मुख्यमंत्री मनोहर लाल व केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडक़री से की बात : समस्या का समाधान करवाया  

Font Size

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे पर चंदावली में आरयूबी का केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने गांव के बुजुर्गों से करवाया शिलान्यास

पिछले 22 दिन से आरयूबी की मांग को लेकर धरने पर बैठे गांव के बुजुर्गों से उठवाया धरना

चंडीगढ़ , 20 दिसंबर : दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे पर फरीदाबाद के बल्लभगढ़-मोहना रोड पर चंदावली गांव के पास अंडर ब्रिज की समस्या का मंगलवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल व केंद्रीय ऊर्जा एवं भारी उद्योग राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के हस्तक्षेप के बाद समाधान हो गया। अब यहां पर एक्सप्रेस वे के नीचे से आरयूबी का निर्माण किया जाएगा और यह आरयूबी दिल्ली-आगरा कैनाल पर बने पुल की चौड़ाई का ही बनाया जाएगा। केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने गांव के बुजुर्गों से नारियल तुड़वाकर आरयूबी का कार्य भी शुरू करवाया।

केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने इस अवसर पर संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे पर डिजाइन के दौरान चंदावली गांव के सामने आरयूबी का प्रावधान नहीं हो पाया था। इससे ग्रामीणों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था। करीब 20 गांव के ग्रामीणों को बल्लभगढ़ आने के लिए दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था। उन्होंने बताया कि पिछले 22 दिनों से गांव के लोगों द्वारा यह आवाज उठाई जा रही थी।

ग्रामीणों की मांग जायज थी और उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल से इस बारे में बातचीत की। इसके बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इसके लिए केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री नितिन गडक़री से बातचीत की व पत्राचार भी किया। उन्होंने कहा कि वह बतौर सांसद भी केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री से मिले। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा व स्थानीय विधायक नयनपाल रावत भी इस मुद्दे को लेकर गंभीरता से कार्य कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि अब केंद्रीय सडक़ परिवहन मंत्री ने इस समस्या के समाधान के लिए चंदावली गांव के सामने बल्लभगढ़-मोहना रोड पर रोड अंडर ब्रिज बनाने को मंजूरी दे दी है। इस अवसर पर उपायुक्त विक्रम सिंह, एसडीएम त्रिलोक चंद, भाजपा नेता टिपर चंद शर्मा के अलावा ग्रामीणों की तरफ से मूलचंद यादव, ईश्वर लांबा, कुलदीप चहल, बलजीत कादियान, राजकुमार दोगा,  बाबा रतना, पूर्ण बडगूजर दीपचंद जोधा सहित एनएचएआई के अधिकारी भी मौजूद थे।

%d bloggers like this: