नितिन गडकरी आज राष्‍ट्रीय राजमार्ग उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार-2019 प्रदान करेंगे

Font Size
नई दिल्ली : सड़क परिवहन एवं राजमार्ग तथा एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी 14 जनवरी, 2020 को नई दिल्‍ली में राष्‍ट्रीय राजमार्ग सेक्‍टर में शानदार प्रदर्शन करने वालों को राष्‍ट्रीय राजमार्ग उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कार-2019 प्रदान करेंगे।

इन पुरस्‍कारों की शुरूआत 2018 में की गई थी। उस समय इन पुरस्‍कारों के लिए देशभर से भारी संख्‍या में भागीदारी हुई थी। पहले पुरस्‍कार की कामयाबी के बाद मंत्रालय ने तय किया कि राष्‍ट्रीय राजमार्ग उत्‍कृष्‍टता पुरस्‍कारों को वार्षिक आधार पर प्रदान किया जाए। ये पुरस्‍कार उन कंपनियों को दिये जाते है, जो राजमार्गों के विकास के लिए सड़क निर्माण, संचालन, रखरखाव और सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करती है।

इस वर्ष पुरस्‍कारों के लिए नामांकन 19 अगस्‍त, 2019 को शुरू किया गया। इसके लिए निष्‍पक्ष और स्‍वतंत्र मूल्‍यांकन प्रक्रिया का पालन किया गया है।

पुरस्‍कारों की श्रेणियां इस प्रकार हैं –

  1. परियोजना प्रबंधन में उत्‍कृष्‍टता – सभी परियोजना लक्ष्‍यों के लिए बेहतर मानकों और सुचारू कार्यान्‍वयन के संबंध में संसाधनों का कारगर इस्‍तेमाल। ईपीसी और पीपीपी आधार पर परियोजना कार्यान्‍वयन के लिए दो उप-श्रेणियां रखी गई हैं।
  2. परिचालन और रखरखाव में उत्‍कृष्‍टता – मरम्‍मत, समय-समय पर निगरानी, विशेष ढांचों का रखरखाव, प्राकृतिक माहौल और सड़क की बेहतर गुणवत्‍ता का ध्‍यान रखा जाना, राजमार्ग के किनारे फुटपाथ की गुणवत्‍ता भी इसमें शामिल हैं।
  3. टोल प्रबंधन में उत्‍कृष्‍टता – टोल प्‍लाजा पर यातायात और सेवाओं का कारगर प्रबंधन। इसमें डिजिटल भुगतान, ऑटोमेटिक टोल गेट, सीसीटीवी निगरानी, आपातकालीन सेवाएं, हरित पट्टी और स्‍वच्‍छ मापदंड शामिल हैं।
  4. राजमार्ग सुरक्षा में उत्‍कृष्‍टता – सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने, रोकथाम वाले सुरक्षा उपायों को स्‍थापित करने और आपातकालीन सेवाएं प्रदान करने के लिए उत्‍कृष्‍ट प्रयास। इसके लिए पहाड़ी और मैदानी क्षेत्र के रूप में दो उप-श्रेणियां हैं।
  5. नवाचार – निर्माण संबंधी नई प्रौद्योगिकी को अपनाने या बनाने या डिजाइन करने के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय उपलब्धि, जिससे सड़क विकास परियोजनाओं में गुणवत्‍ता, उन्‍हें समय पर पूरा करने, सस्‍ती दरों पर उनका निर्माण, सुरक्षा इत्‍यादि को बढ़ाने में मदद मिले।
  6. चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में शानदार काम – सख्‍त प्राकृतिक क्षेत्र, जटिल, शहरी संरचना, चुनौतीपूर्ण जलवायु या तनावपूर्ण क्षेत्रों में व्‍याप्‍त चुनौतीपूर्ण माहौल को देखते हुए राजमार्ग अवसंरचना के विकास के लिए किये जाने वाले विशेष उपाय। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय देश भर में सड़क सम्‍पर्कता प्रदान करने के लिए समर्पित है। इसे ध्‍यान में रखते हुए भूगोलिक रूप से मुश्किल क्षेत्रों और सख्‍त जलवायु परिस्थितियों में राजमार्गों का विकास किया जा रहा है। इसके लिए एजेंसियों को प्रेरित करने के संबंध में पुरस्‍कारों की इस श्रेणी की शुरूआत की गई है।
  7. हरित राजमार्ग – प्राकृतिक वातावरण को सुरक्षित बनाने या उन्‍हें उन्‍नत करने तथा पर्यावरण पर परियोजना विकास के प्रभाव को कम करने के मद्देनजर अपनाये जाने वाले नवाचारी व्‍यवहार इस वर्ष हरित राजमार्ग संबंधी एक नई श्रेणी शुरू की गई है, जिसका उद्देश्‍य राजमार्ग अवसंरचना के विकास में प‍र्यावरण अनुकूल काम करना शामिल हैं। इसके तहत स्‍वस्‍थ हरित आवरण के रखरखाव के प्रयासों को प्रोत्‍साहित करना है।

हर श्रेणी के पुरस्‍कार की अपनी निर्धारित पात्रता है, जिसके लिए मूल्‍यांकन मानदंड तय किये गये है। इस वर्ष सातों श्रेणियों के लिए 104 आवेदन प्राप्‍त हुए हैं। ये सभी आवेदन एनआईसी द्वारा विकसित ऑनलाइन आवेदन प्‍लेटफॉर्म के जरिये प्राप्‍त हुए हैं। आवेदनों का मूल्‍यांकन तीन महीनों में पूरा कर लिया गया है। सर्वोच्‍च 40 परियोजनाओं के विषय में विस्‍तृत लेखा-जोखा निर्णायक मंडल को पेश किया गया। निर्णायक मंडल ने प्रत्‍येक परियोजनाओं के प्रारूप की जांच की और सातों श्रेणियों में 12 विजेताओं के नामों को अंतिम रूप दिया।

फास्‍टैग प्रौद्योगिकी के बेहतरीन कार्यान्‍वयन के लिए टोल प्राधिकारों को भी पुरस्‍कृत किया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: