सूचना क्रांति के प्रणेता थे राजीव गांधी: डा. मुकेश शर्मा

Font Size

गुडग़ांव।  कांग्रेस कमेटी हरियाणा के प्रदेश सचिव व वरिष्ठ अधिवक्ता डा. मुकेश शर्मा ने पूर्व प्रधानमंत्री, भारत रत्न राजीव गांधी के जन्मदिवस पर उन्हें भावपूर्ण याद करते हुए कहा कि राजीव गांधी सूचना क्रांति के प्रणेता थे। उन्होंने ही देश में सूचना क्रांति लाई। यह क्रांति आज देश के विकास में मील का पत्थर साबित हो रही है। उन्हीं की देन है कि आज हर गरीब, मजदूर, किसान यहां तक कि रिक्शा चलाने वाले व्यक्ति के पास भी मोबाइल है।

 

डा. मुकेश शर्मा ने कहा कि स्व. राजीव गांधी ने पंचायती राज का गठन कर देश के उन वंचित क्षेत्रों में विकास की रोशनी पहुंचाने का काम किया जो विकास से कोसों दूर थे। उन्होंने पंचायतों की विकास निधि सीधे तौर पर ग्राम प्रधानों और सरपंचों के खाते में भेजने का प्रावधान सुनिश्चित कराया और इसी का प्रतिफल रहा कि आज देश के पिछड़े इलाकों में सड़कों का जाल, विद्यालय, डिसपेंसरी और अन्य संसाधन उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा कि राजीव गांधी महज 40 वर्ष की अवस्था में देश के सर्वाधिक कम उम्र के प्रधानमंत्री बने। राजनीति में कोई खास रुचि नहीं थी लेकिन विषम परिस्थितियों में उन्होंने प्रधानमंत्री का पद संभाला और अपनी सूझबूझ के कारण एक लोकप्रिय प्रधानमंत्री के रुप में जाने गए। सामान्य जीवन व उच्च विचार की भावना रखने वाले राजीव गांधी का व्यक्तित्व महान था। राजीव गांधी कम उम्र में प्रधानमंत्री जरुर बने लेकिन शालीनता और सहजता के चलते वे राजनीति में सफल हुए और कुशल और लोकप्रिय प्रधानमंत्री के रुप में उन्होंने देश के विकास को एक नया आयाम देने का काम किया। राजीव गांधी ने भारत के विकास की जो नींव रखी उसका लाभ देश की जनता को मिल रहा है। समाज के युवा वर्ग को उनके बताए मार्गों का अनुसरण करना चाहिए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: