टीचर की पिटाई से हुई दलित छात्र की मौत के मामले में जाटव समाज ने जुरहरा में निकाला जुलूस

Font Size

आरोपी शिक्षक को फांसी की सजा देने की मांग करते हुए राज्यपाल के नाम नायब तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

सैकड़ों लोगों ने लिया जुलूस में लिया भाग, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

जुरहरा, रेखचन्द्र भारद्वाज: प्रदेश के जालौर जिले के सुराणा में मटके से पानी पीने के मामले में अध्यापक द्वारा छात्र की बेरहमी से पिटाई के बाद हुई मौत को लेकर राजस्थान में दलित संगठनों सहित कई अन्य संगठनों में आक्रोश की लहर है जिसके चलते पूरे प्रदेश भर में जगह-जगह उक्त घटना के विरोध में रैली व जुलूस निकालकर अपना रोष व्यक्त करते हुए आरोपी को फांसी की सजा व मृतक के परिवार वालों को सहायता राशि की मांग की जा रही है।

इसी के चलते बुधवार को कस्बे में स्थानीय जाटव समाज व अन्य लोगों की ओर से उस घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन करते हुए अपना रोष व्यक्त किया गया। सैंकड़ों की संख्या में लोग स्थानीय जाटव समाज मंदिर पर एकत्रित हुए और मृतक दलित छात्र को श्रद्धांजलि दी गई .

टीचर की पिटाई से हुई दलित छात्र की मौत के मामले में जाटव समाज ने जुरहरा में निकाला जुलूस 2इसके बाद जुलूस के रूप में कस्बे के चोपड़ा बाजार, मेन बाजार, बस स्टैंड होते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए थाने के पास पहुंचे जहां टीचर की पिटाई के बाद हुई मौत के मामले में मृतक दलित छात्र इंद्र के परिजनों को आर्थिक सहायता देने, आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर फांसी देने व मृतक के परिवार से दो लोगों को सरकारी नौकरी देने की मांग का एक ज्ञापन राज्यपाल के नाम नायब तहसीलदार जितेंद्र सिंह को सौंपा।

इस मौके पर मुख्य रूप से नेतराम चंदन, गजराज आर्य, भीम आर्मी के जिला उपाध्यक्ष योगेश सिंह, रामप्रसाद, फंटूलाल, रोशनलाल, सुंदर सिंह, रवि, प्रहलाद, शेखर, मोहित, गंगाराम, भगवान सिंह, दीपक, रोशनलाल, सोनू, योगेश कुमार, महावीर, हीरालाल कामां, बृजेश कामां, सहित काफी संख्या में अन्य लोग मौजूद रहे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: