शहीद का दर्जा देने का निर्णय

Font Size
गुडग़ांव। प्रदेश सरकार ने सन् 1957 में हुए हिंदी आंदोलन के दौरान प्रताडि़त किए गए एवं जेल यातनाएं सहने वाले हरियाणा के नागरिकों द्वारा किए गए संघर्षो का सम्मान करते हुए उन्हें शहीदों का दर्जा देने का निर्णय लिया है।
जिला उपायुक्त टी एल सत्यप्रकाश ने हिंदी आंदोलन के दौरान प्रदेश के संघर्षरत नागरिकों एवं उनके उत्तराधिकारियों, परिवार के सदस्यों तथा शुभेच्छक/ शुभचिंतकों से अनुरोध किया है कि वे ऐसे व्यक्तियों की सूची जिला उपायुक्त कार्यालय में आगामी 10 दिनों में उपलब्ध करवाएं, ताकि सरकार इस बारे में बेहतर निर्णय लेकर उन्हें जल्द से जल्द शहीदों का दर्जा दे सके।
उन्होंने बताया कि इस सूची को उप-निदेशक, क्षेत्र शाखा, सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग, हरियाणा, जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी के कार्यालय में भी दे सकते है। संबंधित जानकारी के लिए ई-मेल dgiprharyana@yahoo.com पर भी भेजी जा सकती है।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: