मायावती ने कहा, उत्तर प्रदेश में घड़ियाली आंसू बहाने आती हैं प्रियंका गांधी

Font Size

नई दिल्ली, 11 जनवरी । बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर शनिवार को सीधा हमला बोला. उन्होंने अपनी पार्टी को देश की अन्य पार्टियों से बेहतर बताते हुये कहा कि वो कांग्रेस व भाजपा की तरह अलग अलग राज्यों में दोहरा मापदंड नहीं अपनाती।

मायावती ने शनिवार को किये ट्वीट में कहा कि बीएसपी किसी भी मामले में कांग्रेस, बीजेपी व अन्य पार्टियों की तरह अपना दोहरा मापदण्ड अपनाकर घटिया राजनीति नहीं करती है। जिसके कारण ही आज पूरे देश में हर तरफ किसी ना किसी मामले को लेकर हिंसा, तनाव व अशान्ति आदि व्याप्त है। लेकिन ऐसे माहौल में भी अन्य पार्टियों की तरह कांग्रेस पार्टी भी अपने आपको बदलने को तैयार नहीं है, जिसका ताजा उदाहरण कांग्रेसी शासित राजस्थान के कोटा अस्पताल में वहाँ सरकारी लापरवाही के कारण बड़ी संख्या में मासूम बच्चों की हुई मौत का मामला है।

बसपा प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस महासचिव अपने निजी कार्यक्रम में कल राजस्थान तो जाती हैं लेकिन कोटा जाना जरूरी नहीं समझती जहां के एक अस्पताल में 100 से ज्यादा बच्चों की मौत सरकार की लापरवाही से हुई है। प्रियंका खुद एक मां हैं। बेहतर होता कि वो कोटा भी जातीं और अपने बच्चे खो चुके मांओं के आंसू पोछती।

उन्होंने कहा कि प्रियंका ओछी राजनीति के तहत उत्तर प्रदेश बार बार घड़यिाली आंसू बहाने आ जाती है। मायावती ने ट्वीट में कहा कि बीएसपी किसी भी मामले में कांग्रेस,बीजेपी और अन्य पार्टियों की तरह दोहरा मापदंड अपना कर घटिया राजनीति नहीं करतीॉ। बीएसपी की नीति पूरी तरह से साफ हैॉ।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी शुक्रवार को वाराणसी पहुंचीं थीं। तीन घंटे के काशी प्रवास के दौरान वह नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ पिछले दिनों प्रदर्शन में गिरफ्तार बीएचयू के छात्रों, चंपक के माता-पिता सहित कई कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। प्रियंका से आंदोलनकारियों की मुलाकात के लिए रामघाट पर गंगा किनारे स्थित गुलेरिया कोठी का चयन किया था, हालांकि अंतिम समय में योजना बदली और उन्होंने सभी से रामघाट पर ही मुलाकात की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: