शशि थरूर ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की लड़ाई में फाइनल एंट्री मारी

Font Size

नई दिल्ली : केरल से कांग्रेस पार्टी के लोकसभा सांसद  शशि थरूर ने आज कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए नामांकन फॉर्म ले लिया. यह साफ़ हो गया है कि वे अध्यक्ष पद के चुनावी दौड़ में निश्चित रूप से शामिल होंगे. कांग्रेस के G-23 नेताओं के ग्रुप के एक प्रमुख सदस्य शशि थरूर ने सबसे पहले इस पद के लिए चुनाव लड़ने की घोषणा की थी. इस पद पर गांधी परिवार का लंबे समय से कब्ज़ा रहा है. पिछले 25 वर्षों से अध्यक्ष पद या तो सोनिया गांधी या उनके बेटे राहुल गांधी के पास रहा है.

आपको बता दें कि आज से ही आधिकारिक रूप से कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू हो गई . खबर है कि कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अपने प्रतिनिधि को भेजकर मधुसूदन मिस्री से नामांकन पत्र मंगवाए हैं. शशि थरूर को 17 अक्टूबर को होने वाला अध्यक्ष का चुनाव लड़ने की अनुमति मिल गई है. उनके सामने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की कड़ी चुनौती है. गहलोत गांधी परिवार के कट्टर वफादार हैं. वे शीर्ष पद पर राहुल गांधी को लाने की तरफदारी करने वालों के बीच समर्थन जीतने की संभावना रखते हैं. मध्य प्रदेश से उनकी पार्टी के सहयोगी, कमलनाथ और मनीष तिवारी, जिन्होंने 2020 में थरूर के साथ सोनिया गांधी को पत्र लिखकर संगठनात्मक बदलाव का आह्वान किया था वे भी दौड़ में हैं.

जाहिर है यह पिछले दो दशकों में पहला चुनाव होगा. इसमें अध्यक्ष पद के लिए डिफ़ॉल्ट विकल्प के रूप में कोई गांधी नहीं होगा. राहुल गांधी, जो वर्तमान में पार्टी की “भारत जोड़ो” यात्रा का नेतृत्व कर रहे हैं, ने गहलोत सहित अपनी पार्टी के सदस्यों की अध्यक्ष के रूप में लौटने की अपील को फिर अस्वीकार कर दिया है. उन्होंने 2019 के आम चुनाव की हार के बाद अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. सोनिया गांधी, जो राहुल गांधी के कार्यभार सौंपने के पहले भी 19 साल तक कांग्रेस अध्यक्ष थीं, तब से अंतरिम कांग्रेस प्रमुख हैं.

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: