भाजपा फिर गुजरात में 2/3 बहुमत हासिल करेगी : अमित शाह

Font Size

नई दिल्ली ; केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में भाजपा एक बार फिर गुजरात में 2/3 बहुमत के साथ सत्ता में आएगी। मतदाताओं पर भरोसा जताते हुए उन्होंने कहा कि लोग झूठे वादों के बहकावे में नहीं आएंगे बल्कि भाजपा द्वारा अब तक किए गए विकास कार्यो पर अपना फैसला करेंगे।

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल की पहली वर्षगांठ के अवसर पर एक सभा को संबोधित करते हुए, शाह ने याद किया कि जब भूपेंद्र पटेल ने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी, तो लोग थोड़ा आशंकित थे, लेकिन उन्होंने सभी को गलत साबित कर दिया और सफलतापूर्वक एक वर्ष पूरा कर लिया।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल के कार्यकाल का सफलतापूर्ण एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न विकास योजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। कार्यक्रम में गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल, उनकी मंत्रिपरिषद के सदस्य और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों समेत अनेक गणमान्य व्यक्ति भी शामिल हुए।

इस अवसर पर अपने संबोधन में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आज विश्वास से विकास कार्यक्रम के अवसर पर लगभग 1180 करोड़ रुपये के 519 कार्यों का उदघाटन और लोकार्पण हुआ है जो गुजरात के विकास की कभी ना रुकने वाली यात्रा का एक महत्वपूर्ण पडाव है। गृह मंत्री ने कहा कि इसमें उनके संसदीय क्षेत्र में 170 प्रकल्पों में 346 करोड़ रुपये के लोकार्पण और शिलान्यास शामिल है। उन्होने इसके लिए गुजरात सरकार का हृदय से आभार व्यक्त किया। श्री शाह ने कहा कि आज श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में विगत 20 वर्षों में गुजरात की जनता के विश्वास और सरकार द्वारा किए गए विकास को गति देने का भी दिन है। गुजरात में पिछले 20 साल में शिक्षा, स्वास्थ्य, जल, उर्जा, कृषि, उधोग, समाज कल्याण और पर्यटन समेत हर क्षेत्र के अंदर एक आदर्श व्यवस्था बनाने का काम हुआ है। मोदीजी ने जिस परंपरा की स्थापना कि मौजूदा मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र पटेल के नेतृत्व में डबल इंजन सरकार ने उसे चरितार्थ कर दोगुनी गति से आगे बढ़ाया है और आज जमीन पर उसके परिणाम दिखाई दे रहे हैं।

 

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल के नेतृत्व में गत एक साल के अंदर गुजरात में कानून व्यवस्था, औधोगिक और कृषि विकास, रोजगार, विदेशी निवेश और खास कर प्राकृतिक खेती में जो काम हुआ है, उसने श्री पटेल के खिलाफ प्रश्न खडे करने वाले लोगो के मुँह बंद कर दिये हैं। श्री अमित शाह ने कहा कि पिछले एक साल में गुजरात ने प्रगति के हर क्षेत्र में एक नई ऊंचाई हासिल की है। गत 10 वर्षों में गुजरात की अर्थव्यवस्था ने 8.2 प्रतिशत की विकास दर हासिल की है और कोरोना काल के बावजूद श्री भूपेन्द्र पटेल ने उस विकासदर को बनाए रखा है, जो एक बहुत बड़ी सिद्धि है। गत एक वर्ष में गुजरात ने लगभग 18.14 प्रतिशत की उच्चतम उत्पादन ग्रोथ कर भारत के विकास में बहुत बडा योगदान दिया है।

 

अमित शाह ने कहा कि पिछले आठ साल में भारत में कुल 31.3 लाख करोड़ रुपये का निवेश आया, उसमें से 57 प्रतिशत यानि 17.60 लाख करोड़ रुपये का निवेश सिर्फ गुजरात में आया है। मुख्यमंत्री श्री भूपेन्द्र पटेल के नेतृत्व में गुजरात ने इस साल भी इस रिकॉर्ड को बरकरार रखा है। उन्होने कहा कि भूपेन्द्र पटेल ने आज वेदांता के साथ 1 लाख 40 हजार करोड़ रुपये का एक एग्रीमेन्ट किया है जो समग्र गुजरात को आत्मनिर्भर बनाने में एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने भारत को आत्मनिर्भर बनाने और आगे बढ़ाने के लिए जो मंत्र दिया है उसे चरितार्थ करने में आज का एमओयू एक बहुत बडी सिद्धि हासिल करने के समान है। उन्होने कहा कि 2021-22 में देश के निर्यात का 30 प्रतिशत गुजरात ने किया है और यह सबसे बडा रिकॉर्ड और पिछले एक साल की सबसे बडी उपलब्धि है।

 

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि गत एक साल के अंदर गुजरात ने सुशासन सूचकांक यानि गुड गवर्नेंस इंडेक्स भारत में सबसे पहला स्थान प्राप्त किया है। साथ ही राज्य ने 2021 में निर्यात सूचकांक में भी पहला स्थान प्राप्त किया है। 2022 में उर्जा और जलवायु सूचकांक SCCI राउंड एक में गुजरात समग्र देश में नंबर पर है। स्वास्थ्य और उधोग क्षेत्र में SBG इंडिया इंडेक्स 30 में गुजरात पहले क्रमांक पर है। हर घर जल, ग्रामीण विकास और पीएमजय जैसी फ्लेगशिप योजनाओं में नीति आयोग ने गुजरात को पूरे भारत में पहला स्थान दिया है। इन सबने साबित कर दिया है कि गुजरात गुजरात के सर्वांगीण विकास में नरेन्द्र मोदी जी ने जो परंपरा शुरु की थी, भूपेन्द्र पटेल ने उसका अनुसरण कर गुजरात को देश में सर्वप्रथम राज्य बना दिया है। अमित शाह ने इस शानदार उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल को बधाई दी।

श्री शाह ने कहा कि गांधीनगर से अहमदाबाद तक मेट्रो का काम लगभग पूरा होने वाला है। साथ ही गुजरात सरकार ने भारत सरकार के साथ मिलकर फाईव स्टार रेलवे स्टेशन के कान्सैप्ट को आगे बढाया है और 790 करोड़ रुपये के खर्च से अहमदाबाद रेलवे स्टेशन नया बनने वाला है। गृह मंत्री ने कहा कि एक जमाने में कर्फ़्यू और बंद से पीड़ित रहने वाला गुजरात आज शांति के साथ समृद्धि और विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। इतनी बडी समुद्री और जमीनी सरहद होने के बावजूद गुजरात में पिछले एक साल में एक भी आतंकी घटना ना होना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होने कहा कि गुजरात ने भारत सरकार के नारकोटिक्स अभियान को भी मजबूती दी है।

गृह मंत्री ने कहा कि 13 सितंबर का दिन भारत के इतिहास में ऐतिहासिक दिन है। आज ही के दिन गुजरात के सपूत और लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल ने हैदराबाद के भारत में विलय को रोकने के लिए हैदराबाद के निजाम ने जो रुकावटें डाली थीं उसके खिलाफ पुलिस कारवाई कर हैदराबाद के भारत में विलय की प्रक्रिया शुरु की थी। 17 सितंबर को हैदराबाद का भारत में विलय हो गया और इन चार दिनों को देश के दक्षिण भाग को भारत का अभिन्न अंग बनाने के स्वर्णकाल के रूप लिखा गया है। उन्होने कहा कि महान क्रांतिकारी जतीनदास ने अंग्रेजों की अमानवीय यातना के खिलाफ लाहौर जेल में 63 दिन की भूख हडताल के बाद आज ही के दिन अपने प्राण त्याग दिये थे। 63 दिन की इस भूख हडताल ने 1929 में समग्र भारत के युवाओं में एक नई चेतना जगाने का काम किया था और जतीनदास ने अपने प्राणों की आहुति देकर भारत के मुक्ति का आंदोलन को वेग देने का काम किया था।

हाल ही में नीति आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि गुजरात कई पहलुओं में सुशासन में नंबर एक है, चाहे वह शिक्षा, स्वास्थ्य या अन्य क्षेत्रों में हो। उन्होंने कहा कि उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए विकास कार्यो को जारी रखा।

भाजपा शासन में, राज्य ने प्रगति देखी है क्योंकि कानून और व्यवस्था लागू है, कांग्रेस के शासन के दौरान, दंगे और कर्फ्यू आम थे, विस्फोट आम थे और इसलिए गुजरात ने कभी विकास और प्रगति नहीं देखी। इससे पहले दिन में, वेदांत समूह ने गुजरात में फॉक्सकॉन सेमीकंडक्टर प्लांट में 1,54 लाख करोड़ रुपये के निवेश के लिए राज्य सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे।

Leave a Reply

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: