पीएम नरेंद्र मोदी ने 80 करोड़ लोगों को पीएम गरीब मुफ्त अन्न योजना अगले 5 माह तक लागू रखने का ऐलान किया

Font Size

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वैश्विक महामारी को रोकने के लिए जारी देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान आज एक बार फिर देश के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री गरीब मुफ्त अनाज योजना को अगले 5 महीने तक जारी रखने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि यह योजना नवंबर 2020 तक लागू रहेगी जिसके तहत 80 करोड़ गरीब परिवारों को प्रत्येक सदस्य को मुफ्त अनाज दिया जाएगा। साथ ही उन्होंने देशवासियों को एकजुट होकर देश की आर्थिक उत्थान के लिए काम करने का आह्वान करते हुए अनलॉक टू के दौरान किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य सुरक्षा संबंधी लापरवाही बरतने के प्रति आगाह किया। उन्होंने एक बार फिर लोगों को 2 गज की दूरी बनाते हुए घर से बाहर निकलने पर मास्क पहनना और साफ सफाई के प्रति संवेदनशील रहने का सुझाव दिया। उन्होंने एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना भी पूरे देश में एक साथ लागू करने की बात की जबकि देश के किसानो और ईमानदार टैक्सपेयर का धन्यवाद किया।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना के कारण मृत्यु दर की तुलना कर देखें तो भारत अनेक देशों की तुलना में बहुत बेहतर स्थिति में हैं । अनलॉक दो प्रवेश कर चुका है ,मौसम अब बहुत ही खराब आ गया है जिसमें सर्दी जुकाम भी होता रहता है। इसलिये हमे सतर्क रहने की जरूरत है।

पीएम मोदी का लाइव संबोधन सुने :

उन्होंने कहा कि जब से देश में अनलॉक वन लागू किया गया तब से हम देख रहे हैं कि देश में सामाजिक और पारिवारिक आयोजनों में हम बहुत ज्यादा गैर जिम्मेदारी बरत रहे हैं जो ठीक नहीं है हमें और अधिक सतर्कता की जरूरत है अगर हम इसमें कोताही भर देंगे तो यह हमारे लिए बहुत चिंता का कारण बनेगा ।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बहुत जिम्मेदारी के साथ नियमों का पालन किया गया था अब हमें जन सामान्य को राज्य सरकारों को स्थानीय निकायों को पंचायतों को विभिन्न सरकारी एजेंसियों को बहुत ज्यादा सतर्कता बरतने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं हमें उन्हें रोकना होगा और ना समझाना भी होगा।

उन्होंने याद दिलाया कि आपने देखा होगा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर ₹13000 का जुर्माना लगा क्योंकि वह बिना मां स्पेनिश आदमी के स्थान पर गए थे इसलिए हमें इसी संवेदनशीलता के साथ काम करना चाहिए यह देश के 130 करोड़ लोगों की रक्षा करने का अभियान है।

चाहे जन सामान्य हो या फिर देश का प्रधानमंत्री कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति नहीं आए कि कभी किसी गरीब के घर में चुरा ना जले सरकार हो शिव इस राशि के लोग हैं सरकारी एजेंसी हो सामाजिक संस्था हो सभी ने लॉकडाउन के दौरान यह प्रयास किया इतने बड़े देश में हमारा कोई गरीब भाई बंद भूखा न सोए।

उन्होंने कहा कि समय पर और संवेदनशीलता से फैसले लेने से हमारी शक्ति अनेक गुना बढ़ जाती है। ओने पौने दो लाख करो रुपए की पैकेज वाली मंत्री गरीब कल्याण योजना की चर्चा की और कहा कि यह गरीब परिवारों के लिए योजना शुरू की गई। 200000000 गरीब परिवारों के खाते में सीधा 31000 करो रुपए जमा कराने की बात की।

नौकर और किसानों के खाते में ₹18000 जमा कराने की जानकारी भी दी।

उन्होंने कहा कि आप प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना भी तेज गति से आरंभ कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि एक और बात ने दुनिया को हैरान कर दिया है कि तोड़ना के 3 माह के काल में 80 करोड़ परिवारों को मुफ्त भोजन के लिए अनाज पहुंचाया गया।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने अमेरिका से ढाई गुना अधिक लोगों को ब्रिटेन से 12 गुना अधिक लोगों को और कई अन्य देशों की जनसंख्या से कहीं अधिक बड़े पैमाने पर देश में लोगों को भोजन पहुंचाया गया।

उन्होंने याद दिलाया कि वर्षा ऋतु शुरू होने पर ज्यादातर कृषि क्षेत्र में काम होता है इसके बाद जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का ही माहौल बनने लगता है। फिर सावन शुरू हो रहा है फिर 15 अगस्त रक्षाबंधन आएगा जन्माष्टमी गणेश चतुर्थी अन्य त्योहारों की भी चर्चा की।

उन्होंने कहा कि त्योहारों का यह समय लोगों का खर्च भी भर आता है इसलिए निर्णय लिया गया है प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का विस्तार अब दीपावली और छठ पूजा तक यानी नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना जुलाई-अगस्त सितंबर अक्टूबर नवंबर तक लागू रहेगी। यह योजना 5 माह लागू रहेगी। इसमें 5 किलो गेहूं या चावल, एक किलो चना मुफ्त दिया जाएगा।

इस योजना में 90 हजार करोड़ रु खर्च होंगे । इसमें पिछला बजी जोड़ दिया जाय यो डेढ़ लाख करोड़ हो जाता है।

प्रधानमंत्री ने एक देश एक राशन कार्ड योजना की भी चर्चा की उन्होंने कहा कि अब यह लागू हो रहा है इससे अब उन गरीब परिवारों को अपना अनाज राशन की दुकान से लेने में परेशानी नहीं आएगी क्योंकि वह कहीं भी किसी भी राज्य में किसी भी जिले में अपना वह राशन कार्ड दिखाकर अनार ले सकता है।

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की योजना चलाने का सारा श्रेय दो लोगों को जाता है एक किसान जो अन्नदाता है और दूसरा हमारे देश के ईमानदार तत्पर हैं जिनके पैसे से इस प्रकार की योजना चलाई जा सकती है। उनके योगदान से ही गरीब का चुनाव चल रहा है।

प्रधानमंत्री ने गरीब परिवार की शान और प्रत्येक टैक्सपेयर का धन्यवाद ज्ञापन किया यह कहते हुए कि उनके प्रयासों से ही देश में 80 करोड़ परिवारों का चूल्हा जलता है।

हमने कहा कि हम और सशक्त होकर काम करेंगे हम आपने भर भारत के लिए दिन रात काम करेंगे ना अपने आर्थिक व्यवस्था को और मजबूत करेंगे लोकल के लिए वह कल बनेंगे इस संकल्प के साथ हम 130 करोड़ देशवासियों को मिलजुलकर संकल्प साथ काम करना है आगे बढ़ना है।

समिति ने अपने संबोधन में एक बार फिर देशवासियों को 2 गज की दूरी मेंटेन करने का आह्वान किया और मांस का उपयोग करने इसका सुझाव दिया अनलॉक टू के दौरान किसी भी प्रकार की लापरवाही बरतने के प्रति आगाह किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: