अब भारतीय सेना को दुश्मन के मूवमेंट की मिलेगी सटीक जानकारी, ख़ास तकनीक मिली

Font Size

नई दिल्ली : एलएसी पर चीन से चल रहे तनाव के बीच भारतीय सेना के हेलीकॉप्टर्स को एक खास तकनीक से लैस किया गया है. यह ऐसा डिवाइस है जो सीमा पर निगरानी के दौरान दुश्मन के बंकर और तोपखाने की लोकेशन से लेकर सैनिकों की मूवमेंट तक की सटीक जानकारी देगा. इसके साथ ही हर गतिविधि की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जा सकेगी.

इस छोटे से ‘डाउनलिंक इक्विपमेंट’ को एक स्वदेशी कंपनी ने तैयार किया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज इस डाउनलिंक इक्विपमेंट को भारतीय सेना को सौंपा. हालांकि भारतीय सेना की एविएशन कोर के पास ऐसे स्वदेशी हेलीकॉप्टर पहले ही से थे. इनमें इलेक्ट्रो ऑप्टिक पॉड भी लगे थे जिनसे सर्विलांस कि जा सकती थी. लेकिन ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए दुश्मन की लोकेशन का सही पता लगाने में दिक्कत थी. अब इस डिवाइस से दुश्मन की लोकेशन का पता कर रणनीति तैयार करना और ऑपरेशन के बाद दुश्मन को हुए नुकसान की सही जानकारी के लिए एक रिकॉर्डर भी उपलब्ध करवाए गए हैं.

भारतीय कंपनी, एक्सीकॉम प्राईवेट लिमिटेड ने भारतीय सेना के एएलएच-मार्क 3 ‘ध्रुव’ और एएलएच-डब्लू एसआई (‘रुद्र’) हेलीकॉप्टर्स के लिए ‘डाउनलिंक इक्विपमेंट विद रिकॉर्डिंग फैसेलिटी’ तैयार किया है. इससे सर्विलांस को दौरान डेटा को रिकॉर्ड किया जा सकता है और बेस पर लौटने पर उसको रिकवर किया जा सकता है. इसको सेना के हल्के हेलीकॉप्टर्स पर फिट किया जा रहा है.

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: