर) रेखचन्द्र भारद्वाज : ओएलएक्स के माध्यम से ठगी की वारदातों को अंजाम देने वाले लोगों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करते हुए पुलिस के द्वारा 7 आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए उनके कब्जे से नगदी व कई वाहनों को जप्त किया गया है साथ ही आरोपियों के पास से मोबाइल, बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड सहित अन्य सामान को भी बरामद किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार जिला पुलिस जिले में संगठित अपराधों की रोकथाम एवं संगठित गैंग बनाकर वारदात करने वाले अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए चलाये जा रहे विशेष अभियान जिसमें संदिग्ध बदमाशान एवं अपराधियों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कडी कार्यवाही के लिए अभियान चलाए जा रहे हैं. जिसमें मुख्य रूप से भरतपुर जिले के मेवात इलाके में संगठित गैंग बनाकर ऑएलएक्स व अन्य शोशल साईट के माध्यम से देश के विभिन्न प्रान्तो के लोगों से ठगी की गम्भीर वारदातें मेवात इलाके की संगठित गैंगो द्वारा की जा रही हैं . जिन पर अंकुश लगाने के लिये एक विशेष टीम गठित की गई। टीम द्वारा जिला पुलिस अधीक्षक के निकट पर्यवेक्षण में तकनीकि कार्यवाही एवं मुखबिर से सूचना प्राप्त कर मेवात गैंग के 07 संगठित अपराधियों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त मिली है।

        गठित की गई विशेष टीम ने तकनीकि अनुसंधान एवं मुखबिर से सूचना प्राप्त कर फेसबुक/ऑएलएक्स एवं अन्य शोशल साईटों के माध्यम से ठगी करने वाली गैंग को चिन्हित किया गया। इसी क्रम में आंध्र प्रदेश के जिला प्रकासम से पुलिस जाप्ता उपरोक्त प्रकार की वारदातों को अंजाम देने वाली गैंग की तलाश करते हुये पुलिस थाना कामां में उपस्थित हुआ जहां पर कामा थाना अधिकारी सुमित मेहरडा आईपीएस प्रो के नेतृत्व में विशेष टीम के द्वारा गांव नगला कुन्दन थाना जुरहरा के संगठित गैंग के बदमाशों को गिरफ्तार करने के लिए दबिश दी गई तो अचानक से पुलिस जाप्ता को देखकर आन्ध्रा प्रदेश पुलिस के वांछित मुलजिमान अपने घरों से भागने लगे जिनको पुलिस जाप्ता द्वारा घेरा देकर पकड लिया गया तथा सरकारी वाहनों में बिठाने के लिए लेकर आने लगे तो इतने में ही संगठित होकर करीब 60-70 पुरूष एवं महिलायें हाथों में लाठी-डण्डा, ईट-पत्थर एवं अवैध हथियार लेकर आ गए और पुलिस पर हमला कर दिया। बदमाशों के द्वारा पुलिस जाप्ता पर जान से मारने की नीयत से अन्धाधुन्ध कई राउण्ड फायर किये जिनसे पुलिस जाप्ता ने अपनी सूझबूझ से काम करते हुये अपना बचाव किया एवं आन्ध्र प्रदेश पुलिस के वांछित मुलजिमानों को पुलिस से छुडा लिया गया। पुलिस टीम द्वारा इस संगठित गैंग के 07 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं पुलिस पर हमला करने वाले अन्य लोग फरार हो गये जिनकी तलाश की जा रही है। पुलिस टीम पर हुये हमले में कई पुलिसकर्मियों के चोटें भी आई हैं एवं पुलिस वाहन भी क्षतिग्रस्त हुये हैं। जिसके संदर्भ में पुलिस थाना जुरहरा पर मुकदमा दर्ज किया गया है। 

क्या होता है वारदात का तरीका- ओएलएक्स के जरिए ठगी कर रहे लोगों के द्वारा ऑएलएक्स पर विभिन्न प्रकार के वाहनों का विज्ञापन डालकर उनको खरीदने के इच्छुक लोगो को झांसा देकर सौदा पक्का करने के नाम पर कुछ रूपये ऑनलाईन जमा करवाने की कहते हैं और इनके चंगुल में फंसने वाले लोगों को अपने क्षेत्र में बुलाकर अपहरण करके लूट लेते हैं।

बदमाश ओएलक्स पर दिये गये ऑप्सन में जाकर कार एवं स्कूटी/मोटरसाईकिल, फर्नीचर, मोबाईल, इलेक्ट्रोनिक्स सामान आदि को उसके वाहनों फ्यूल, ट्रान्समिसन, किलोमीटर, वाहन स्वामी का विवरण, टाईटल, ब्राण्ड, वर्ष आदि का विवरण भरकर बेचने का विज्ञापन डाल देते हैं उसके साथ ही वाहन एवं सामान के फोटो भी डाल देते हैं। ग्राहक को झांसे में लेकर विज्ञापन के साथ मुलजिमान अपनी स्वयं की फोटो नही डालकर किसी आर्मी के कर्मचारी/अधिकारी की बावर्दी फोटो, सैन्य ग्रुप फोटो हथियार सहित, कैन्टीन कार्ड, आर्मी के कर्मचारी का परिचय पत्र आदि डालकर चैट ऑप्सन के माध्यम से चैट प्रारम्भ कर ग्राहक को अपना वॉटसअप नम्बर देते हैं। यह मोबाईल नम्बर फर्जी नाम पता पर लिया हुआ होता है। मुलजिम अपने वॉटसअप नम्बर जो कि फर्जी नाम पतों की सिम पर बना हुआ होता है से ग्राहक से चैट एवं बात करके सामान के बेचने की डीलिंग करते हैं तथा सामान को ग्राहक के घर पहुंचाने के नाम पर टोकन राशि ऑनलाईन तरीके (पेटीएम, गूगलपे, फोनपे, नेट बैंकिग, एनईएफटी, आरटीजीएस) आदि के माध्यम से स्वयं के द्वारा ग्राहक को दिये गये फर्जी खातों में स्थानान्तरित करवाते हैं एवं राशि को निकाल लेते हैं।

कहां-कहां दिया गया वारदातों को अंजाम- गैंग के द्वारा आन्ध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, पचिम बंगाल, आसाम, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, दिल्ली आदि प्रान्तो के लोगों के साथ कई वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया है।

आरोपियों से बरामद हुआ सामान- पुलिस द्वारा ओएलएक्स ठगी के मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों से 3 लाख 29 हजार 500 रूपये नगद, 07 ट्रेक्टर, एक किया सैल्टोस कार, एक ब्रीजा कार, एक बोलेरो एवं तीन मोटरसाईकिलें लावारिस अवस्था में पायी गई हैं, जिनको धारा 38 पुलिस एक्ट में जप्त किया गया है। उक्त वाहनो को बदमाशों द्वारा अपराध करने के उपयोग में लिया जाने की संभावना है। जिसकी अलग से जांच की जा रही है। आरोपियों से एक लैपटॉप एचपी कम्पनी, 07 एड्रोइड मोबाईल फोन, 43 बैंक पासबुक, 12 एटीएम कार्ड, 04 बैंक चैकबुक भी जप्त की गई हैं।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए आरोपी- पुलिस के द्वारा अजरूद्वीन पुत्र सत्तार उम्र 21 साल, हस्सन पुत्र समय मौहम्मद उम्र 42 साल, अतिमौहम्मद पुत्र फजरू उम्र 48 साल, अख्तर खान पुत्र शेर खां उम्र 38 साल, सद्दाम पुत्र रहमान उम्र 27 साल, सोयब पुत्र जमशेद उम्र 19 साल, सद्दाम पुत्र समसू उम्र 22 साल जातियान मेव निवासी ग्राम नगला कुंदन थाना जुरहरा को गिरफ्तार किया गया है।

कौन-कौन रहे पुलिस टीम में शामिल- गांव नगला कुंदन में की गई कार्रवाई के दौरान पुलिस टीम में मुख्य रूप से सुमित मेहरडा आईपीएस प्रो., हवासिंह मंगावा थानाधिकारी पुलिस थाना डीग, रामनरेश मीना थानाधिकारी पुलिस थाना जुरहरा, धारासिंह मीणा थानाधिकारी पुलिस थाना खोह, पुरूषोत्तम थाना पहाडी, अमरेश सिंह प्रभारी साईबर सैल भरतपुर, हरिमन मीणा साईबर सैल भरतपुर, बल्देव सिंह एएसआई स्पेल टीम, वीरेन्द्र सिंह हैड कांस्टेबल स्पेल टीम, जोगेन्द्र सिंह हैड कांस्टेबल साईबर सैल भरतपुर, हीरासिंह एएसआई प्रभारी क्यूआरटी संख्या 02 मय जाप्ता, अतुल कुमार हैड कांस्टेबल प्रभारी क्यूआरटी संख्या 01 मय जाप्ता, राजेश कुमार हैड कांस्टेबल प्रभारी क्यूआरटी संख्या 04 मय जाप्ता, शेख समीउल्ला एसआई स्पेशल ब्रांच जिला प्रकासम आन्ध्र प्रदेश, विश्वनाथ रेड्डी स्पेशल ब्रांच जिला प्रकासम आन्ध्र प्रदेश सहित अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page